लोकसभा में सांसद राकेश सिंह ने संभाला मोर्चा तो भौंचक रह गए धुर विरोधी

सांसद राकेश सिंह ने संभाला मोर्चा

By: deepak deewan

Updated: 20 Jul 2018, 01:13 PM IST

जबलपुर . संसद के मॉनसून सत्र के तीसरे दिन लोकसभा में मोदी सरकार के खिलाफ पहले अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा शुरु हुई। बाद में इसपर वोटिंग कराई जाएगी. बुधवार को टीडीपी सांसद की ओर से लाए गए अविश्वास प्रस्ताव को लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन ने मंजूर किया था, जिसके बाद उस पर चर्चा के लिए शुक्रवार का दिन तय हुआ था.


टीडीपी सांसद जयदेव गल्ला ने प्रस्ताव पर चर्चा की शुरुआत करते हुए कहा कि यह अविश्वास प्रस्ताव 4 कारणों से लाया गया है. इसमें विश्वास की कमी, भेदभाव, विश्वास की कमी, प्राथमिकता की कमी की वजह से मोदी सरकार के खिलाफ यह प्रस्ताव लाया गया है. उन्होंने आंध्र की 5 करोड़ जनता के साथ धोखा करने का आरोप लगाया। गल्ला ने पीएम मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि आंध्र के साथ किए गए वादों को पूरा नहीं किया गया। उन्होंने कहा कि पीएम भ्रष्टाचार के खिलाफ जीरो टॉलरेंस की बात करते हैं लेकिन कर्नाटक चुनाव में जनार्दन रेड्डी और उनके लोगों को टिकट क्यों दिया गया.

जबलपुर के सांसद राकेश सिंह ने संभाला मोर्चा
गल्ला के बाद बीजेपी की ओर से जबलपुर के सांसद राकेश सिंह ने मोर्चा संभाला। दोपहर 12.09 बजे स्पीकर ने सांसद राकेश सिंह को बोलने के लिए कहा। अविश्वास प्रस्ताव के खिलाफ बोलते हुए राकेश सिंह ने कहा कि किसी एक राज्य की मांग के सामने पूरे देश के हितों के बलिदान नहीं किया जा सकता. उन्होंने कहा कि कांग्रेस का शीर्ष नेतृत्व बेल पर केंद्रीय मंत्री जेल पर थे. कांग्रेस ने देश को दागदार सरकार दी है जबकि पीएम मोदी के नेतृत्व में देश में साफ-सुथरी सरकार मिली है. देश में गरीबों का कल्याण हो रहा है और 2022 तक हर गरीब को छत मिलने का ऐलान पीएम की ओर से किया गया है.
राकेश सिंह ने कहा कि कांग्रेस ने घोटालों की सरकार दी जिससे भारत का सिर दुनिया के सामने झुका है. उन्होंने कहा कि 70 साल में गरीबी हटाओ के नारे लगे लेकिन देश की गरीब जनता को मुख्यधारा से हटना पड़ा. राकेश ने कहा कि कांग्रेस के ऐसे हुनर का पालन किसी भी दल को नहीं करना चाहिए. राकेश सिंह ने कहा कि टू जी, कोल, कॉमनवेल्थ, अगस्ता जैसे घोटाले इनके कार्यकाल में हुए.


शापित हो गई कांग्रेस
बीजेपी सांसद राकेश सिंह ने प्रस्ताव के खिलाफ बोलते हुए कहा कि कांग्रेस के साथ जाकर टीडीपी शापित हो गई है वह क्या बीजेपी को श्राप देगी. उन्होंने कहा कि कर्नाटक में कांग्रेस के साथ देकर कुमारस्वामी आंसू बहा रहे हैं और अब इस प्रस्ताव का साथ देकर भी कई दलों को रोना पड़ेगा.

deepak deewan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned