मोर्चे पर धनुष तोप, कर रही दनादन फायर

मौके पर जीसीएफ के कई विशेषज्ञ मौजूद, 155 एमएम गन के बैकअप साइट में दनादन फायर  

जबलपुर। जीसीएफ में बनी 155 एमएम गन 'धनुषÓ पोखरण में दनादन फायरिंग कर रही है। विशेषज्ञों की टीम देशी बोफोर्स तोप के नाम से विख्यात इस गन  के    बैकअप साइट का परीक्षण कर रही है। दुश्मन के कैम्प में 38 किलोमीटर तक गोला दागने में सक्षम यह तोप पूरी तरह से कम्प्यूटर से नियंत्रित की जाती है। तोप के डिजिटल साइट में गड़बड़ी होने पर उसे मैनुअली भी चलाया जा सकता है। तोप के मैनुअल संचालन में दक्षता लाने के लिए ही नियमित रूप से परीक्षण किया जा रहा है। युद्ध के दौरान तोप का कम्प्यूटराइज्ड सिस्टम खराब होने पर उसका मैनुअली उपयोग किया जा सकता है।
पहले भी हुआ परीक्षण
देशी बोफोर्स तोप का पहले भी पोखरण में परीक्षण हो चुका है। पहले कम्प्यूटराइज्ड सिस्टम का परीक्षण किया गया था, जो पूरी तरह सफल रहा। अब मैनुअल सिस्टम  का परीक्षण भी सफल होने की उम्मीद है।
सेना की ताकत बनेगी धनुष
तोप के बेड़े में धनुष के शामिल होने पर सेना की ताकत और बढ़ जाएगी। रक्षा विशेषज्ञों के  अनुसार लंबी दूरी की मारक क्षमता वाली इस तरह की तोप युद्ध के वक्त दुश्मनों को मात देने में उपयोगी होती है। सूत्रों के अनुसार जीसीएफ फै क्ट्री के अलावा देश की कई और फै क्ट्रियों के विशेषज्ञ टेस्टिंग रेंज में मौजूद हैं। ये परीक्षण के दौरान हर गतिविधि पर बारीकी से नजर रख रहे हैं।
Show More
जबलपुर ऑनलाइन
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned