कॉलेज गर्ल्स और बॉयज की हर हरकत पर रहेगी प्रोफेसर की नजर

कार्यपरिषद की बैठक में निर्णय, विवि में लगेंगे कैमरे, प्रोफेसर पर कार्रवाई करें लोकायुक्त

By: Lalit kostha

Published: 26 Jan 2018, 11:54 AM IST

जबलपुर। रादुविवि में गुरुवार को कार्यपरिषद की बैठक हंगामेदार रही। कार्यपरिषद सदस्यों ने पुरानी बैठकों में पारित निर्णयों पर अमल न होने पर नाराजगी जताई। कुलपति-कुलसचिव को आड़े हाथों लिया। बैठक में विवि में छात्रों की सुरक्षा और निगरानी के लिए सीसीटीवी कैमरे, थम्ब मशीन लगाने का निर्णय लिया गया, वहीं रीवा विवि के पूर्व कुलपति प्रो. एडीएन बाजपेयी पर कार्रवाई को लेकर विवि प्रशासन ने हाथ पीछे खींच लिए। कार्यपरिषद ने निर्णय किया कि लोकायुक्त स्वतंत्र एजेंसी है, जो खुद निर्णय ले सकती है। विवि को कार्रवाई के लिए अधिकृत किया जाना सही नहीं है। राज्यपाल को पत्र लिखने का निर्णय लिया गया।
गौरतलब है कि वर्ष २००६ में रीवा विवि का कुलपति रहते हुए डॉ. वाजपेयी के खिलाफ अनयिमितताओं के आरोप लगे थे।

READ MORE-

Republic Day 2018 LIVE : गणतंत्र अमर रहे के नारों से गूंजा शहर- देखें लाइव वीडियो

घाट पर हो रही थी पूजा, तभी प्रकट हो गईं साक्षात् मां नर्मदा- देखें ये लाइव वीडियो

गजब का नाची ये हरियाणवी छोरी, देखती रह गई पब्लिक- देखें वीडियो

डीसीडीसी की नियुक्ति पर आक्रोश-
डीसीडीसी की नियुक्ति पर अब तक कोई कार्रवाई न होने से कार्यपरिषद सदस्य भड़क उठे। कुलपति, कुलसचिव के समक्ष नाराजगी जाहिर की। सदस्य संगीता जोशी ने छात्राओं की पानी शौचालय की समस्याओं पर नाराजगी व्यक्त की।

प्रो. गौतम की वापसी का विरोध-
यूजीसी के चैयरमेन प्रो. एसपी गौतम की दोबारा नियुक्ति को कार्यपरिषद ने खारिज कर दिया। परिषद ने कहा यूजीसी चैयरमेन बनने के बाद अब वापस आना विवि के नियम विरुद्ध है।

वसूली का मुद्दा गूंजा-
अवैध रूप से कब्जा जमाए कर्मचारियों पर कार्रवाई न होने का मामला भी बैठक में गूंजा। सदस्य दिलीप यादव ने कहा, चार गुना पेनल्टी लगाने के बाद विवि प्रशासन कार्रवाई क्यों नहीं कर रहा है। अतिथि शिक्षकों को संविदा नियुक्ति करने का मुद्दा भी बैठक में उठाया गया। कार्यपरिषद की बैठक में कुलपति प्रो. केडी मिश्र, अतिरिक्त संचालक उच्च शिक्षा डॉ. केएल जैन, कुलसचिव डॉ. बी भारती, प्रो. विद्यासागर, डॉ. सुशीला मार्को आदि उपस्थित थे।

Lalit kostha Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned