दो-दो हजार में बेच रहा था सोने की अंगूठी, फिर खुला ये राज

एक अंगूठी बेचने के बाद जालसाज की हिम्मत और बढ़ गई और वह दूसरे दुकान पर जा पहुंचा

By: amaresh singh

Published: 25 Apr 2018, 02:45 PM IST


कटनी/जबलपुर। सराफा व्यवसायियों को एक जालसाज ने अपनी जाल में फंसाकर नकली अंगूठी बेच दी। जालसाज नकली अंगूठी लेकर एक सराफा व्यवसायी के पास पहुंचा। इसके बाद उसने बताया कि उसकी कार खराब है और उसे बनवाने के लिए उसके पास पैसा नहीं है। उसने पुष्टि के लिए सराफा व्यवसायी को अपने दोस्त से बात करवाया। सराफा व्यवसायी उसके दोस्त के बातों में आ गया और उसने अंगूठी खरीद ली। इसके बाद जालसाज एक दूसरी नकली अंगूठी लेकर दूसरे सराफा व्यवसायी के पास पहुंचा और कार खराब होने की बात कही और पैसा नहीं होने की बात कहते हुए अंगूठी बेचने की बात कहने लगा। इस पर सराफा व्यवसायी को शक हुआ। उसने अंगूठी ले ली और उसे चेक किया। अंगूठी चेक करने पर वह नकली निकली। यह देखकर उसने जालसाज को अन्य सराफा व्यवयसायियों के साथ मिलकर पकड़ लिया और पुलिस को खबर किया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने जालसाज को अपने गिरफ्त में ले लिया। इसके बाद उसका दूसरा दोस्त सराफा से कुछ दूरी पर कार सहित खड़ा था। उसको भी पुलिस ने कार सहित पकड़ लिया। पूछताछ में पुलिस ने आरोपियों से अंगूठी भी बरामद कर ली। आरोपी पूर्व में कई दुकानों में धोखाधड़ी कर चुका है।


बेच दिया एक अंगूठी
मिली जानकारी के अनुसार कोतवाली थाना क्षेत्र के सराफा बाजार में धोखाधड़ी का आरोपी सीधी निवासी जयप्रकाश गुप्ता एक नकली अंगूठी लेकर बेचने गया। उसने सराफा बाजार के रोशनी ज्वेलर्स के संचालक से कहा कि उसकी कार खराब हो गई। जो उसके दोस्त के पास है। उसे बनवाने के लिए उसके पास पैसा नहीं है। इसलिए वह अंगूठी बेचना चाहता है। उसने ज्वेलर्स को इसकी पुष्टि के लिए अपने दोस्त से बात करवाई। उसने दो हजार रुपए में अंगूठी बेचने की बात कही। इस पर ज्वेलर्स उसके झांसे में आ गया और अंगूठी को खरीद लिया।


दूसरी जगह पकड़ाया
एक अंगूठी बेचने के बाद जालसाज जयप्रकाश गुप्ता की हिम्मत और बढ़ गई और वह दूसरे दुकान पर जा पहुंचा। यहां उसने कार खराब होने तथा पैसा नहीं होने की बात बताई। इसके बाद नकली अंगूठी निकालकर दिखाने लगा अंगूठी देखने के बाद ज्वेलर्स को कुछ शक हुआ तो उसने उसको चेक किया। चेक करने पर अंगूठी नकली निकली। यह देखकर ज्वेलर्स ने अन्य कारोबारियों के साथ मिलकर जालसाज जयप्रकाश गुप्ता को पकड़ लिया। इसके बाद उसने पुलिस को सूचना दिया। सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची और आरोपी को अपने गिरफ्त में ले लिया। इसके बाद पुलिस ने पूछताछ करते हुए उसके दोस्त टीकमगढ़ निवासी देवेंन्द्र सरवैया को गाड़ी सहित पकड़ लिया। आरोपियों ने तीन-चार दुकानों में धोखाधड़ी की वारदात को अंजाम दिया है। पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ ४२० का मामला दर्ज कर मामले को जांच में लिया है।

amaresh singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned