एक्सीडेंट में अपनों को गंवाने चुके परिजन पीएम के लिए भटके

एक्सीडेंट में अपनों को गंवाने चुके परिजन पीएम के लिए भटके
Keep wandering for post mortem

Santosh Kumar Singh | Updated: 20 Sep 2019, 10:00:00 AM (IST) Jabalpur, Jabalpur, Madhya Pradesh, India

bus accident:बेलखाड़ू एक्सीडेंट का मामला, कलेक्टर, पुलिस अधिकारियों की फटकार के बाद पहुंचे टीआई, शाम चार बजे हुआ पोस्टमार्टम

जबलपुर. बेलखाडू चौकी अंतर्गत झगरा गांव के पास बुधवार रात बस-बाइक (bus-bike) की टक्कर में जान गंवाने वालों के परिजन गुरुवार को दिनभर पीएम (post mortem) के लिए भटकते रहे। पीएम को लेकर हुए विवाद को सुलझाने के बजाय कटंगी टीआई हीलाहवाली करते रहे। परेशान परिजनों ने दोपहर 2.30 बजे कलेक्टर और पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों से गुहार लगाई। एसपी की फटकार के बाद कटंगी टीआई मेडिकल पहुंचे और फिर पीएम (post mortem) हुआ।
कटंगी पुलिस की लापरवाही से लेट हुआ पीएम
पुलिस के अनुसार हादसे में जान गंवाने वालों की पहचान मानेगांव रांझी निवासी विनोद यादव (23) और मटामर खमरिया निवासी मुन्ना पटेल (50) के रूप में हुई है। हादसे के तुरंत बाद विनोद की शिनाख्त हो गई थी, लेकिन मुन्ना पटेल की पहचान नहीं हो सकी थी। इतने बड़े हादसे के बावजूद पुलिस असंवेदनशील बनी रही। इसकी वजह से पीएम होने में पूरा दिन निकल गया। मेडिकल कॉलेज के डॉक्टरों ने पाटन में पीएम की सुविधा का हवाला देते हुए पोस्टमार्टम करने से मना कर दिया था। दोपहर दो बजे तक मृतकों के परिजन परेशान होते रहे। पुलिस अधिकारियों तक मामला पहुंचने पर कटंगी टीआई राकेश तिवारी शाम चार बजे मेडिकल कॉलेज पहुंचे, तब पीएम हुआ।
तेज रफ्तार में थी बस
आईएसबीटी से एसएमआर ट्रैवल्स की बस (एमपी 15 पीएम 2477) बुधवार रात करीब 9 बजे इंदौर के लिए रवाना हुई थी। बस चालक ने रात 9.30 बजे बेलखाड़ू के झगरा गांव स्थित मां आशीर्वाद ढाबे के पास आगे जा रही बाइक (एमपी 20 एमवी 4473) को टक्कर मार दी। इससे बस बेकाबू होकर रोड के किनारे नाले में पलट गई। टक्कर से बाइक सवार विनोद व मुन्ना पटेल की मौत हो गई। बस में सवार छह यात्री भी घायल हो गए। बस में सवार विवेक प्यासी और अभय गर्ग ने पुलिस को दिए बयान में बताया कि चालक तेज रफ्तार में बस चला रहा था।
हादसे की अलग से जांच करेंगे ट्रैफिक एएसपी
ट्रैकिफ एएसपी हादसे की अलग से जांच करेंगे। वे घटनास्थल का निरीक्षण कर हादसे के असल कारण का पता लगाएंगे। बस में सवार यात्रियों से बातचीत कर जानने का प्रयास करेंगे कि हादसे से पहले क्या हुआ था, जिससे भविष्य में इस तरह के हादसों से बचा जा सके। ट्रैफिक एएसपी अमृत मीणा ने बताया कि कि बस चालक ने आगे जा रही बाइक को टक्कर मारी थी। वे पता लगाएंगे कि टक्कर कैसे लगी। बस और बाइक की रफ्तार की भी जांच करेंगे। दरअसल, सडक़ हादसों को रोकने के लिए पुलिस मुख्यालय से पहले ही निर्देश जारी किए गए हैं कि दो या अधिक मौत वाले हादसों की जांच सीएसपी या इससे बड़े स्तर के अधिकारी करेंगे। हादसों की असल वजह तलाश कर मुख्यालय को रिपोर्ट भेजी जाती है।

 

Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned