bank strike त्योहार के पहले बैंक बंद, एटीएम भी हुए खाली- देखें वीडियो

21 राष्ट्रीयकृत बैंकों के कर्मचारी करेंगे प्रदर्शन, सरकार की नीति का विरोध जबलपुर

By: Lalit kostha

Published: 22 Aug 2017, 12:51 PM IST

जबलपुर। त्योहार ऐन वक्त पर बैंकों में ताला लटकने से लोग परेशान हो रहे हैं। वहीं एटीएम में भी पैसों की किल्लत हो गई है। जिससे बाजार में प्रभाव पड़ा है। मंगलवार को जारी शासकीय बैंक कर्मचारियों की हड़ताल के चलते जहां आम लोग परेशान हो रहे हैं। वहीं व्यापारियों को भी नुकसान उठाना पड़ रहा है। जबकि सैकड़ों लोग बैंक पहुंचकर निराश होकर लौट रहे हैं।

ganesh chaturthi घर ला रहे हैं ऐसे गणेश जी तो बनेंगे पाप के भागीदार, जानें इसका रहस्य 

यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियन के आह्वान पर की जा रही हड़ताल में जिले के बैंकों की सभी शाखाओं के ५ हजार से ज्यादा कर्मचारी भी शामिल हुए हैं। हड़ताल को देखते हुए बैंक प्रबंधन ने इंतजाम करने शुरू कर दिए थे लेकिन वे नाकाफी साबित हुए। हालांकि नकदी संबंधी कोई परेशानी नहीं आए इसके लिए जिले में सभी बैंकों के ३०० से ज्यादा एटीएम में नकदी भर दी थी, फिर कुछ एटीएम खाली हो चुके हैं।


बैंक कर्मचारी जन विरोधी बैंक सुधार, सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों एवं क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों का निजीकरण, कारपोरेट बैंड लोन (एनपीए) की माफी एवं बैंक शुल्क में वृद्धि का विरोध कर रहे हैं। फोरम के संयोजक श्रीवर्धन नेमा ने बताया कि सरकार बैंकिंग व्यवस्था को तहस-नहस करना चाहती है। बैंक ही हैं जो सरकार की नीतियों को पारदर्शी और सही ढंग से जनता तक लाभ पहुंचाते हैं। इसके बाद भी बैंकों के प्रति गलत रवैया अपनाया जा रहा है। उनका कहना है कि सरकार से प्रतिनिधिमंडल अपनी मांगों के संबंध में कई बार बातचीत कर चुका है। फिर भी सरकार नरम रवैया नहीं अपना रही है। इसलिए बैंक कर्मचारी हड़ताल कर रहे हैं।

गणेश चतुर्थी 2017- घर में ऐसे बनाएं मोदक, प्रसन्न होंगे मंगलमूर्ति 
यह हैं कर्मचारियों की मांग-
बैड लोन (एनपीए) वसूली में संसदीय समिति की अनुशंसा लागू हो।
- बैंकों के बैड लोन की वापिसी के लिए कड़ी कार्रवाई हो।
-प्रस्तावित एफआरडीआर्इा बिल को सरकार वापिस ले।
-सभी संवर्गों में उचित नियुक्ति जल्द की जाए।
- कर्मियों से संबंधित मुद्दों का निष्पादन त्वरित गति से हो।
- बैंक बोर्ड ब्यूरो को समाप्त किया जाना चाहिए।

Lalit kostha Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned