driving licence को लेकर परिवहन विभाग ने किया ये महत्वपूर्ण निर्णय, पुलिस भी कर रही है ये तैयारी

पुलिस प्रकरण में मोटर वीकल एक्ट भी जोड़ा जाएगा

By: deepankar roy

Published: 11 Dec 2017, 09:05 AM IST

जबलपुर। अब सड़क पर वाहन दौड़ाते समय ड्राइवर को अलर्ट रहने पड़ेगा। वे चाहकर भी कोई तिकड़म भिड़ाकर अपना ड्राइविंग लाइसेंस नहीं बचा पाएंगे। ऐसा परिवहन विभाग की नई सिफारिश से होने जा रहा है। परिवहन विभाग ड्राइविंग लाइसेंस संबंधी नियम में महत्वपूर्ण बदलाव किया है। इसके तहत यदि किसी वाहन चालक की लापरवाही से किसी की मौत हुई तो उसका ड्राइविंग लाइसेंस रद्द कर दिया जाएगा।

सड़क हादसे रोकने के प्रयास
प्रदेश में लगातार बढ़ रहे सड़क हादसों में कमी लाने के उद्देश्य से परिवहन विभाग ने हाल ही कवायद शुरू की है। विभाग ने पुलिस को पत्र लिखकर सड़क हादसों में मौत के मामलों में दर्ज किए जाने वाले प्रकरणों में मोटर वीकल एक्ट की धारा जोडऩे के लिए कहा है, जिससे आरोपित का लाइसेंस रद्द किया जा सके।

इसलिए गंभीर हो गई समस्या
सड़क पर वाहनों की संख्या बढऩे के साथ ही दुर्घटनाओं के मामले भी बढ़े है। एक रिकॉर्ड के अनुसार प्रदेश में जिले में ही प्रतिदिन औसतन ५ सड़क हादसे हो रहे है। इसमें औसतन 1 व्यक्ति की प्रतिदिन मौत हो रही है। कई दुर्घटनाओं में ड्राइवर की लापरवाही भी सामने आयी है। लेकिन लापरवाही के मामले में भी सजा का कोई कठोर प्रावधान नहीं होने से चालकों में कानून को लेकर अधिक खौफ नहीं था।

एफआईआर में उल्लेख करें
परिवहन विभाग ने पुलिस को जारी आदेश में कहा है कि सड़क दुर्घटना में किसी की मौत होने पर भादंवि की धारा 304 ए के साथ मोटर वीकल एक्ट की धारा 184 का उल्लेख भी एफआईआर में किया जाए। ऐसा करके दुर्घटना करने वाले चालकों पर कड़ी कार्रवाई का रास्ता खुल जाएगा।

अभी तक ये था प्रावधान
अभी तक सड़क हादसों में किसी की मौत होने पर पुलिस केवल 304 ए के तहत प्रकरण दर्ज करती थी। धारा 304 ए में आरोपित को अधिकतम दो वर्ष की सजा और जुर्माने का प्रावधान है। इस प्रावधान के चलते ड्राइवर की लापरवाही से सड़क दुर्घटना में किसी व्यक्ति की मौत होने पर भी वह मामूली सजा काटकर बाहर आ जाता था।

जिले में
दोपहिया वाहन 500000
चारपहिया वाहन 145000
भारी वाहन 29000

वर्ष 2016 में
कुल सड़क हादसे 3000
सड़क हादसों में मृत 374
हादसों में घायल 4500

जिले में यह है स्थिति
सड़क हादसे - 5 औसतन प्रतिदिन
सड़क हादसों में मौत - 1 औसतन प्रतिदिन
सड़क हादसों में घायल - 8 औसतन प्रतिदिन

PM Narendra Modi
Show More
deepankar roy Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned