कार्रवाई का दिन: 4 नर्सें सस्पेंड, 5 जूडा निष्कासित, तहसीलदार निलम्बित

अलग-अलग मामलों में हुई कार्रवाई, वायरल हुआ था तहसीलदार का ऑडियो

By: Premshankar Tiwari

Published: 24 Jul 2018, 11:11 PM IST

जबलपुर। सरकारी महकमे के लिए मंगलवार का दिन हलचल भरा रहा। दरअसल इस दिन एक साथ दो बड़े विभागों में कार्रवाई हुई। हड़ताल के कारण जहां मेडीकल कॉलेज में 5 जूनियर डॉक्टरों को निष्कासित कर दिया गया वहीं 4 स्टाफ नर्सों की सेवाएं तत्काल प्रभाव से समाप्त कर दी गईं। सबसे अहम चर्चा तहसीलदार मुनव्वर खान की रही। इन्हें निलम्बित कर दिया गया। उल्लेखनीय है कि मुनव्वर खान का एक वायरल ऑडियो चर्चाओं में रहा। इसमें खान एक युवक से लेन-देन की चर्चा करते सुनाई दे रहे थे। शिकायत के बाद ऑडियो के प्रकरण को जांच में लिया गया था।

तहसीलदार खान का प्रकरण
कमिश्नर आशुतोष अवस्थी ने एक राजस्व प्रकरण में की गई शिकायत की जांच में अनियमितता पाए जाने और इस प्रकरण में वायरल हुए ऑडियो में तहसीलदार द्वारा प्रकरण के निराकरण के लिए राशि की मांग के मामले में कलेक्टर के प्रतिवेदन के आधार पर तहसीलदार मुनव्वर खान को तत्काल प्रभाव से निलम्बित कर दिया। इस प्रकरण में कलेक्टर छवि भारद्वाज ने नामान्तरण हेतु प्राप्त आवेदन पत्र पर सम्बन्धित तहसीलदार द्वारा बिना विधिक प्रक्रिया का पालन किए तथा विधिवत सुनवाई एवं अन्य जरूरी प्रक्रियाओं को दरकिनार करते हुए प्रकरण का निराकरण कर आदेश पारित किए जाने का उल्लेख अपने प्रतिवेदन में किया है। कमिश्नर अवस्थी ने तहसीलदार कोतवाली मुनव्वर खान के उपरोक्त कृत्य को मध्यप्रदेश सिविल सेवा (आचरण) नियम 1965 के नियम - 3 का उल्लंघन मानते हुए मध्यप्रदेश सिविल सेवा (वर्गीकरण, नियंत्रण एवं अपील) नियम 1966 के नियम - 9 के प्रावधानों के तहत उनके निलम्बन की कार्यवाही की है। निलम्बन अवधि में उनका मुख्यालय कलेक्टर कार्यालय छिंदवाड़ा नियत किया गया है।

चार स्टॉफ नर्सेस की सेवाएं समाप्त
मध्य प्रदेश अत्यावश्यक सेवा संधारण तथा विछिन्नता निवारण अधिनियम (एस्मा) के तहत कार्यवाही करते हुए हड़ताल समाप्त नहीं करने वाली नेताजी सुभाषचन्द्र बोस मेडिकल चिकित्सालय एवं कॉलेज जबलपुर में कार्यरत चार स्टॉफ नर्सेस की सेवायें तत्काल प्रभाव से समाप्त कर दी गई हैं। मेडिकल कॉलेज के अधिष्ठाता द्वारा दी गईजानकारी के मुताबिक नर्सेस एसोसिएशन की जिलाध्यक्ष और स्टॉफ नर्स लक्ष्मी झारिया, वरिष्ठ उपाध्यक्ष नर्सेस एसोसिएशन एवं स्टॉफ नर्स मंजू त्रिपाठी, स्टॉफ नर्स एवं सचिव सुनीला ईशादीन और स्टॉफ नर्स एवं कोषाध्यक्ष वसंती नेताम की सेवा समाप्त कर दी गई हैं। इन सभी स्टॉफ नर्सेस की बर्खास्तगी एस्मा लागू होने के बाद भी अनिश्चितकालीन हड़ताल समाप्त नहीं करने के कारण की गई है ।

5 जूनियर डॉक्टर निष्कासित
नेताजी सुभाषचन्द्र बोस मेडिकल कॉलेज जबलपुर में कार्यरत पांच जूनियर डॉक्टरों को आगामी आदेश तक के लिए निष्कासित कर दिया गया है। मेडिकल कॉलेज के अधिष्ठाता द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक जूनियर डॉक्टर के अध्यक्ष डॉ. अमरेन्द्र वर्मा, सचिव डॉ. मयंक केशरवानी, डॉ. अम्बर मित्तल, डॉ. तरूण सिंह तथा डॉ. पीयूष वार्षणे को निष्कासित किया गया है । यह आदेश तत्काल प्रभावशील हो गया है । अधिष्ठाता ने बताया कि पी.जी. जूनियर डॉक्टर्स को हड़ताल समाप्त कर कार्य पर लौटने की सूचना दिए जाने के बाद भी तय समय-सीमा में कार्य पर उपस्थित नहीं होने के कारण निष्कासित कर दिया गया है ।

Premshankar Tiwari Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned