scriptBranding of green peas of Jabalpur,Horticulture,Food Processing | देश-विदेश तक जबलपुर के मटर की ब्रॉन्डिंग | Patrika News

देश-विदेश तक जबलपुर के मटर की ब्रॉन्डिंग

‘एक जिला-एक उत्पाद’ के तहत मिलेगी नई पहचान, थैले पर लगेगा लोगो

 

जबलपुर

Updated: October 26, 2021 11:37:44 am

जबलपुर@ज्ञानी रजक. जिले के हरे मटर की ब्रॉन्डिंग के लिए उद्यानिकी एवं खाद्य प्रसंस्करण विभाग रजिस्टे्रशन करवा रहा है। ‘जबलपुरी मटर’ के नाम से इसका लोगो भी तैयार किया गया है, जो यहां से सप्लाई होने वाली मटर के बैग पर लगाया जाएगा। जल्द ही इसे तैयार कर उन व्यापारियों को दिया जाएगा, जो किसानों से मटर की खरीदी कर उसे देश के विभिन्न हिस्सों में भेजते हैं। अब इसकी एक पहचान होगी। जिले में हर साल करीब 30 हजार हेक्टेयर रकबे में मटर की खेती होती है। दो लाख 40 हजार मीट्रिक टन से ज्यादा का उत्पादन एवं 400 करोड़ का कारोबार होता है।
peas
The Horticulture and Food Processing Department is getting the registration done for the branding of green peas in the district. Its logo has also been prepared in the name of 'Jabalpuri Matar', which will be put on the bags of peas supplied from here.
हरे मटर की व्यापक पैमाने पर पैदावार जबलपुर जिले की कुछ तहसील क्षेत्रों में होती है। इसकी बिक्री देश के कई राज्यों में होती है, लेकिन इसकी कोई पहचान नहीं रहती। यह बोरियों में पैक होकर शहर से बाहर चली जाती है। वहां से मंडियों में पहुंचकर बाजारों में जाती है। इसलिए नई पहचान दिलाने के लिए कवायद की जा रही है।
मां नर्मदा के नाम से अपील

आत्म निर्भर मध्यप्रदेश के तहत एक जिला एक उत्पाद के तहत हरे मटर का चयन जिला प्रशासन ने किया है। इसी के तहत इसकी ब्रॉन्डिंग की जाएगी। तैयार किए जा रहे लोगो में अपील के रूप में मां नर्मदा का उल्लेख किया जाएगा। अपील की लाइन ‘मां नर्मदा के पवित्र जल से सिंचित जबलपुरी मटर’ होगी। इसमें हरी मटर की फल्ली भी रहेगी।
देश-विदेश तक जबलपुर के मटर की ब्रॉन्डिंग400 करोड़ से ज्यादा का टर्नओवर

जिले में कम समय में ज्यादा मुनाफा वाली इस उपज का इंतजार किसानों को होता है। बरसात में कई किसान एक से दो महीने तक अपने खेतों को खाली रखते हैं। जिले में करीब 30 हजार हेक्टेयर में इसका उत्पादन होता है। हर साल करीब 400 करोड़ रुपए की हरी मटर कि सान बेचते हैं। इसकी आपूर्ति मध्यप्रदेश के कई जिले के साथ महाराष्ट्र, दिल्ली, गुजरात व दक्षिण भारत के कई राज्यों में होती है। प्रसंस्क रण के बाद इसका निर्यात प्रमुख देशों में किया जाता है।
यह है स्थिति

- जिले में 30 हजार हेक्टेयर में हरे मटर की पैदावार।

- दो लाख 40 हजार मीट्रिक टन से ज्यादा का उत्पादन।

- हर साल 400 करोड़ रुपए से ज्यादा के मटर का विक्रय।
- पनागर, शहपुरा, मझौली व शहपुरा में में बड़ा रकबा।

- 80 प्रतिशत मटर शहर के अलावा बाहरी राज्यों में जाता है।

- देश के आधा दर्जन के लगभग राज्यों में होती है सप्लाई।
- विदेशों में जापान और सिंगापुर में व्यंजनों के लिए निर्यात।

- एक बड़ी व दूसरी छोटी प्रसंस्करण इकाई की है स्थापना।

- 6 से 8 हजार मीट्रिक टन मटर की जिले में होती है प्रोसेसिंग।
- सहजपुर, सम्भागीय और स्थानीय मंडियों से होता है विक्रय।

- कई व्यापारी किसान के खेतों से सीधे करते हैं खरीदी।

एक जिला एक उत्पाद के तहत हरे मटर की ब्रॉन्डिंग के लिए रजिस्टे्रशन करवाया जा रहा है। इसका एक टे्रडमार्क होगा। मटर के बैग में यह टैग के रूप में लगाया जाएगा। इस प्रक्रिया को अंतिम रूप दिया जा रहा है।
डॉ. नेहा पटेल, उप संचालक, उद्यानिकी विभाग, जबलपुर

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

इन नाम वाली लड़कियां चमका सकती हैं ससुराल वालों की किस्मत, होती हैं भाग्यशालीजब हनीमून पर ताहिरा का ब्रेस्ट मिल्क पी गए थे आयुष्मान खुराना, बताया था पौष्टिकIndian Railways : अब ट्रेन में यात्रा करना मुश्किल, रेलवे ने जारी की नयी गाइडलाइन, ज़रूर पढ़ें ये नियमधन-संपत्ति के मामले में बेहद लकी माने जाते हैं इन बर्थ डेट वाले लोग, देखें क्या आप भी हैं इनमें शामिलइन 4 राशि की लड़कियों के सबसे ज्यादा दीवाने माने जाते हैं लड़के, पति के दिल पर करती हैं राजशेखावाटी सहित राजस्थान के 12 जिलों में होगी बरसातदिल्ली-एनसीआर में बनेंगे छह नए मेट्रो कॉरिडोर, जानिए पूरी प्लानिंगयदि ये रत्न कर जाए सूट तो 30 दिनों के अंदर दिखा देता है अपना कमाल, इन राशियों के लिए सबसे शुभ

बड़ी खबरें

देश में वैक्‍सीनेशन की रफ्तार हुई और तेज, आंकड़ा पहुंचा 160 करोड़ के पारपाकिस्तान के लाहौर में जोरदार बम धमाका, तीन की नौत, कई घायलजम्मू कश्मीर में सुरक्षाबलों को मिली बड़ी कामयाबी, लश्कर-ए-तैयबा का आतंकी जहांगीर नाइकू आया गिरफ्त मेंCovid-19 Update: दिल्ली में बीते 24 घंटे के भीतर आए कोरोना के 12306 नए मामले, संक्रमण दर पहुंचा 21.48%घर खरीदारों को बड़ा झटका, साल 2022 में 30% बढ़ेंगे मकान-फ्लैट के दाम, जानिए क्या है वजहfoods For Immunity: इम्युनिटी को बूस्ट करने के लिए डाइट में शामिल करें इन फूड्स कोRation Card से राशन नहीं लेने वालों पर भी होगी कार्यवाई, दूसरे के कार्ड का इस्तेमाल करने पर हो सकती है सज़ाराजस्थान में कोरोना को लेकर नई गाइडलाइन जारी,विवाह समारोह में 100 लोगों के शामिल होने की अनुमति
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.