हैवानियत ऐसी की डॉक्टरों की भी कांप गई रूह, शरीर पर मिले चाकू के 80 घाव

killing:हैदराबाद के बाद अब जबलपुर में हत्या से आक्रोश, दिनदहाड़े घर में घुसा पड़ोसी युवक ने 16 वर्षीय 10वीं के छात्रा की चाकू मारकर हत्या कर दी

By: santosh singh

Updated: 03 Dec 2019, 08:55 AM IST

जबलपुर। हैदराबाद में महिला डॉक्टर के साथ गैंगरेप व हत्या का आक्रोश थमा भी नहीं था कि मध्यप्रदेश के जबलपुर में से भी कुछ ऐसी ही दिल दहला देने वाली वारदात सोमवार को सामने आई। यहां 25 वर्षीय सनकी युवक ने पड़ोस में रहने वाली 16 वर्षीय 10वीं की छात्रा की बड़ी ही बेरहमी से हत्या कर दी। दिन दहाड़े छात्रा के घर में घुसकर उसने उस पर ताबड़तोड़ 80 से अधिक वार किए। छात्रा इस कातिल की दहशत में पिछले तीन महीने से जी रही थी। उसका स्कूल तक जाना छूट गया था। आरोपी पूर्व में छात्रा के साथ छेड़छाड़ कर चुका था। इस मामले में उसकी गिरफ्तारी भी हुई थी। फिर जमानत पर छूट कर निकला तो यह वारदात कर डाली।
कमरे में बंद कर चाकू से गोद डाला
गोहलपुर पुलिस ने बताया कि अमखेरा कुदवारी निवासी 16 वर्षीय छात्रा के मां-पिता खेत मजदूर हैं। दोनों सुबह काम पर चले गए थे। दोपहर तीन बजे के लगभग पड़ोस में रहने वाला शिवकुमार चौधरी घर में घुसा और छात्रा को खींचकर कमरे में ले गया। दरवाजा बंद कर उसने छात्रा पर ताबड़तोड़ चाकुओं से वार किए। छात्रा उससे बचने गिड़गिड़ाती रही।

murder_1.jpg
IMAGE CREDIT: patrika

नाटक खुला तो बताया कि छात्रा से करता था प्रेम
आरोपी शिवकुमार चौधरी इतना शातिर हैं कि उसने खुद के भी मरने का नाटक किया। छात्रा के खून से उसके कपड़े भी भीग गए थे। छात्रा के विक्टोरिया ले जाने के बाद डायल-100 से उसे भी अस्पताल पहुंचाया गया। वहां इमरजेंसी में ऑक्सीजन लगाकर चेकअप किया गया तो पूरे शरीर पर एक खरोंच तक नहीं मिली। फिर चिकित्सक ने एसपी, एएसपी की मौजूदगी में नाक में दवा डाली, तो वह उठकर बैठ गया। बताया कि छात्रा से वह प्रेम करता था। उसके घरवाले बार-बार डायल-100 को बुलवा कर उसकी शिकायत करते थे। हत्या में प्रयुक्त चाकू उसने महीने भर पहले ऑनलाइन मंगवाया था।
मेरी बेटी के कातिल को फांसी पर चढ़ा दो साहब!
बेटी की हत्या से मर्माहत पिता का विलाप सुनकर लोगों का कलेजा फटा जा रहा था। आक्रोशित पिता ने बेटी की हत्या के लिए सिस्टम को भी कसूरवार ठहराया। कहा कि ‘मेरी बेटी की जिंदगी इस दरिंदे ने जीते जी नरक बना दी थी। वह इसकी दहशत में घर के अंदर ही कैद होकर रह गई थी। पड़ोसी होने के चलते कई बार समझाया भी, लेकिन वह नहीं माना। गोहलपुर थाने में आठ से दस बार शिकायत करने गया था। जेल से छूटकर आने के बाद से वह लगातार परेशान करने लगा था। उसके परिजन भी समझौते का दबाव डालते थे। मेरी बेटी के कातिल को फांसी पर चढ़ा दो, तब मेरे दिल को सकून मिलेगा साहब!’

hatya2.jpg
IMAGE CREDIT: patrika

तीन माह से दहशत में जी रही थी छात्रा, स्कूल तक करता था पीछा
छात्रा की हत्या ने शहर की कानून व्यवस्था पर गम्भीर सवाल खड़ा कर दिया है। दिनदहाड़े घर में घुसकर छात्रा की हत्या से पूरे शहर में आक्रोश देखा जा रहा है। तीन माह से उसकी जिंदगी नरक बना रखी थी। उसका स्कूल जाना तक मुश्किल हो गया था। अक्सर घर से स्कूल के बीच वह उसका पीछा करता था। छात्रा की शिकायत पर कई बार डायल-100 और गोहलपुर पुलिस गई, लेकिन डांट-फटकार कर लौट जाती थी। यही कारण था कि आरोपी का मनोबल इतना बढ़ गया कि उसने सोमवार को दिन दहाड़े छात्रा के घर में घुसकर उसे बेरहमी से मार डाला।
जमानत मिलने से बढ़ा दुस्साहस
आरोपी शिवकुमार चौधरी दो वर्ष पहले छात्रा के पड़ोस में रहने आया था। छात्रा के साथ उसने 21 अक्टूबर को छेड़छाड़ की थी। इस शिकायत पर पुलिस ने दो दिन बाद छेड़छाड़ व पाक्सो एक्ट का प्रकरण दर्ज किया था। पुलिस ने शिवकुमार को गिरफ्तार कर जेल भेजा। सूत्रों के अनुसार वह एनीमिक टाइप-टू से पीडि़त है, जिसके चलते उसे महज चार दिन में जमानत का लाभ मिल गया। आरोपी ने घर पर ही मोबाइल की दुकान खोल रखी है।

hatya5.jpg
IMAGE CREDIT: patrika

घर की लाडली थी छात्रा
छात्रा मां-पिता की लाडली थी। पढ़ाई में भी वह काफी तेज थी। उससे छोटा पांच वर्ष का भाई है। बेटी की हत्या के घंटों बाद माता-पिता को इसकी जानकारी हो पाई। छात्रा को अस्पताल में उसके चाचा और पड़ोस में रहने वाली एक महिला लेकर पहुंचे थे। छात्रा के शरीर पर चाकू के लगभग 80 घाव देख विक्टोरिया अस्पताल की इमरजेंसी में मौजूद चिकित्सक और अन्य स्टाफ भी सिहर उठे।
इस साल बढ़े महिलाओं से जुड़े अपराध
महिलाओं और छात्राओं के साथ होने वाले छेड़छाड़ की वारदातों पर अंकुश लगाने की मंशा से शुरू की गई कोड-रेड की कार्रवाई भी प्रभावी नहीं रह गई है। इस तरह के आरोपियों के हौसले बुलंद हो रहे हैं। आंकड़ों पर भी नजर दौड़ाएं तो पिछले तीन वर्षों की तुलना में इस वर्ष सबसे अधिक महिला सम्बंधी अपराध सामने आए हैं। एक जनवरी से 15 नवम्बर के बीच 2017 में 1500, 2018 में 1600 और इस वर्ष 1700 के लगभग प्रकरण सामने आ चुके हैं।
महिलाओं से जुड़े अपराध
वारदात-2019-2018-2017
हत्या-12-19-16
हत्या के प्रयास-04-12-08
मारपीट चाकूबाजी-303-255-280
छेड़छाड़-302-349-311
अपहरण-368-298-259
बलात्कार-163-180-122
आत्महत्या के लिए मजबूर करना-22-23-19
लूट-19-46-36

 

 

Show More
santosh singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned