आज चंद्रमा अग्नि तत्व की सिंह राशि में रहेंगे, जानिए क्या पड़ेगा प्रभाव: पंचांग

आज चंद्रमा अग्नि तत्व की सिंह राशि में रहेंगे, जानिए क्या पड़ेगा प्रभाव: पंचांग

 

By: Lalit kostha

Published: 26 Jun 2020, 10:43 AM IST

जबलपुर। शुभ विक्रम संवत् : 2077
संवत्सर का नाम : प्रमादी
शाके संवत् : 1942
हिजरी संवत् : 1441
मु.मास : जिल्काद 04
अयन : उत्तरायण
ऋतु : ग्रीष्म ऋतुु
मास : आषाढ़
पक्ष : शुक्ल पक्ष
तिथि - सूर्योदय से प्रात: 07.02 मि. तक पूर्णा संज्ञक पंचमी तिथि रहेगी पश्चात नंदा संज्ञक षष्ठी तिथि लगेगी। पंचमी तिथि में नागराज की पूजा करने से विष का भय नहीं रहता, स्त्री और सुशील संतान प्राप्त होते हैं और श्रेष्ठ लक्ष्मी भी प्राप्त होती है। षष्ठी तिथि में कार्तिकेय की पूजा करने से मनुष्य श्रेष्ठ मेधावी, रूपसंपन्न, दीर्घायु और कीर्ति को बढ़ानेवाला हो जाता है।
योग- सूर्योदय से अर्धरात्रि 01.54 मि. तक सिद्धि योग पश्चात व्यतिपात योग लगेगा। सिद्धि योग के स्वामी श्रीगणेशजी हैं जबकि व्यतिपात योग के स्वामी रुद्रदेव माने गए हैं।
विशिष्ट योग- सिद्धि योग बेहद शुभ योग माना जाता है। इसमे शुरु किए गए कार्य हमेशा सफल होते हैं। व्यतिपात योग को एक अशुभ योग माना जाता है। इसमे सम्पूर्ण शुभ कार्य की शुरुआत का त्याग करना चाहिए।
करण- सूर्योदय से प्रात: 07.02 मि. तक बालव नामक करण पश्चात कौलव नामक करण लगेगा। इसके पश्चात तैतिल नामक करण लगेगा।
नक्षत्र- सूर्योदय से प्रात: 11.25 मि. तक उग्र क्रूर मघा नक्षत्र रहेगा पश्चात उग्र क्रूर पूर्वा फाल्गुनी नक्षत्र लगेगा। वर-वधू की दिखाई रस्म, सगाई आदि के लिए मघा नक्षत्र शुभ माने गए हैं। फसल की बुवाई, मढ़ाई, हल चलाना, वृक्षारोपण जैसे कार्यों के लिए मघा नक्षत्र उपयुक्त होते हैं। मकान, दुकान, मठ, मंदिर, छत, कुआं, सडक़ और जल संबंधी कार्य पूर्वाफाल्गुनी नक्षत्र में करना शुभ रहता हैं।

 

 

Aaj Ka Panchang
IMAGE CREDIT: patrika

आज के मुहूर्त - अनुकूल समय में नलकूप खनन करने के लिए शुभ मुहूर्त है।
चौघडिय़ा के अनुसार समय - प्रात: 05.45 मि. से 10.46 मि. तक क्रमश: चंचल लाभ व अमृत के चौघडिय़ा रहेंगे। दोप. 12.27 मि. से 02.07 मि. तक शुभ का चौघडिय़ा रहेगा एवं दोप. 05.28 मि. से सायं: 07.08 मि. तक चंचल का चौघडिय़ा रहेगा।
व्रत/पर्व - श्रीद्वारकाधीश महोत्सव। हेरा पंचमी (उड़ीसा)। स्कन्द षष्ठी। कुमार षष्ठी। कर्दम षष्ठी (बंगाल)। श्रीमहावीर स्वामी गर्भकल्याणक (जैन)। श्रीवल्लभाचार्य वैकुण्ठगमन।
चंद्रमा - सूर्योदय से लेकर सम्पूर्ण दिवस पर्यन्त तक चंद्रमा अग्नि तत्व की सिंह राशि में रहेंगे।
दिशाशूल - पश्चिम दिशा में। (अगर हो सके तो आज के दिन पश्चिम दिशा में यात्रा को टालना चाहिए)।
राहु काल - प्रात: 10.46.51 से दोप. 12.27.15 तक राहु काल वेला रहेगी। अगर हो सके तो इस समय में शुभ कार्यों को करने से बचना चाहिए।
आज जन्म लिए बच्चे- आज जन्म लिए बच्चों के नाम (मे, मो, टा, टी, टू) अक्षरों पर रख सकते हैं। आज जन्मे बच्चों का जन्म चांदी के पाए में होगा। सूर्योदय से लेकर सम्पूर्ण दिवस पर्यन्त तक सिंह राशि रहेगी। आज प्रात: 11.25 मि. तक जन्म लिए बच्चे की मूलशांति अवश्य कराएं। ऐसे जातक शरीर से मध्यम होंगे। प्राय: इनका भाग्योदय करीब 28 वर्ष की आयु में होगा। ऐसे जातक धन का उपयोग मितव्ययिता से करेंगे। दान धर्म में सदा आगे रहेंगे। विज्ञान के विषय में इनकी अच्छी पकड़ रहेगी। सिंह राशि में जन्मे जातक को शीत प्रकृति से दूर रहना चाहिए।

Show More
Lalit kostha Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned