scriptAyurveda College Graduation, minimum standard of education changed | अब 4 की जगह 3 बार होगी परीक्षा, मिनिमम स्टैंडर्ड ऑफ एजुकेशन में बदलाव, पढ़ें पूरी खबर | Patrika News

अब 4 की जगह 3 बार होगी परीक्षा, मिनिमम स्टैंडर्ड ऑफ एजुकेशन में बदलाव, पढ़ें पूरी खबर

अब 4 की जगह 3 बार होगी परीक्षा, मिनिमम स्टैंडर्ड ऑफ एजुकेशन में बदलाव, पढ़ें पूरी खबर

 

जबलपुर

Published: February 18, 2022 01:27:51 pm

जबलपुर। आयुर्वेद कॉलेज में स्नातक स्तर पर छात्र-छात्राओं को नए सत्र से चार के बजाय तीन बार ही परीक्षा प्रक्रिया से गुजरना होगा। नेशनल कमीशन फॉर इंडियन सिस्टम ऑफ मेडिसिन ने मिनिमम स्टैंडर्ड ऑफ एजुकेशन में बदलाव किया है। इससे नए सत्र से बीएएमएस में चार वर्ष की जगह तीन प्रोफे(व्यावसायिक) होंगे। तीसरा प्रोफ फायनल ईयर होगा। जानकारी के अनुसार प्रोफेशनल (प्रोफ) व्यवस्था में पाठ्यक्रम की अवधि में परिवर्तन नहीं होगा। साढ़े चार वर्ष की पढ़ाई के बाद पहले की तरह ही 12 महीने की इंटर्नशिप करनी होगी। नए नियम के तहत अध्यापकों का वेतनमान भी तय किया गया है। बीएएमएस में अभी तक प्रथम, द्वितीय, तृतीय और चतुर्थ (अंतिम) वर्ष होता था। प्रत्येक वर्ष की परीक्षा होती थी। पहले तीन वर्ष की परीक्षा प्रति वर्ष और अंतिम वर्ष की परीक्षा डेढ़ वर्ष में होती थी। नई व्यवस्था में पहला, दूसरा और तीसर ा (अंतिम) प्रोफ, प्रत्येक 18-18 माह का होगा। प्रत्येक प्रोफ में एक बार परीक्षा होगी। इसलिए पाठ्यक्रम की अवधि साढ़े चार वर्ष रहेगी, लेकिन परीक्षा तीन बार ही होगी।

Ayurveda College Graduation
Ayurveda College Graduation

छात्रों को सुविधा और फायदा
विशेषज्ञों के अनुसार प्रोफ सिस्टम में पाठ्यक्रम को तीन समान में भाग में बांटकर समय भी बराबर दिया गया है। अभी पहले वर्ष में ही समय कम मिलने से पाठ्यक्रम की पढ़ाई के लिए छात्र-छात्राओं को पूरा समय नहीं मिलता था। फिर परीक्षा और रिजल्ट में देर से पाठ्यक्रम पिछड़ता था। नई व्यवस्था में बराबर समय मिलने से पढऩे-पढ़ाने के पूरे अवसर के साथ डिग्री भी समय पर मिलेगी।

ras and subordinate service 2021Mains exam

320 दिन प्रत्येक प्रोफ में कुल कार्यदिवस होंगे।
1920 कुल घंटे फस्र्ट प्रोफ में शिक्षण के लिए।
2240-घंटे दूसरे व तीसरे प्रोफे में शिक्षण।
15 दिन का प्रस्तावना कार्यक्रम पहले प्रोफ में होगा।

नया वेतनमान प्रतिमाह
असिसटेंट प्रोफेसर : 56100-177500 रुपए
एसोसिएट प्रोफेसर : 78800-209200 रुपए
प्रोफेसर : 123100-215900 रुपए


बीएएमएस में अब 18-18 माह के तीन प्रोफ और 12 महीने की इंटर्नशिप होगी। इसके सम्बंध में भारतीय चिकित्सा पद्धति राष्ट्रीय आयोग ने 16 फरवरी को गजट नोटिफिकेशन जारी कर दिया है। इसमें अध्यापकों के वेतनमान का भी उल्लेख है।
- डॉ. राकेश पांडेय, राष्ट्रीय प्रवक्ता, आयुष मेडिकल एसोसिएशन

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

यहाँ बचपन से बच्ची को पाल-पोसकर बड़ा करता है पिता, जैसे हुई जवान बन जाता है पतियूपी में घर बनवाना हुआ आसान, सस्ती हुई सीमेंट, स्टील के दाम भी धड़ामName Astrology: पिता के लिए भाग्यशाली होती हैं इन नाम की लड़कियां, कहलाती हैं 'पापा की परी'इन 4 राशियों के लड़के अपनी लाइफ पार्टनर को रखते हैं बेहद खुश, Best Husband होते हैं साबितजून में इन 4 राशि वालों के करियर को मिलेगी नई दिशा, प्रमोशन और तरक्की के जबरदस्त आसारमस्तमौला होते हैं इन 4 बर्थ डेट वाले लोग, खुलकर जीते हैं अपनी जिंदगी, धन की नहीं होती कमी1119 किलोमीटर लंबी 13 सड़कों पर पर्सनल कारों का नहीं लगेगा टोल टैक्ससंयुक्त राष्ट्र की चेतावनी: दुनिया के पास बचा सिर्फ 70 दिन का गेहूं, भारत पर दुनिया की नजर

बड़ी खबरें

आंध्र प्रदेश में जिले का नाम बदलने पर हिंसा, मंत्री का घर जलाया, कई घायलपंजाब के पूर्व स्वास्थ्य मंत्री के OSD प्रदीप कुमार भी हुए गिरफ्तार, 27 मई तक पुलिस रिमांड में विजय सिंगलारिलीज से पहले 1 जून को गृहमंत्री अमित शाह देखेंगे अक्षय कुमार की 'पृथ्वीराज', जानिए किस वजह से रखी जा रहीं स्पेशल स्क्रीनिंगGujrat कांग्रेस के वरिष्ठ नेता का विवादित बयान, बोले- मंदिर की ईंटों पर कुत्ते करते हैं पेशाबIPL 2022, Qualifier 1 RR vs GT: मिलर के तूफान में उड़ा राजस्थान, गुजरात ने पहले ही सीजन में फाइनल में बनाई जगहRajya Sabha Election 2022: राजस्थान से मुस्लिम-आदिवासी नेता को उतार सकती है कांग्रेस'तुम्हारे कदम से मेरी आँखों में आँसू आ गए', सिंगला के खिलाफ भगवंत मान के एक्शन पर बोले केजरीवालसमलैंगिकता पर बोले CM नीतीश कुमार- 'लड़का-लड़का शादी कर लेंगे तो कोई पैदा कैसे होगा'
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.