scriptBig manipulation of death figures from Corona in jabalpur | कोरोना से मौतों के आंकड़ों बड़ा हेरफेर, जिला प्रशासन का दावा 675, विस में बताईं 768 मौतें | Patrika News

कोरोना से मौतों के आंकड़ों बड़ा हेरफेर, जिला प्रशासन का दावा 675, विस में बताईं 768 मौतें

सरकारी आंकड़ों में अंतर

जबलपुर

Published: August 14, 2021 08:02:50 pm

जबलपुर . जिले में कोरोना से मौत के आंकड़ों की बाजीगिरी सरकारी दस्तावेजों में ही उलझ गई है। जिला प्रशासन की ओर से प्रतिदिन जारी की जाने वाली रिपोर्ट की माने तो जिले में अभी तक कोरोना से 675 व्यक्तियों की मौत हुई है। लेकिन विधानसभा में हाल में पूछे गए सवाल के जवाब में कोरोना से 768 व्यक्तियों की मौत की जानकारी दी गई है। ये जवाब स्वयं स्वास्थ्य मंत्री प्रभुराम चौधरी की ओर से प्रस्तुत किया गया है। जिसमें बताया गया है कि 768 व्यक्तियों की मौत सरकारी और निजी अस्पतालों में हुई है। दो अलग-अलग सरकारी रिपोर्ट में कोरोना पीडि़तों के मौत के आंकड़ों के अंतर से जिला का स्वास्थ्य विभाग और प्रशासन संदेह के घेरे में आ गया है। सरकारी आंकड़ों में ही जिले में कोरोना मृतकों की संख्या में 93 मौत का अंतर है।
दो महीने से छिपा रहे कुल आंकड़ा
जिला प्रशासन की ओर से प्रतिदिन जारी किए जाने वाले कोविड बुलेटिन में कोरोना से कुल मौत का आंकड़ा रहता था। लेकिन दो महीने से कुल मौत का कॉलम बंद कर दिया गया था। इसका आंकड़ा छिपाया जा रहा था। आखिरी बार 18 जून को 654 कुल मौत दर्शाने के बाद ये कॉलम बंद है। जबकि 19 जून से 14 जुलाई के बीच 21 मौत कोरोना के रेकॉर्ड में शामिल की गई। इसे मिलाकर जिले के बुलेटिन के अनुसार अभी तक कुल 675 मौतें कोरोना से हुईं हैं।
डेढ़ हजार से ज्यादा मौतों का अनुमान
Big manipulation of death figures from Corona
Big manipulation of death figures from Corona
जिले में कोरोना की दस्तक मार्च 2020 में हुई थी। संक्रमण से पहली मौत पिछले वर्ष 20 जून को हुई थी। उसके बाद पहली लहर में मौतों का सिलसिला बढ़ा था। इस साल की कोरोना की दूसरी लहर के दौरान पीडि़तों की ज्यादा संख्या में मौत हुई थी। तब श्मशान में जगह कम पड़ी रही थी। एक अनुमान के मुताबिक मार्च, 2020 से जुलाई, 2021 के बीच जिले में डेढ़ हजार से ज्यादा कोरोना पीडि़तों की मौत हुई है।
डेथ ऑडिट से भी बदल गए आंकड़ें
कोरोना मरीजों के डेथ ऑडिट के फेर में भी आंकड़ों में गड़बड़ की आशंका पनप रही है। सूत्रों के अनुसार स्वास्थ्य विभाग डेथ ऑडिट के ऑडिट के बाद ही कोरोना से मौत रेकॉर्ड करता है। कई गंभीर कोरोना संक्रमित उच्च मधुमेह सहित अन्य बीमारी से पीडि़त थे। इनकी कोरोना पॉजिटिव आने के बाद मौत हुई। इनमें कई मौतों की वजह अन्य बीमारियों को मान लिया गया। कुछ मरीजों की कोविड वार्ड से डिस्चार्ज के बाद अगले ही दिन मौत हो गई। कुछ मरीजों को बाहर का बता दिया गया। इससे भी कोरोना से मृत सही आंकड़ें को लेकर असंमस बना हुआ है।
इसलिए भी गड़बड़ की आशंका
डेथ ऑडिट की वजह से कोरोना से मौत के आंकड़े रेकॉर्ड में वास्तवित मौत के कई-कई दिन बाद तक दर्ज किए गए। इस प्रक्रिया में कई बार ऐसी स्थिति भी बनी कि जब श्मशान में कोविड प्रोटोकॉल से कोई अंतिम संस्कार नहीं हुए तो रेकॉर्ड में मौत दर्ज हुई। जब श्मशान में चिताओं की कतार लगी तो सरकारी रेकॉर्ड में 4-6 मौतें ही दर्ज हुई। जिले के बुलेटिन में 14 जुलाई के बाद कोरोना से कोई मौत दर्ज नहीं की गई है। जबकि इसी बीच रांझी की एक महिला की मौत हुई। उसे स्वास्थ्य विभाग ने ही कोविड पॉजिटिव बताया। कुछ पॉजिटिव की घर में ही उपचार के दौरान मौत भी हुई है।
वर्जन
डेथ ऑडिट के आधार पर कोरोना से मौत तय की गई है। वहीं जिले की रिपोर्ट में बताई गई है। कई दिनों से कोरोना से कोई मौत नहीं हुई है।
डॉ. रत्नेश कुररिया, सीएमएचओ

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Cash Limit in Bank: बैंक में ज्यादा पैसा रखें या नहीं, जानिए क्या हो सकती है दिक्कततत्काल पैसों की जरुरत है? तो जानिए वो 25 बैंक जो दे रहे हैं सबसे सस्ता Personal LoanNew Maruti Alto का इंटीरियर होगा बेहद ख़ास, एडवांस फीचर्स और शानदार माइलेज के साथ होगी लॉन्चVIDEO: राजस्थान में 24 घंटे के भीतर बारिश का दौर शुरू, शनिवार को 16 जिलों में बारिश, 5 में ओलावृष्टिश्री गणेश से जुड़ा उपाय : जो बनाता है धन लाभ का योग! बस ये एक कार्य करेगा आपकी रुकावटें दूर और दिलाएगा सफलता!प्रदेश में कल से छाएगा घना कोहरा और शीतलहर-जारी हुआ येलो अलर्टइन 4 राशि की लड़कियां अपने पति की किस्मत जगाने वाली मानी जाती हैंToyoto Innova से लेकर Maruti Brezza तक, CNG अवतार में आ रही है ये 7 मशहूर गाड़ियां, जानिए कब होंगी लॉन्च

बड़ी खबरें

Assembly Election 2022: चुनाव आयोग का फैसला, रैली-रोड शो पर जारी रहेगी पाबंदीगोवा में बीजेपी को एक और झटका, पूर्व सीएम लक्ष्मीकांत पारसेकर ने भी दिया इस्तीफाUP चुनाव में PM Modi से क्यों नाराज़ हो रहे हैं बिहार मुख्यमंत्री नितीश कुमारसुरक्षा एजेंसियों की भुज में बड़ी कार्यवाही, 18 लाख के नकली नोटों के साथ डेढ़ किलो सोने के बिस्किट किए बरामदUP Assembly Elections 2022 : टिकट कटा तो बदली निष्ठा, कोई खोल रहा अपने नेता की पोल तो कोई दे रहा मरने की धमकीAssembly Election 2022: मोबाइल में डाउनलोड करना चाहते हैं Voter iD Card, स्टेप बाय स्टेप फॉलो ये प्रोसेसCorona Update: कोरोना की बेकाबू रफ्तार के बीच राहत की खबर, हर दिन 5 हजार से अधिक मरीज हो रहे ठीकUP Election 2022 : कोविड अस्पताल के निरीक्षण के बहाने सीएम योगी ने भाजपा नेताओं को दिया जीत का मंत्र
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.