शहर के कपड़ा बाजार में लौटी रौनक, ग्राहकों से गुलजार हुईं दुकानें

गणेशोत्सव पर्व शुरू होने के साथ आई तेजी

By: Lalit kostha

Published: 14 Sep 2021, 03:21 PM IST

जबलपुर। गणेशोत्सव पर्व शुरू होने के साथ ही कपड़ा बाजार में भी रौनक धीरे धीरे लौटने लगी है। अब कपड़ा बाजार ने भी जोर पकडऩा शुरू कर दिया है। बाजार को पूरी तरह गति मिलने में अभी समय लगेगा लेकिन व्यापारी आशान्वित हैं कि कोरोना काल में छाई मंदी इस बार नहीं रहेगी। शहर में छोटे बड़े मिलाकर करीब 1200 से 1300 कपड़ा व्यवसाई हैं। करीब एक तिहाई इसमें थोक कपड़ा व्यापारी हैं।

6 से 7 करोड़ का व्यापार
जबलपुर में कपड़ा का बड़ा व्यापर है इसका अंदाजा इसी से लगाया जाता है कि कपड़े का करीब 6 से 7 करोड़ का व्यापार होता है। रेडिमेड कपड़े तैयार करने से लेकर सूरत, जामनगर, बनारस, गुजरात आदि से साडिय़ां तो वहीं दिल्ली मुंबई आदि शहरों से फैंसी ड्रेस आती हैं। कपड़ों की एक बड़ी रेंज जबलपुर के रेडिमेड व्यापारियों द्वारा भी तैयार की जाती है।


बाजार बेहद संक्रमण काल से होकर गुजर रहा है। हम आशा कर रहे हैं कि व्यवसाय को गति मिले। सरकार भी इस दिशा में कुछ नए कदम उठाकर राहत दे सकती है।
- अनुराग जैन गढ़ावाल, थोक कपड़ा व्यवसाई

कपड़े के व्यापार में धीरे धीरे तेजी आ रही है। हम आशा कर रहे हैं कि व्यापार गति पकड़े। पहले ही कपड़ा व्यापारियों को काफी नुकसान उठाना पड़ा है।
- संतोष अग्रवाल, कपड़ा व्यवसायी

सरकार टैक्स को कम कर कपड़ा व्यापार को बूस्टअप दे सकती है। शहर में कपड़े का एक बड़ा कारोबार है। साथ ही एक सुव्यवस्थित और संगठित बाजार बनाए जाने की आवश्यकता है।
- अखिल मिश्रा, ज्वाइंट सेकेट्री, महाकोशल चेम्बर ऑफ कामर्स एंड इंडस्ट्री

Lalit kostha Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned