scriptChange in the system : शिक्षकों की रिजर्व बीएड सीट में आधे पर छात्रों को प्रवेश | Change in the system: Students will get admission on half of the reserved B.Ed seats for teachers | Patrika News
जबलपुर

Change in the system : शिक्षकों की रिजर्व बीएड सीट में आधे पर छात्रों को प्रवेश

Change in the system : शिक्षकों की रिजर्व बीएड सीट में आधे पर छात्रों को प्रवेश

जबलपुरJun 14, 2024 / 05:09 pm

Lalit kostha

BED Exam

BED Exam

जबलपुर. शासकीय शिक्षा संस्थानो में शिक्षकों के लिए रिजर्व बीएड की सीटों पर अब छात्रों को प्रवेश मिल सकेगा। प्रदेश के संस्थानों की आधी सीटों को सीधे छात्रों के लिए खोल दिया गया है। अब तक इन सीटों पर केवल विभागीय शिक्षकों को ही प्रवेश दिया जाता था। अब छात्र इन सीटों के लिए आवेदन कर सकेंगे। इस निर्णय से शहर में इंस्टिट्यूट ऑफ़ एडवांस्ड स्टडीस इन एजूकेशन, स्टेट इंस्टिट्यूट ऑफ़ साइंस एजूकेशन और कॉलेज ऑफ़ टीचर एजूकेशन जैसे संस्थानों से बीएड करने का मौका मिल सकेगा।
Change in the system: Students will get admission on half of the reserved B.Ed seats for teachers
Change in the system
677 सीटों का होगा फायदा

इस निर्णय से शिक्षकों की 677 सीटें अन्य छात्रों के माध्यम से भरी जा सकेगी। प्रदेश के शासकीय शिक्षा संस्थानों में शिक्षको के लिए 1354 सीटें रिजर्व हैं। उच्च शिक्षा विभाग ने ई-प्रवेश प्रक्रिया में भी इन सीटों को विभागीय पोर्टल पर अपलोड कर दिया गया है। स्कूल एवं कॉलेजो में शिक्षकीय कार्य के लिए बैचलर ऑफ एजुकेशन की डिग्री होना अनिवार्य है।
छात्रों के हित में निर्णय

शिक्षाविद डॉ. राजेश पांडे कहते हैं कि बाहरी छात्रों को सरकारी संस्थानों में पढ़ाई का मौका मिलने से उनकी शैक्षणिक गुणवत्ता में सुधार होगा। आने वाले समय में इन सीटों का दायरा बढाया जाएगा।
अभी तक हम प्रदेश के सरकारी स्कूलो में पदस्थ नॉन बीएड शिक्षकों को प्रवेश देते थे। लेकिन अब आधी सीटें सीधे छात्रों को दी जा सकेगी। इस निर्णय से जहां छात्रों को फायदा होगा तो वहीं शिक्षा की गुणवत्ता में भी सुधार होगा ।
श्रृद्धा पाठक, डॉयरेक्टर स्टेट इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस एजुकेशन

Hindi News/ Jabalpur / Change in the system : शिक्षकों की रिजर्व बीएड सीट में आधे पर छात्रों को प्रवेश

ट्रेंडिंग वीडियो