ऑक्सीजन को लेकर बड़ी खबर, जबलपुर में लिक्विड की कमी से फिर हो सकता है संकट

ऑक्सीजन को लेकर बड़ी खबर, जबलपुर में लिक्विड की कमी से फिर हो सकता है संकट

By: Lalit kostha

Published: 16 Apr 2021, 02:00 PM IST

जबलपुर। जिले में बुधवार से गहराए ऑक्सीजन संकट से गुरुवार दोपहर बाद तक कुछ राहत मिल गई है। धीरे-धीरे ऑक्सीजन की आपूर्ति बहाल हो रही है। रिछाई स्थित दोनों प्लांट से लिक्तिड ऑक्सीजन की आपूर्ति शुरू हो गई है, लेकिन संकट अभी टला नहीं है। ऑक्सीजन की आपूर्ति बहाल रखने के लिए लिक्विड की आपूर्ति भी लगातार जारी रखना होगा। गुरुवार को आदित्य एयर प्रोडक्ड प्राइवेट लिमिटेड का लिक्विड प्लांट के साथ ही जेनिम इंडस्ट्रीज प्राइवेट लिमिटेड का प्लांट भी चालू हो गया है। लेकिन, इन दोनों ही प्लांट में लिक्तिड की उपलब्धता कल तक की बताई जा रही है। उधर, ऑक्सीजन की खपत बढऩे से निजी अस्पतालों में बुरे हाल रहे। कुछ निजी अस्पतालों ने तो ऑक्सीजन उपलब्ध नहीं होने का हवाला देते हुए मरीजों को मेडिकल सहित अन्य अस्पतालों में स्थानंतरित कर दिए हैं।

अस्पतालों में ऑक्सीजन के बिना मरीजों की टूटती सांसों के कारण् बुधवार की दोपहर से ही हाहाकार मचा रहा। ऑक्सीजन किल्लत के बीत रातभर प्रशासनिक अमला रिछाई स्थित लिक्विड प्लांट में डटा था। ऑक्सीजन सिलेंडर के लिए अस्पतालों के वाहन लगातार प्लांट पर पहुंच रहे थे। नागपुर से सुबह पहुंचे इंजीनियर ने लिक्विड प्लांट के पम्प में आई खराबी को दुरुस्त किया। इसके बाद आदित्य एयर प्रोडक्ड प्राइवेट लिमिटेड का लिक्विड प्लांट सुबह छह बजे चालू हुआ। जेनिम इंडस्ट्रीज प्राइवेट लिमिटेड का प्लांट भी चालू हो गया है। 20 केएल का लिक्विड टैंकर उपलब्ध होने पर दोनों निर्माताओं ने आपस में उसे साझा किया। इसके साथ ही एयर सेप्रेशन प्लांट से भी ऑक्सीजन सिलेंडर भरे जा रहे हैं।

 

530 oxygen cylinders are used daily in Bhilwara

दो-दो सिलेंडर दिए गए
ऑक्सीजन संकट के बीच स्थिति यह रही कि यहां जिला अस्पताल के साथ ही निजी अस्पतालों के भी प्रतिनिधि ऑक्सीजन की उपलब्धता के लिए डटे रहे। रात के समय हालत यह थी कि जिस अस्पताल से 50 ऑक्सीजन सिलेंडर की ऑवश्यकता थी वहां पांच से दस सिलेंडर डिप्टी कलेक्टर अनुराग तिवारी, एसडीएम नम:शिवाय अरजरिया, जिला उद्योग एवं व्यापार केन्द्र के महाप्रबंधक देवव्रत मिश्रा, तहसीलदार मौजूद थे।

आदित्य एयर प्रोडक्ड प्राइवेट लिमिटेड का लिक्विड प्लांट के पंप में सुधार का काम पूरा होने के बाद चालू हो गया है। जेनिम प्लांट भी चालू हो गया है। दोनों प्लांट से चौबीस घंटे में 1-1 हजार सिलेंडर भरे जा सकते हैं। इसके अलावा एयर सेप्रेशन प्लांट से भी 7 सौ सिलेंडर भरे जा सकते हैं। फिलहाल ऑक्सीजन की कमी दूर हो गई है। लिक्विड टैंकर की उपलब्धता बनी रहे तो आपूर्ति की समस्या नहीं होगी।
- देवव्रत मिश्रा, महाप्रबंधक, जिला उद्योग व व्यापार केंद्र

Show More
Lalit kostha Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned