Shivraj cabinet में शामिल हो सकते हैं ये नेता, इन मंत्री पर लटकी तलवार

deepak deewan

Publish: Sep, 17 2017 08:04:03 (IST)

Jabalpur, Madhya Pradesh, India
Shivraj cabinet  में शामिल हो सकते हैं ये नेता, इन मंत्री पर लटकी तलवार

सात घंटे चली भाजपा की बैठक के बाद महाकौशल की राजनीति गरमाई, शाह के टारगेट पर खरे नहीं 70 विधायकों में से महाकौशल के भी पौन दर्जन विधायक, अगले चुनाव मे

जबलपुर। शिवराज मंत्रीमंडल के प्रस्तावित फेरबदल की कवायद शुरु हो गई है। इसी के साथ महाकौशल क्षेत्र में सत्तारुढ़ दल की अंदरूनी राजनीति भी गरमा उठी है। शिवराज के तीसरे कार्यकाल के आखिरी विस्तार में कुछ मंत्रियों के नाम काटे जाने की अटकले हैं। दो मंत्रियों को स्वास्थ्य कारणों से और दो मंत्रियों को खराब परफॉर्मेंस की वजह से मंत्रीमंडल से बाहर किया जा सकता है। अच्छी बात यह है कि मंत्रीमंडल के प्रस्तावित विस्तार में महाकौशल का प्रतिनिधित्व बढऩे के आसार दिखाई दे रहे हैं। यह बात करीब तय मानी जा रही है कि क्षेत्र का एक और नेता शिवराज मंत्रीमंडल में शामिल होगा। इधर कुछ विधायकों के परफारमेंस से पार्टी नेता खुश नहीं हैं जिन्हें चेतावनी भी दी गई है। इनमें भी महाकौशल के अनेक विधायक शामिल हैं।

 

रामप्यारे कुलस्ते को  किया जा सकता है शामिल 

केरवा में शनिवार को दिनभर चली भाजपा की समीक्षा बैठक के बाद देर शाम सीएम हाउस पर बैठक हुई तो जबलपुर सहित पूरे महाकौशल क्षेत्र में भी चर्चा का दौर शुरु हो गया। यह कयास लगाए जा रहे हैं कि प्रदेश के मंत्री मंडल में कुछ नए चेहरों को शामिल किया जा सकता है। प्रदेश प्रभारी विनय सहस्रबुद्धे, केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, प्रदेशाध्यक्ष नंदकुमार सिंह चौहान और संगठन महामंत्री सुहास भगत ने मंत्रीमंडल विस्तार पर चर्चा की उसमें महाकौशल के प्रतिनिधित्व पर भी बात हुई। महाकौशल क्षेत्र से भाजपा नेता फग्गन सिंह कुलस्ते के भाई रामप्यारे कुलस्ते को शिवराज मंत्रीमंडल में शामिल किए जाने की चर्चा है। फग्गन सिंह कुलस्ते आदिवासियों के बडे नेता हैँ जिन्हें हाल ही में मोदी मंत्रीमंडल से बाहर किया गया है। ऐसे में उन के भाई रामप्यारे कुलस्ते को प्रदेश के मंत्रीमंडल में जगह देकर असंतोष को कुछ हद तक कम किए जाने की कोशिश की जाने की बात कही जा रही है।

एमएलए की लिस्ट में पौन दर्जन विधायक
महाकौशल के एक बड़े भाजपा नेता के अनुसार बैठक में जिन नॉन परफॉर्मर विधायकों का मुद्दा उठा उनमें क्षेत्र के पौन दर्जन से ज्यादा विधायक हैं। बताया गया है कि प्रदेशभर के ७० विधायकों की लिस्ट तैयार हुई है, जिन्हें पिछली विधायक दल की बैठक में ३ माह का समय छवि सुधारने के लिए दिया गया है। यदि विस चुनाव से पहले प्रदर्शन नहीं सुधरा तो इनकेे टिकट बदले जा सकते हैं। सूत्रों के अनुसार नरसिंहपुर जिले के दो पार्टी विधायकों के नाम भी इस लिस्ट में शामिल हैं। बैठक में चुनाव प्रबंधन, चित्रकूट-मुंगावली उप चुनाव के संबंध में चर्चा हुई।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned