scriptax evasion of Rs 976 crore caught, CGST Commissioner's office | 40 संस्थानों की तलाश, पकड़ी 976 करोड़ रुपए की टैक्स चोरी | Patrika News

40 संस्थानों की तलाश, पकड़ी 976 करोड़ रुपए की टैक्स चोरी

वस्तु एवं सेवाकर की चोरी करने वालों पर जबलपुर में सेंट्रल जीएसटी आयुक्तालय ने बड़ी कार्रवाई की है। सालभर में करीब 102 प्रकरण दर्ज कर उसमें 976 करोड़ रुपए से ज्यादा की चोरी पकड़ी है। एक सफलता यह भी हासिल की है कि संस्थान ने वित्तीय वर्ष 2021-22 में मिले वार्षिक लक्ष्य से करीब 374 करोड़ रुपए ज्यादा सीजीएसटी का संग्रहण किया है। वित्तीय वर्ष की अंतिम तिमाही के आंकडे़ भी उत्साहजनक हैं। इसी प्रकार करदाताओं की संख्या में भी पहले की तुलना में वृदि्ध हुई है।

जबलपुर

Published: April 06, 2022 12:19:58 pm

जबलपुर@ज्ञानी रजक. जीएसटी का संग्रहण लगातार बढ़ा है। जबलपुर सेंट्रल जीएसटी आयुक्तालय के अंतर्गत तकरीबन 18 जिले हैं। इनमें कर संग्रहण की दर में बढ़ोत्तरी हुई है। जहां वर्ष 2020-21 में 7 हजार 624 करोड़ रुपए का कर संग्रहण हुआ था तो वित्तीय वर्ष 2021-22 में कर संग्रहण 8 हजार 445 करोड़ रुपए से ज्यादा हासिल हुआ है। इस बीच चोरी पकड़ने में भी टीम सक्रिय रहीं। कर अपवंचन में लिप्त इकाइयों के खिलाफ भी संस्थान के द्वारा कार्रवाई की गई। विभाग ने वित्तीय वर्ष में 40 से अधिक परिसरों की तलाशी में करोड़ों रुपए की कर चोरी पकड़ी। इसमें रेत की रॉयल्टी को लेकर कार्रवाई भी शामिल है।

The Central GST Commissionerate in Jabalpur
Jabalpur. The collection of GST has increased continuously. There are about 18 districts under Jabalpur Central GST Commissionerate. There has been an increase in the rate of tax collection.

वार्षिक लक्ष्य से ज्यादा संग्रहणआयुक्त कार्यालय के अनुसार वित्तीय वर्ष 2021-22 के लिए तय किए गए जीएसटी राजस्व लक्ष्य 8 हजार 71 करोड़ रुपए की तुलना में 8 हजार 445 करोड़ रुपए का कर संग्रहण किया गया है। यह लक्ष्य से ज्यादा है। वित्तीय वर्ष 2021-22 के दौरान जीएसटी राजस्व संग्रहण वित्तीय वर्ष 2020-21 के दौरान किए गए जीएसटी राजस्व संग्रहण से 820 करोड़ रुपए यानि करीब 10.76 प्रतिशत अधिक है। इसी प्रकार 2019-20 दौरान किए गए जीएसटी कर संग्रहण से 522 करोड़ भी ज्यादा है।

फैक्ट फाइल

- 8445 करोड़ से ज्यादा कर संग्रहण 2022 में।

- 7624 करोड़ से ज्यादा कर मिला था 2021 में।

- 102 प्रकरण बनाए गए हैं कर चोरी को लेकर।

तिमाही के आंकड़ों में भी बढ़ोत्तरी

तिमाही आंकड़ों में भी विभाग ने सफलता हासिल की है। प्राप्त जानकारी के अनुसार वित्तीय वर्ष 2021-22की अंतिम तिमाही (जनवरी-मार्च 2022) में जीएसटी 2 हजार 277 करोड़ रुपए से ज्यादा था तो इससे पहले वित्तीय वर्ष 2020-21 की अंतिम तिमाही (जनवरी-मार्च 2021) में यह आकड़ा 2 हजार 183 करोड़ से 93.23 करोड़ रुपए अधिक है।

ऐसा रहा मासिक कर संग्रहण

माह--2020-21----2021-22

अप्रेल 69.9 877.85

मई 480.5 609.75

जून 1015 .73 660.18

जुलाई 676.48 662.46

अगस्त 571.99 630.21

सितंबर 597.73 604.72

अक्टूबर 657.62 637.42

नवंबर 678.38 793.01

दिसंबर 691.96 692.24

जनवरी 686.96 744.77

फरवरी 785.04 766.18

मार्च 711.91 766.19

40 संस्थानों की तलाश, पकड़ी 976 करोड़ रुपए की टैक्स चोरीवित्तीय वर्ष के दौरान लक्ष्य हासिल करने में करदाताओं का सहयोग सराहनीय रहा है। कर संग्रहण के लिए सतत करदाता जागरुकता अभियान चलाया गया। इसी प्रकार करदाता सुविधा केंद्र खोलने का परिणाम भी बेहतर रहा है। हम करदाताओं को इस बात के लिए प्रोत्साहित करते हैं कि वे समय पर रिटर्न जमा करें ताकि ब्याज और विलंब शुल्क से बचा जा सके।
दिनेश पांगरकर, आयुक्त केंद्रीय जीएसटी आयुक्तालय

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

नुपूर शर्मा को सुप्रीम कोर्ट की फटकार, कहा- आपके बयान के चलते हुई उदयपुर जैसी घटना, पूरे देश से टीवी पर मांगे माफीउदयपुर घटना की जिम्मेदार, टीवी पर माफी, सस्ता प्रचार...10 बिंदुओं में जानें Nupur Sharma को Supreme Court ने क्या-क्या कहा?Maharashtra Politics: शिंदे गुट को सुप्रीम कोर्ट से बड़ी राहत, शिवसेना की अर्जी पर फ्लोर टेस्ट पर रोक लगाने से किया इनकारMumbai Rains: मुंबई में भारी बारिश के चलते जनजीवन पर असर, कई इलाकों में भरा पानी; IMD ने जारी किया ऑरेंज अलर्टहैदराबाद में आज से शुरू हो रही BJP की कार्यकारिणी बैठक, प्रधानमंत्री मोदी कल होगें शामिल, जानिए क्या है बैठक का मुख्य एजेंडाआज से प्रॉपर्टी टैक्स, होम लोन सहित कई अन्य नियमों में हुए बदलाव, जानिए आपके जेब में क्या पड़ेगा असरकेंद्रीय मंत्री आर के सिंह का बड़ा बयान, सिर काटने वाले आतंकियों के खिलाफ बनेगा UAPA की तरह सख्त कानून!LPG Price 1 July: एलपीजी सिलेंडर हुआ सस्ता, आज से 198 रुपए कम हो गए दाम
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.