scriptambulance driver patient assaulted in medical college hospital | अस्पताल में एंबुलेंस चालक ने की परिजन से मारपीट, बुजुर्ग मरीज को धक्का दिया, सदमे में दम तोड़ा | Patrika News

अस्पताल में एंबुलेंस चालक ने की परिजन से मारपीट, बुजुर्ग मरीज को धक्का दिया, सदमे में दम तोड़ा

हैवान बन गया एंबुलेंस चालक और वार्ड ब्वाय, पैसों के लालच में परिजन के साथ मारपीट की, बुजुर्ग महिला को धक्का लगा, दम तोड़ा...।

जबलपुर

Published: March 21, 2022 06:22:08 pm

जबलपुर। मरीजों की जान बचाने के लिए मेडिकल स्टाफ और एंबुलेंस स्टाफ के कई किस्से सुने होंगे, लेकिन कभी ऐसा भी हो सकता है जब मरीज को लेने आए एंबुलेंस चालक ने मरीज की ही हत्या कर दी।

ambul1.png

जबलपुर में ऐसा ही हृदयविदारक मामला सामने आया है। नेताजी सुभाष चंद्र बोस मेडिकल कालेज अस्पताल में यह घटना हुई है। जिसने भी सुना उसके रोंगटे खड़े हो गए। मरीज को बचाने के लिए लेने आया एंबुलेंस चालक ही हैवान बन गया और उसने बुजुर्ग महिला की जान ले ली।

दरअसल, मरीज के परिजनों ने बुजुर्ग महिला को अस्पताल ले जाने के लिए एंबुलेंस की बुकिंग की थी। लेकिन, बाद में मरीज के परिजन ने बुकिंग कैंसिल कर दी तो उससे नाराज ड्राइवर हैवान बन गया और उसने मरीज को ही बेड पर से धक्का दे दिया। लड़ाई झगड़े और धक्के का ऐसा सदमा मरीज पर पहुंचा कि उसने वहीं दम तोड़ दिया।


बताया जा रहा है कि अस्पताल से जुड़ी एम्बुलेंस के ड्राइवर और वार्ड ब्वाय ने एक मरीज के परिवार के साथ मारपीट कर दी। इस घटना में बुजुर्ग महिला की धक्का-मुक्की के दौरान मौत हो गई। मामला अब थाने पहुंच गया है और एफआइआर दर्ज कर ली गई है।

पुलिस के अनुसार नरसिंहपुर जिले के रहने वाले हेमंत सिंह अपनी नानी फूलबाई को लेकर जबलपुर के मेडिकल कॉलेज अस्पताल लेकर आए थे। उनके लिवर में इंफेक्शन हो गया था। फूलबाई को आइसीयू में एडमिट किया गया था। इलाज के बाद राहत मिली तो उन्हें जनरल वॉर्ड में शिफ्ट कर दिया गया। उसी वक्त फूलबाई के बाजू वाले पलंग पर भर्ती एक मरीज की मौत हो गई। परिवारवालों ने उनका पार्थिव शरीर ले जाने के लिए एक एंबुलेंस बुक करानी चाही, लेकिन उसने 8 हजार रुपए किराया बताया। यह रुपया अधिक होने के कारण परिवार ने फूलबाई के नाती हेमंत से मदद मांगी। हेमंत ने तत्काल ही दूसरी एम्बुलेंस चालक से बात कर 4 हजार रुपए में एंबुलेंस की व्यवस्था करवा दी।

इसी बात से एंबुलेंस का ड्राइवर गुस्सा हो गया। ड्राइवर वार्ड ब्वाय के साथ वार्ड तक पहुंच गया। दोनों हेमंत के साथ मारपीट करने लगे। मारपीट के दौरान ड्राइवर ने बीमार बुजुर्ग फूल बाई को धक्का दे दिया, जिससे उनकी नाम से खून बहने लगा और सदमें के कारण कुछ ही देर में उनकी मौत हो गई। वार्ड में मौजूद डाक्टरों ने एंबुलेंस चालक और ड्राइवर को रोकने का प्रयास किया लेकिन वे नहीं रुके, वे मारपीट करते रहे। डायल 100 को फोन करने के बाद पुलिस बल मौके पर पहुंच गया। पीड़ित पक्ष की शिकायत के बाद केस रजिस्टर्ड कर लिया गया है। खास बात यह है कि जिस समय यह घटना हुई, वहां पर सीसीटीवी कैमरे बंद थे।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

17 जनवरी 2023 तक 4 राशियों पर रहेगी 'शनि' की कृपा दृष्टि, जानें क्या मिलेगा लाभज्योतिष अनुसार घर में इस यंत्र को लगाने से व्यापार-नौकरी में जबरदस्त तरक्की मिलने की है मान्यतासूर्य-मंगल बैक-टू-बैक बदलेंगे राशि, जानें किन राशि वालों की होगी चांदी ही चांदीससुराल को स्वर्ग बनाकर रखती हैं इन 3 नाम वाली लड़कियां, मां लक्ष्मी का मानी जाती हैं रूपबंद हो गए 1, 2, 5 और 10 रुपए के सिक्के, लोग परेशान, अब क्या करें'दिलजले' के लिए अजय देवगन नहीं ये थे पहली पसंद, एक्टर ने दाढ़ी कटवाने की शर्त पर छोड़ी थी फिल्ममेष से मीन तक ये 4 राशियां होती हैं सबसे भाग्यशाली, जानें इनके बारे में खास बातेंरत्न ज्योतिष: इस लग्न या राशि के लोगों के लिए वरदान साबित होता है मोती रत्न, चमक उठती है किस्मत

बड़ी खबरें

ताजमहल के बंद 22 कमरों में क्या है, ASI ने जारी कर दी फोटोPM Modi Nepal Visit : नेपाल के बिना हमारे राम भी अधूरे हैं, नेपाल दौरे पर बोले पीएम मोदीमहबूबा मुफ्ती ने कहा इनको मस्जिद में ही मिलता है भगवानMonsoon Update 2022: अंडमान-निकोबार पहुंचा मानसून, जानिए आपके राज्य में कब होगी बारिशGyanvapi Survey: ज्ञानवापी परिसर में जहां मिला शिवलिंग उसे अदालत ने तत्काल सील करने का दिया आदेश, जानें क्या कहा DM नेजातिगत जनगणना: भाजपा के विरोध के बावजूद सीएम नीतीश कुमार बिहार में जल्द बुलाएंगे सर्वदलीय बैठकUdaipur Chintan Shivir: राजस्थान में दंगे करवाने में भाजपा के बड़े नेताओं का हाथ, 'चिंतन' के बाद बोले सीएम गहलोत7 लोगों को जिंदा जलाकर दोस्त से मैसेज पर कही थी ये बात, अब दोस्त ने कहा- इसे फांसी देना भी कम है
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.