election 2018 : पनागर में यादव बहुओं की दावेदारी, भाजपा कांग्रेस को अनदेखी पड़ सकती है भारी

election 2018 : पनागर में यादव बहुओं की दावेदारी, भाजपा कांग्रेस को अनदेखी पड़ सकती है भारी

Lalit Kumar Kosta | Publish: Sep, 08 2018 10:57:07 AM (IST) Jabalpur, Madhya Pradesh, India

पनागर में यादव बहुओं की दावेदारी, भाजपा कांग्रेस को अनदेखी पड़ सकती है भारी

जबलपुर। पनागर विधानसभा में शहरी और ग्रामीण मतदाताओं का गठजोड़ है। यह बड़ा विधानसभा क्षेत्र है। फिलहाल सुनियोजित विकास का इंतजार है। सडक़ों का जाल बिछने का दावा होता रहा है। लेकिन, कस्बे में भी जाम के हालात हमेशा बने रहते हैं। यहां जिस तरह से समीकरण बदल रहे हैं, उससे इस बार का चुनाव दोनों ही पार्टियों के लिए चुनौती देने वाला होगा। एक ओर जहां वर्तमान विधायक के प्रति पटेलों का आक्रोश है तो वहीं कांग्रेस में गुटबाजी और पूर्व अनुभवों के आधार पर असंतोष की लहर है। ऐसे में दोनों ही पार्टियों में दो यादव बहुओं की दावेदारी सबसे ज्यादा चर्चा का विषय बनी हुई है। ये बहुएं पनागर में दशकों से सक्रिय हैं। वे जनपद स्तर पर चुनाव जीत चुकी हैं। ऐसे में इनकी दावेदारी को नकारा नहीं जा सकेगा।

पनागर: बाजार में जाम, शराब की तस्करी
पनागर विधानसभा में विकास कार्य हुए हैं, लेकिन यहां हर तरह की समस्याएं हैं। पनागर में मुख्य बाजार अव्यवस्थित है। बरेला क्षेत्र में नर्मदा जल नहीं पहुंचा। स्टेडियम का निर्माण अधूरा है। महाविद्यालय की नींव हाल में रखी गई। स्वास्थ्य के क्षेत्र में बेहतर कार्य नहीं हुए। शराब की तस्करी बढ़ी है।

2013 चुनाव का हाल
सुशील तिवारी भाजपा- 82358
रूपेंद्र पटेल कांग्रेस- 54404
ये नाम हैं चर्चा में
भाजपा-
सुशील तिवारी - वर्तमान विधायक हैं। क्षेत्र में खासा प्रभाव और सक्रिय हैं।
नरेंद्र त्रिपाठी - पूर्व विधायक प्रदेश कार्य समिति में हैं।
भारत सिंह यादव - पूर्व जिपं अध्यक्ष, ग्रामीण क्षेत्र में अच्छी पकड़।
रजनी यादव - भाजपा प्रदेश कार्यकारिणी में शामिल, पूर्व जनपद अध्यक्ष।
कांग्रेस-
राजेश पटेल - पूर्व में जिला पंचायत अध्यक्ष रहे हैं, क्षेत्र में सक्रियता ज्यादा।
सत्येंद्र यादव - सेवादल के ग्रामीण संगठक रहे हैं। किसान नेताओं से सम्पर्क।
राधेश्याम चौबे- कांग्रेस के ग्रामीण अध्यक्ष हैं।
वीरेंद्र चौबे- पेशे से बिल्डर, पार्टी में सक्रियता बरकरार।

ये भी ठोक रहे ताल
संतोष सैनी - भाजपा जिला उपाध्यक्ष, क्षेत्र में सक्रिय।
शिव पटेल - भारतीय जनता पार्टी के पूर्व ग्रामीण अध्यक्ष
विनीता यादव- महिला कांग्रेस में लगातार सक्रियता।
सम्मति सैनी - पेशे से वकील, कांग्रेस से ग्रामीण क्षेत्र में सक्रिय।

जातिगत समीकरण
ब्राह्मण, पटेल व यादव मतदाता ज्यादा हैं। अन्य
वर्ग के मतदाताओं की भी पर्याप्त संख्या है। यह सामन्य सीट है।

चुनौतियां
पार्टी में गुटबाजी के साथ ही अन्य दावेदार सक्रिय।
पार्टी में टिकट के दावेदर ज्यादा हैं हर तरह के समीकरण बनाना बड़ी जिम्मेदारी।

विधायक की परफॉर्मेंस
85 प्रतिशत सडक़ निर्माण का दावा। दो पावर स्टेशन, बरेला जलाशय को बरगी नहर से जोडऩा, पांच बड़े पुल और लगभग 19 सामुदायिक भवनों का निर्माण।

नर्मदा से रेत के अवैध उत्खनन पर रोक लगना चाहिए। रेत माफिया लगातार नर्मदा का सीना छलनी कर रहा है। इससे पर्यावरण को तो नुकसान पहुंच ही रहा है, गर्मी के दिनों में जल स्तर तेजी से गिरने लगा है।
-धनीराम गोंटिया, पनागर विधानसभा

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned