बाजार में बेचने के लिए चुराई सुंदर बच्ची, सीसीटीवी में कैद हुई वारदात

बाजार में बेचने के लिए चुराई सुंदर बच्ची, सीसीटीवी में कैद हुई वारदात

By: Lalit kostha

Published: 04 Aug 2018, 02:48 PM IST

जबलपुर. जिला अदालत ने जबलपुर मुख्य रेलवे स्टेशन से दिनदहाड़े ढाई साल की बच्ची को बेचने के इरादे से अगवा करने वाले और उसकी सहयोगी महिला को अपहरण के अपराध का दोषी ठहराया है। रेलवे के विशेष न्यायाधीश कपिल सोनी की अदालत ने मुख्य आरोपी युवक को तीन साल व सहयोग देने वाली महिला को दो साल सश्रम कारावास की सजा सुनाई। कोर्ट ने दोनों पर दो-दो हजार रुपए जुर्माना भी लगाया।

news fact-

मुख्य अपराधी को तीन साल और महिला सहयोगी को दो साल की सजा
रेलवे स्टेशन से ढाई साल की बच्ची चुराने वालों को जेल
बेचने क ी साजिश नाकाम होने पर कटनी स्टेशन पर छोड़ गए थे बच्ची


सीसीटीवी फुटेज से हुई पहचान
अभियोजन के अनुसार 26 जून 2016 को जीआरपी थाने में एक महिला ने रिपोर्ट दर्ज कराई। उसने बताया कि वह ट्रेनों में गुटखा और अन्य खाद्य सामग्री बेचती है। दोपहर 12.30 बजे वह अपनी दो बच्चियों को लेकर प्लेटफॉर्म क्रमांक-तीन के बाथरूम गई थी। उसकी ढाई साल की तीसरी बच्ची प्लेटफॉर्म पर सो रही थी। वह लौटक र आई तो उसे बच्ची नहीं मिली। सीसीटीवी फुटेज में एक युवक को बच्ची लेकर जाते हुए देखा गया । 10 जुलाई 2016 को बच्ची कटनी प्लेटफॉर्म पर मिली। पहचान के बाद उसे उसकी मां को सौंप दिया गया।


सागर जीआरपी ने दूसरे मामले में पकड़ा-

20 मार्च 2017 को सागर जीआरपी ने एक अन्य मामले में आरोपितों पिंडरई, थाना ढीमरखेड़ा जिला कटनी निवासी 31 वर्षीय कृष्ण कुमार पटेल व डुंगरिया थाना सिहोरा जिला जबलपुर निवासी सुनीता उर्फ संगीता कुम्हार को गिरफ्तार किया। पूछताछ में दोनों ने जबलपुर प्लेटफॉर्म से बच्ची चुराना स्वीकार किया। उन्होंने बताया, बच्ची को आरोपित कृष्ण कुमार ने सुनीता के घर रखा, जहां उसे देखने के लिए कई खरीदार आए, लेकिन सौदा नहीं हो सका। राज खुल जाने के डर से दोनों ने बच्ची को कटनी प्लेटफॉर्म पर छोड़ दिया। सूचना पर जबलपुर जीआरपी आरोपितों को वहां से लेकर आई। कृष्ण कुमार के खिलाफ भादंवि की धारा 366 व सुनीता के खिलाफ 368 का प्रकरण दर्ज किया गया। अंतिम सुनवाई के बाद कोर्ट ने आरोपितों को दोषसिद्ध करार दिया।

Lalit kostha Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned