चौंक गए स्टूडेंट...ये क्या हो गया

चौंक गए स्टूडेंट...ये क्या हो गया
student

Shyam Bihari Singh | Updated: 28 Apr 2019, 08:02:02 AM (IST) Jabalpur, Jabalpur, Madhya Pradesh, India

बीएड के लिए पहले चरण की सीटों का आवंटन घोषित

प्रथम चरण की पोजीशन
कुल सीट- 26037
आवंटित सीट-25240
कहां किसको कितनी
सामान्य- 14491
ओबीसी- 2198
एससी- 2883
एसटी- 2928
अल्पसंख्यक- 356
गैर अल्पसंख्यक- 356
अदर स्टेट सीटें
2312 सीटें अदर स्टेट
1956 सामान्य वर्ग
जबलपुर। बैचलर ऑफ एजुकेशन (बीएड) पाठ्यक्रम के प्रथम वर्ष में एडमिशन के लिए पहले चरण की सीटों का आवंटन हो गया है। खास है कि इस बार उच्च शिक्षा विभाग ने शहर के किसी भी कॉलेज में सौ फीसदी सीटों का आवंटन नहीं किया। किसी कॉलेज को 50 फीसदी सीटें आवंटित की गईं, तो किसी के हिस्से में 30 फीसदी सीटें आई हैं। जिले के बीएड कॉलेजों में करीब 2000 सीटें हैं। इनमें से मात्र 800 सीटों का आवंटन ही किया गया है। इससे कॉलेज भी हतप्रभ हैं। छात्रों को 30 अप्रैल तक प्रवेश लेना अनिवार्य होगा। उच्च शिक्षा विभाग ने मेरिट के आधार पर 26037 छात्रों को सत्यापित किया गया है जिसमें 25240 सीटें आवंटित की गई हैं।
प्रवेश परीक्षा समाप्त
उच्च शिक्षा विभाग ने प्रवेश परीक्षा की बाध्यता समाप्त कर दिया है, लगातार दूसरे वर्ष स्नातक के अंकों के आधार पर बीएड में प्रवेश दिया जा रहा है। प्रथम वर्ष में एडमिशन के लिए आवेदन की प्रक्रिया के बाद गुुरुवार को प्रथम चरण का सीट आवंटन घोषित हो गया। सीट आवंटन के आधार पर छात्र 30 अप्रैल तक फीस जमा कर एडमिशन की प्रक्रिया पूरी कर सकेंगे।
आधी सीटें ही भर पाई
प्रथम चरण में सीटों का आंवटन होने के बाद भी कॉलेजों में सौ फीसदी सीटें नहीं भर सकी हैं। जिले के करीब दो दर्जन बीएड कॉलेजों में आवंटित की गई 800 सीटों में से करीब 400 सीटों पर ही प्रवेश प्रक्रिया हो सकी है। प्रदेश में भी कमोवेश ऐसी ही स्थिति है। 25 हजार आवंटित सीटों में से करीब 12000 सीटों पर प्रवेश हुआ है। इसकी वजह समय से पहले प्रवेश प्रक्रिया आयोजित करना और फाइनल इयर का परिणाम घोषित न होना है।
तीन दिन अवकाश, परेशानी में छात्र
उच्च शिक्षा विभाग ने 30 अप्रैल तक फीस जमा करने के निर्देश दिए हैं। छात्रों की समस्या यह है कि इस दौरान तीन दिन अवकाश रहेगा। 27 को शनिवार, 28 को रविवार तो वहीं 29 को मतदान रहेगा। ऐसे में बैंक भी बंद रहने से छात्र डीडी भी नहीं बनवा सकेंगे।
छूटे छात्रों को भी मिलेगा मौका
बताया जाता है ऐसे छात्र जिन्हें प्रथम चरण में शामिल नहीं हो सके या सीट आवंटित नहीं हो पाई है, उन्हें 2 मई से शुरू होने वाली सेकेंड राउंड की काउंसलिंग में फिर से च्वाइस फिलिंग का मौका मिलेगा।

समय से पहले प्रवेश प्रक्रिया शुरू कर दी गई। प्रथम चरण में सीटों का आवंटन भी अनियमित हुआ। किसी कॉलेज को आधी सीटें तो किसी को आधी से भी कम आवंटित हुई हैं।
- डॉ. सुनील जैन, प्राचार्य वर्णी दिगम्बर बीएड कॉलेज

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned