स्कूल में बच्चों से अलमारी पर करवाया जा रहा पेंट

निगम ने 1 करोड़ से बने स्कूल भवन को दिया, शिक्षकों का बच्चों पर नहीं कंट्रोल, दीवारों को किया गंदा, निरीक्षण के दौरान मिली स्थिति

जबलपुर।

शासकीय प्राथमिक एवं माध्यमिक स्कूल में बच्चों को पढ़ाने के दौरान शिक्षक बच्चों से अलमारी में पेंट करवा रहे थे। उन्हें नहीं पता था कि कोई अधिकारी स्कूल में अचानक पहुंच जाएगा। स्कूल में जांच करने पहुंची निगम शिक्षा अधिकारी यह देखकर दंग रह गई। उन्होंने ने प्राधानाध्याक को आड़े हाथ लिया। पूछने पर तर्क दिया कि बच्चे पढ़ाई नहीं कर रहे थे तो उनसे पेंट करने के लिए कहा गया था। इस पर उन्होंने आपत्ति दर्ज की। दरअसल दो वर्ष पूर्व 1 करोड़ की लागत से नगर निगम द्वारा कछपुरा स्कूल को संचालित करने के लिए दी गई थी। भवन को लेकर कलेक्टर की टीएल में मामला सामने आने के बाद निगम शिक्षा अधिकारी बीना वर्गीस स्कूल जांच के लिए पहुंची थी। जांच के दौरान छात्र अलमारी में पेंट करते हुए मिले। साथ ही स्कूल के कमरों में की सारी दीवारे गुदी हुई मिली। फर्नीचर भी खराब था। नए भवन की दुर्दशा पर नाराजगी जताई। स्कूल के पीछे तरफ बाउंड्रीवॉल खुली होने, गेट न होने को लेकर संभागीय अधिकारी को आवश्यक कार्रवाई के लिए निर्देशित किया गया।

खुद करें चौकीदार की व्यवस्था

स्कूल की सुरक्षा व्यवस्था के लिए स्कूल प्रबंधन ने चौकीदार की मांग की। इस पर शिक्षा अधिकारी वर्गीस ने आपत्ति जताई कि निगम ने भवन और फर्नीचर दिया है। चौकीदार की व्यवस्था स्कूल प्रबंधन अपने मद से करे अथवा जिला शिक्षा अधिकारी को बताए। स्कूल को साफ सुथरा रखने के निर्देश दिए गए। बताया जाता है निगम प्रशासन ने भवन निर्माण में लाखों रुपए खर्च किए गए थे। हैंड ओवर करने के दौरान कहा गया था कि भवन के सुरक्षा व्यवस्था, फर्नीचर आदि की जिम्मेदारी स्कूल प्रबंधन की होगी। लेकिन स्कूल प्रबंधन ने इस और ध्यान नहीं दिया। फर्नीचर टूट फूट होने लगा तो वही दीवारों को गंदा कर दिया गया। अब निगम प्रशासन जिला शिक्षा अधिकारी से इस बात को लेकर संज्ञान में लेने का निर्णय लिया है।

Mayank Kumar Sahu Reporting
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned