आयुष विभाग का बड़ा फैसला, अब प्रत्येक आयुष कॉलेज को खोलने होंगे 20 हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर

आयुष विभाग का बड़ा फैसला, अब प्रत्येक आयुष कॉलेज को खोलने होंगे 20 हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर
AYUSH,Ayush Department,medical college jabalpur,ayushman bharat scheme,Ayushman Bharat health scheme,Ayushman Bharat Yojana,

Abhishek Dixit | Publish: Jun, 17 2019 09:09:09 AM (IST) Jabalpur, Jabalpur, Madhya Pradesh, India

आयुष विभाग का निर्णय, मरीजों को मुफ्त इलाज और दवाएं होंगी सुलभ

जबलपुर. आयुष्मान भारत योजना के पहले चरण में गरीबों को उपचार के लिए पांच लाख रुपए तक की योजना से जोड़े जाने के बाद दूसरे चरण में हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर खोलने की तैयारी शुरू हो गई है। यहां मरीजों को मुफ्त उपचार के साथ ही नि:शुल्क दवाएं मिलेंगी। सरकार ने पांच साल में बारह हजार से अधिक हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर खोलने का लक्ष्य रखा है। इसे पूरा करने के लिए केंद्रीय आयुष विभाग ने प्रत्येक आयुष कॉलेज से जुड़कर 20 हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर खोलने का निर्णय किया है।

12 तरह की सुविधाएं
सेंटर में मैटरनल हेल्थ और डिलीवरी की सुविधा, नवजात और बच्चों के स्वास्थ्य, किशोर स्वास्थ्य सुविधा, कॉन्ट्रासेप्टिव सुविधा और संक्रामक, गैर संक्रामक रोगों के प्रबंधन की सुविधा, आंख, नाक, कान व गले से सम्बंधित बीमारियों का इलाज होगा।

फैक्ट
- 12 हजार पांच हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर्स पांच वर्ष में शुरू होंगे।
- 25 सौ सेंटर्स अगले एक माह के अंदर शुरू करने का लक्ष्य है।
- 15 लाख रुपए के लगभग एक सेंटर को तैयार करने का खर्च है।

अपडेट होंगे पीएचसी
योजना के अनुसार प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र को अपडेट किया जाएगा। इलाज के साथ जांच की भी सुविधा भी होगी। भविष्य में जिला अस्पताल में मरीज को जो दवा लिखी जाएगी, वह मरीज को अपने घर के पास के हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर में उपलब्ध होगी।

बीपी, शुगर का चैकअप
हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर्स में बुजुर्गों के उपचार के लिए अलग यूनिट का प्रस्ताव है। हेल्थ वेलनेस सेंटर में ब्लड प्रेशर, डायबिटिज और कैंसर जैसी बीमारियों का भी चेक-अप कराया जा सकेगा। गम्भीर बीमारियों का लक्षण पता चलने के बाद मरीज को बड़े अस्पताल में रेफर कर दिया जाएगा।

आयुष्मान भारत योजना में सरकार ने एक आयुष कॉलेज से जुड़कर पंद्रह से बीस हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर शुरू करने का निर्णय किया है। आयुर्वेद (आयुष) को जोड़े जाने से आयुष पैथी का लाभ शहर से गांव तक पहुंचेगा।
डॉ. राकेश पांडेय, राष्ट्रीय प्रवक्ता, आयुष मेडिकल एसोसिएशन

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned