scriptCigarette bidi smoking make handicapped | सिगरेट बीड़ी पीने वाले सावधान, वरना हो जाएंगे अपाहिज! | Patrika News

सिगरेट बीड़ी पीने वाले सावधान, वरना हो जाएंगे अपाहिज!

सिगरेट बीड़ी पीने वाले सावधान, वरना हो जाएंगे अपाहिज!

जबलपुर

Published: December 25, 2021 11:02:35 am

मनीष गर्ग@जबलपुर। तम्बाकू व इसके उत्पादों का नशा लोगों को अपाहिज बना रहा है। महाकोशल अंचल में तम्बाकू, धूम्रपान व इसके उत्पादों के नशे के कारण होने वाले बुर्जर डिसीज से पीडि़तों की सख्ंया बढ़ रही है। विक्टोरिया अस्पताल में हर माह 20 से ज्यादा मरीज ऐसे सामने आ रहे हैं, जिसमें उनकी हाथ-पैर की अंगुलियां काली पड़ जाती हैं। उस हिस्से की कोशिकाएं मृत होकर गेंग्रीन में तब्दील हो जाती हैं। ऐसी स्थिति में मरीजों के हाथ-पैर के उस हिस्से को काटना पड़ रहा है। जिला अस्पताल में जबलपुर सहित आसपास के दस जिलों से ऐसे मरीज आ रहे हैं और इनकी सर्जरी यहीं पर होती है।

smoking.jpg
smoking make handicapped

कोशिकाएं मरने की समस्या से पीडि़त मरीज हर माह जिला अस्पताल में आ रहे सामने
तम्बाकू, धूम्रपान की लत बना रही अपाहिज!
डॉक्टर्स के अनुसार तम्बाकू चबाने व धूम्रपान के कारण यह रोग होता है। तम्बाकू के सेवन, धूम्रपान से नसों धमनियों में सूजन आ जाती है। खून का प्रवाह बाधित हो जाता है। इससे नसों में पोषक तत्व और आक्सीजन नहीं पहुंचती है। इससे नस-नाडिय़ां काली पड़ जाती हैं। कोशिकाएं व नाडिय़ा मृत हो जाती हैं। प्रारंभ में इसका असर हाथ व पैर की उंगलियों में होता है। उंगलियों में काला पन आने के बाद वह शून्य हो जाती है और घाव होने के बाद में इस हिस्से से दुर्गंध भी आने लगती है। समय पर इलाज नहीं मिला तो यह पंजे व पैर को भी चपेट में ले लेता है। कई ऐसे केस भी आते हैं जिनमें मरीज के पंजे व पैर को ही काट कर अलग करना पड़ता है।

third hand smoking : दूसरे व्यक्ति के धूम्रपान से आपको भी हो सकता है नुकसान, जानें कैसे

ग्रामीण क्षेत्रों से ज्यादा आ रहे मरीज
जिला अस्पताल के विशेषज्ञों के अनुसार बुर्जर रोग से पीडि़त 90 प्रतिशत से ज्यादा मरीज मर्ज बिगडऩे के बाद यहां पहुंचते हैं। यदि मरीज प्रारंभिक अवस्था में आ जाएं तो दवाओं के माध्यम से उसे ठीक किया जा सकता है परंतु ऐसे मरीजों की संख्या न के बराबर होती है। अभी जो मरीज आ रहे हैं उनमें लगभग 70 फीसदी ग्रामीण व 30 फीसदी शहरी क्षेत्र में रहने वाले हैं। इनमें से 15 फीसदी मरीज 40 वर्ष तक की उम्र के होते हैं। शेष मरीज 40 से 60 वर्ष की उम्र तक के होते हैं।

विक्टोरिया में ही होती है सर्जरी
महाकोशल के सरकारी अस्पतालों में इस तरह की सर्जरी केवल विक्टोरिया जिला अस्पताल में ही होती है। आसपास के जिलों के अलाव मेडिकल कॉलेज अस्पताल में भी जो मरीज आते हैं उन्हें विक्टोरिया जिला अस्पताल भेजा जाता है।

बुर्जर डिसीज एक खतरनाक रोग है जो कि तम्बाकू के सेवन व इसके उत्पाद बीड़ी, धूम्रपान के कारण होता है। ऐसे मरीजों के लिए जिला अस्पताल में एक वार्ड ही यहां बनाया गया है। ऐसे मरीज एडवांस स्टेज में आते हैं। मरीजों के हाथ या पैर की उंगलियों के अलवा पंजे तक कई बार काटने पड़ते हैं। यहां आसपास के दस जिलों से इस बीमारी से पीडि़त मरीज आ रहे हैं। जिनकी सर्जरी केवल विक्टोरिया जिला अस्पताल में ही होती है। तम्बाकू व इसके उत्पाद, धूम्रपान नहीं करना ही बीमारी से बचाव है।
- डॉ. जयदीप अरोरा, वरिष्ठ सर्जन, वक्टोरिया जिला अस्पताल

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

धन-संपत्ति के मामले में बेहद लकी माने जाते हैं इन बर्थ डेट वाले लोगशाहरुख खान को अपना बेटा मानने वाले दिलीप कुमार की 6800 करोड़ की संपत्ति पर अब इस शख्स का हैं अधिकारजब 57 की उम्र में सनी देओल ने मचाई सनसनी, 38 साल छोटी एक्ट्रेस के साथ किए थे बोल्ड सीनMaruti Alto हुई टॉप 5 की लिस्ट से बाहर! इस कार पर देश ने दिखाया भरोसा, कम कीमत में देती है 32Km का माइलेज़UP School News: छुट्टियाँ खत्म यूपी में 17 जनवरी से खुलेंगे स्कूल! मैनेजमेंट बच्चों को स्कूल आने के लिए नहीं कर सकता बाध्यअब वायरल फ्लू का रूप लेने लगा कोरोना, रिकवरी के दिन भी घटेइन 12 जिलों में पड़ने वाल...कोहरा, जारी हुआ यलो अलर्ट2022 का पहला ग्रहण 4 राशि वालों की जिंदगी में लाएगा बड़े बदलाव

बड़ी खबरें

Pandit Birju Maharaj: कथक सम्राट पंडित बिरजू महाराज का निधन, 83 साल की उम्र में ली अंतिम सांसCovid 19 Update: दिल्ली में संक्रमण दर 27% के पार, पिछले 24 घंटे में आए कोरोना के 18286 नए मामलेजानिए कब भारत आएगी टेस्ला, लॉन्चिंग को लेकर क्या कहते हैं Elon MuskCovid-19 Update: महाराष्ट्र में कोरोना के 41 हजार से ज्यादा मामले, मुंबई में आए 7895 नए केसभारतीय महिलाएं हर माह परिवार पर 40 हजार करोड़ कर रहीं कुर्बानतीसरी लहर में स्वास्थ्य विभाग ने कोरोना किट से हटा दी तीन दवाइयां, दावा सामान्य लक्षण वाले मरीज 5 दिन में हो रहे ठीकpetrol diesel price today: 74वें दिन पेट्रोल-डीजल के दाम स्थिरCM के गृह जिले में जमकर फल-फूल रहा अवैध प्लाटिंग का धंधा, नोटिस के बाद भी तन गई 17 अवैध कॉलोनियां, सरकार मौन
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.