वैशाख के महीने में भगवान शिव को प्रसन्न करने के लिए करें ये काम

वैशाख के महीने में भगवान शिव को प्रसन्न करने के लिए करें ये काम

By: abhishek dixit

Published: 18 Apr 2020, 09:09 AM IST

जबलपुर. धार्मिक दृष्टि से पवित्र माह बैसाख में लोग आस्था के साथ भगवान शिव की साधना कर रहे हैं। भगवान शिव के मंदिरों में शिवलिंग पर जल धारा अर्पित की जा रही है। लॉकडाउन में अनुष्ठान करने में गतिरोध उत्पन्न हुआ तो यजमानों और ज्योतिर्विदों ने बीच का रास्ता निकाला। अब ऑनलाइन मंत्रोच्चार के माध्यम से अनुष्ठान किए जा रहे हैं। यजमान और ज्योतिर्विद अपने-अपने घर में रहते हुए भी विधिवत अनुष्ठान कर रहे हैं।

ज्योतिर्विद जनार्दन शुक्ला के अनुसार सनातन पंचांग के अनुसार श्रावण, माघ, बैसाख, कार्तिक माह का धार्मिक महत्व है। बैसाख में की गई उपासना से भगवान शिव प्रसन्न होते हैं। 9 अप्रैल को बैसाख का कृष्ण पक्ष प्रारम्भ हो गया है। मंदिरों में लोगों को प्रवेश नहीं मिला, लेकिन लोग घरों में बनाए गए छोटे शिवालयों में मटकी में जल भरकर जलधारा अर्पित कर रहे हैं। परिस्थिति के कारण ऑनलाइन पूजा की शुरुआत हुई है। कुछ लोग प्रत्येक वर्ष बैसाख में शिवार्चन, रुद्राभिषेक, कथा, हवन पूजन कराते हैं। ऐसे लोगों के लिए यह तरीका बेहतर है।

लाइव मंत्रोच्चार से कराया अनुष्ठान
लाइव मंत्रोच्चार के माध्यम से अनुष्ठान के प्रयोग शुरू किए गए हैं। आचार्य डॉ. सत्येंद्र स्वरूप शास्त्री के अनुसार बैसाख में बीते सोमवार को उन्होंने लाइव मंत्रोच्चार करके एक यजमान के घर का रुद्राभिषेक पूर्ण कराया। धारा लगाने और संकल्प के बाद यजमान को ऊं नम: शिवाय का जप कर रहे थे और लाइव मंत्रोच्चार जारी रहा। पूजन-अर्चन भी विधि पूर्वक लाइव किया गया। यजमान ने घर में रहते हुए अनुष्ठान पूर्ण किया। ज्योतिषाचार्य देवेंद्र पाठक ने एक यजमान को सत्य नारायण व्रत कथा सुनाई।

Show More
abhishek dixit Desk
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned