बड़ी खबर: जबलपुर में अब जियो टैगिंग से होगा लोकेशन का निर्धारण

बड़ी खबर: जबलपुर में अब जियो टैगिंग से होगा लोकेशन का निर्धारण

By: Lalit kostha

Updated: 13 Oct 2021, 12:06 PM IST

जबलपुर। जिले में कलेक्टर गाइडलाइन की लोकेशन की टैगिंग का काम शुरू हो गया है। इसमें सभी लोकशन की सीमाएं तय की जा रही हैं। अभी ग्रामीण क्षेत्र में काम शुरू हुआ है। इसके बाद शहरी क्षेत्र को कवर किया जाएगा। सेटेलाइट मैप की मदद से सभी खसरों पर लोकेशन के आधार पर टैगिंग की जा रही है। टैगिंग के बाद उप पंजीयक जब भी किसी जगह की रजिस्ट्री करेंगे तो उन्हें लोकेशन का ऑनलाइन नक्शा और खसरा नजर आने लगेगा। जियो टैगिंग के लिए नवंबर तक की समय सीमा तय की गई है।

4 हजार लोकेशन तय
पंजीयन विभाग ने जबलपुर में शहरी और ग्रामीण खेत्र में करीब 4 हजार लोकेशन का निर्धारण किया गया है। अभी ग्रामीण क्षेत्रों में स्थित लोकेशन की टैगिंग की जा रही है। टैगिंग के बाद रजिस्ट्री वाली जगह की सटीक जानकारी उप पंजीयक को मिल सकेगी। इससे रजिस्ट्री करना पहले से ज्यादा आसान होगा।

हर लोकेशन की दरें तय
कलेक्टर गाइडलाइन के तहत जितनी भी लोकेशन तय की गई हैं, वहां रजिस्ट्री की दरें तय हैं। वर्तमान में भी रजिस्ट्री के समय खसरा की जानकारी प्रदर्शित होती है, लेकिन अब यह ऑनलाइन होगी। इस काम में प्रदेश शासन का मैप आइटी विभाग तकनीकी सहयोग दे रहा है। पंजीयन कार्यालयों में अधिकारी नक्शा लेकर लोकेशन पर जियो टैङ्क्षगग कर रहे हैं।

जिले में कलेक्टर गाइड लाइन की लोकेशन की जियो टैगिंग की जा रही है। विभाग की ओर से नवंबर तक टैगिंग करने का लक्ष्य तय किया गया है।
- प्रभाकर चतुर्वेदी, वरिष्ठ जिला पंजीयक

Lalit kostha Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned