scriptBoom in electronics market: Business can be 300 crores in mp | इलेक्ट्रॉनिक्स बाजार में बूम : 300 करोड़ से अधिक का हो सकता है कारोबार | Patrika News

इलेक्ट्रॉनिक्स बाजार में बूम : 300 करोड़ से अधिक का हो सकता है कारोबार

एसी, फ्रिज, एलइडी, माइक्रोवेव ओवन और इंडक्शन में खरीदारी
इलेक्ट्रॉनिक्स खरीदारी में बूम, कारोबार में 40% का उछाल
प्रदेश में ग्राहकों को लुभाने मिल रही आकर्षक छूट

जबलपुर

Published: April 30, 2022 10:17:40 am

जबलपुर। अक्षय तृतीया 3 मई को है। सहालग के इस अबूझ मुहूर्त के लिए बाजार भी सजकर तैयार हैं और खरीदार भी। इस शुभ मुहूर्त में इलेक्ट्रॉनिक्स, गैजेट््स और पारम्परिक बर्तनों की जमकर खरीदी होगी। कारोबारियों की मानें तो अक्षय तृतीया के शुभ मौके पर प्रदेश में 300 करोड़ और अकेले जबलपुर में करीब 25 करोड़ का कारोबार होने की उम्मीद है। कोरोना संक्रमण काल के बाद इस बार व्यापार में 40 प्रतिशत तक उछाल देखने को मिल सकता है। इसके चलते सभी व्यापारियों ने पहले से माल का भरपूर स्टॉक किया हुआ है। व्यापारियों के मुताबिक एक शादी में इलेक्ट्रॉनिक्स पर कम से कम 10 प्रतिशत खर्च किया जाता है। इसमें एलइडी टीवी, वॉङ्क्षशग मशीन और रेफ्रिजरेटर्स सबसे प्राथमिक आइटम हैं। इसके साथ ही इलेक्ट्रॉनिक्स बाजार में एयरकंडीशनर, माइक्रोवेव, इंडक्शन, जैसे उपकरणों की खासी डिमांड है। ग्राहक खरीदारी के लिए आकर्षित हों इसके लिए कई तरह की छूट और प्रोडक्ट पर दो से पांच साल की वारंटी भी दी जा रही है।

Boom in electronics
Boom in electronic
market.jpg

ग्राहकों को ऑफर्स

ग्राहक की ओर से खरीदे गए आइटम की होम डिलीवरी की सुविधा देना।
ग्राहक को प्रोडक्ट ऑपरेट की डिजिटल जानकारी देना।
हर आइटम की खरीदारी पर गिफ्ट और कैशबैक देना।
खरीदारी पर जीरो फीसदी डाउन पेमेट सुविधा देना।
खरीदारी पर 10त्न तक दे रहे छूट।

जबलपुर में 25 करोड़ के कारोबार की उम्मीद

ब्याज मुक्त किश्तों में खरीदारी
क्रेडिट कार्ड और बैंक ऑफर्स की बदौलत इलेक्टॉनिक्स आइटम की खरीदारी में ग्राहकों को आसानी हो रही है। यदि जेब में एक मुश्त रकम नहीं है, तो किस्तों में मोबाइल, टीवी, रेफ्रिजरेटर, वॉङ्क्षशग मशीन, माइक्रोवेव समेत अन्य सामान खरीद सकते हैं। खास बात ये है कि विभिन्न इलेक्टॉनिक्स सामान उपभोक्ता ब्याज मुक्त किस्तों पर भी खरीद सकते हैं।

market_01.jpg

बर्तन भले ही महंगे, पर शादी की खरीदारी में कमी नहीं
त्योहारों के साथ-साथ शादी-विवाह के मौके पर बर्तनों की खरीदारी जरूरी मानी जाती है। साल भर में बर्तन बाजार में बर्तनों के दामों में भले ही 50 फीसदी का इजाफा हो गया हो लेकिन फिर भी शादी की खरीदारी में कोई कमी नहीं है। ग्वालियर बर्तन व्यवसायी संघ के सचिव विनोद गिडवानी ने बताया कि शादी-ब्याह में बर्तन भेंट करने का हमारे यहां शुरू से चलन रहा है। दो साल बाद खरीदी में उछाल बना है। इसके चलते इन दिनों में बर्तनों की पूछ-परख खासी बढ़ जाती है। शहर में चेन्नई, अहमदाबाद, मुंबई, दिल्ली आदि जगहों से बर्तन आते हैं। कोरोना काल में तांबे-पीतल के बर्तनों का चलन बढ़ा था, इसी को देखकर अब भी लोग इनकी डिमांड कर रहे हैं। बाकी परंपरागत बर्तनों की भी काफी मांग है। बाजार में वैवाहिक सीजन को देखते हुए ग्राहकों को आकर्षित करने के लिए नए गिफ्ट आइटम भी लाए हैं।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

नाम ज्योतिष: ससुराल वालों के लिए बेहद लकी साबित होती हैं इन अक्षर के नाम वाली लड़कियांभारतीय WWE स्टार Veer Mahaan मार खाने के बाद बौखलाए, कहा- 'शेर क्या करेगा किसी को नहीं पता'ज्योतिष अनुसार रोज सुबह इन 5 कार्यों को करने से धन की देवी मां लक्ष्मी होती हैं प्रसन्नइन राशि वालों पर देवी-देवताओं की मानी जाती है विशेष कृपा, भाग्य का भरपूर मिलता है साथअगर ठान लें तो धन कुबेर बन सकते हैं इन नाम के लोग, जानें क्या कहती है ज्योतिषIron and steel market: लोहा इस्पात बाजार में फिर से गिरावट शुरू5 बल्लेबाज जिन्होंने इंटरनेशनल क्रिकेट में 1 ओवर में 6 चौके जड़ेनोट गिनने में लगीं कई मशीनें..नोट ढ़ोते-ढ़ोते छूटे पुलिस के पसीने, जानिए कहां मिला नोटों का ढेर

बड़ी खबरें

ज्ञानवापी मस्जिद केसः सुप्रीम कोर्ट का सुझाव, मामला जिला जज के पास भेजा जाए, सभी पक्षों के हित सुरक्षित रखे जाएंHyderabad Encounter Case: सुप्रीम कोर्ट के जांच आयोग ने हैदराबाद एनकाउंटर को बताया फर्जी, पुलिसकर्मी दोषी करारकांग्रेस के चिंतन शिविर को प्रशांत किशोर ने बताया फेल, कहा- कुछ हासिल नहीं होगाउड़ान भरते ही बीच हवा में बंद हो गया Air India प्लेन का इंजन, पायलट को करानी पड़ी इमरजेंसी लैंडिंगBJP राष्ट्रीय पदाधिकारी बैठक: PM नरेंद्र मोदी ने दिया 'जीत का मंत्र', जानें प्रधानमंत्री के संबोधन की बड़ी बातेंबिहार में बारिश व वज्रपात से 37 लोगों की मौत, जानिए बिहार में क्यों गिरती है इतनी आकाशीय बिजली?Pegasus Spyware Case: सुप्रीम कोर्ट ने जांच समिति का कार्यकाल 4 हफ्ते बढ़ाया, अब जुलाई में होगी सुनवाईबताओ सरकार : होटल वाले कैसे कर लेते हैं बाघ दिखाने का प्रबंध, High Court का सवाल
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.