संक्रमण से भी बचे, खूब काम भी करते रहे

जबलपुर में 50 फीसदी अधिकारी-कर्मचारी घर से कर रहे जीएसटी रिटर्न-टैक्स की मॉनिटरिंग

By: shyam bihari

Published: 22 May 2020, 09:52 PM IST

जबलपुर। कोरोना संकट के बावजूद वाणिज्यिक कर विभाग में करदाताओं की जीएसटी रिटर्न और टैक्स की मॉनीटरिंग प्रभावित नहीं हुई। कार्यालय में अधिकारी, इंस्पेक्टर सहित लगभग 240 कर्मचारी हैं। काम प्रभावित न हो इसलिए आधे से ज्यादा अधिकारी और इंस्पेक्टर घर से ही कर सम्बंधी काम कर रहे हैं। अधिकारियों का कहना है कि इसका उन्हें लाभ भी मिला। वे कोरोना के संक्रमण से बचे रहे। वाणिज्यिक कर विभाग का काम करदाताओं से स्टेट, सेंट्रल जीएसटी का रिटर्न और टैक्स भरवाना और उच्च विभाग के साथ सरकार को नियमित रिपोर्ट देना है। प्रदेश में पहला कोरोना पॉजिटिव केस मार्च माह में जबलपुर में सामने आया था। इसलिए यहां सबसे पहले लॉकडाउन लागू हुआ। सभी सरकारी और निजी दफ्तर बंद कर दिए गए। अत्यावश्यक सेवाओं में लगे अधिकारी-कर्मचारियों को ही कार्यालय बुलाया जा रहा था। वाणिज्यक कर विभाग में भी यही स्थिति थी।

विभाग के पास 20 हजार डीलर्स हैं, जो जीएसटी में रजिस्टर्ड हैं। इनके नियमित रिटर्न और टैक्स पर नजर रखना विभाग का पहला काम है। मार्च और अप्रैल में अधिकारी-कर्मचारियों ने घर से काम किया। इस माह अधिकारी कार्यालय आ रहे हैं, लेकिन कर्मचारियों की संख्या 33-40 फीसदी है।
ये है स्थिति
- 70 से अधिक अधिकारी विभाग में
- 160 से ज्यादा हर वर्ग के कर्मचारी
- 50 प्रतिशत अधिकारी आ रहे प्रतिदिन
- 33-40 प्रतिशत कर्मचारी भी आ रहे
ये हुआ फायदा
- बिजली बिल में कमी
- टैक्स, रिटर्न पर नजर
- बकाया टैक्स भी जमा कराया
- कोरोना के संक्रमण से बचाव।
- परिजन के साथ बिताया लम्बा समय
संयुक्त आयुक्त, राज्य कर नारायण मिश्रा ने बताया कि कोरोना संक्रमण के बीच रिटर्न और टैक्स सम्बंधी कामों को प्रभावित नहीं होने दिया। अधिकारी और स्टाफ को घर से ही वर्क फ्रॉम होम के तहत लक्ष्य दिए गए। इसके सकारात्मक परिणाम भी सामने आए। मैंने भी वर्क फ्रॉम होम काम किया।

shyam bihari Desk
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned