‘पॉक्सो एक्ट’ पर अब कॉलेज भी देंगे साथ

‘पॉक्सो एक्ट’ पर अब कॉलेज भी देंगे साथ
College will also do 'Poxo Act'

Mayank Kumar Sahu | Publish: Apr, 14 2019 10:43:32 PM (IST) Jabalpur, Jabalpur, Madhya Pradesh, India

प्रोटेक्शन ऑफ चिल्ड्रेन फ्राम सैक्सुअल अफेंसेस को लेकर उच्च शिक्षा विभाग हुआ गंभीर, यौन अपराधों को रोकने कर रहा प्रभावी अमल, अतिरिक्त संचालक की निगरानी में होगी अब मासिक समीक्षा, लीड कॉलेज के होंगे नोडल अधिकारी

जबलपुर।

पाक्सो एक्ट अब कॉलेजों में भी निगरानी में आएगा। प्रोटेक्शन ऑफ चिल्ड्रेन फ्राम सैक्सुअल अफेंसेस को लेकर उच्च शिक्षा विभाग बेहद गंभीर हो गया है। आगामी नए शिक्षण सत्र की शुरुआत को लेकर सभी कॉलेजों और विश्वविद्यालयों में पाक्सो एक्ट का गंभीरता से पालन करने का निर्णय लिया गया है। इसके लिए विभाग के अधिकारियो और कर्मचारियों की स्पेशल ट्रेनिंग भी आयोजित की जाएगी। अभी तक स्कूली स्तर पर इस तरह के प्रयास किए जाते थे लेकिन अब इसे कॉलेजस्तर पर भी प्रभावी तरीके से लागू किया जा रहा है। इसके पीछे की मुख्य वजह लोगों और जनता के बीच जागरूकता लाना है। पुलिस विभाग करेगा सहयोगजानकाराके अनुसार बच्चों के बीच बढ़ते यौन दुव्र्यवहार की घटनाओं को देखते हुए प्रशासन गंभीर हुआ है। इस संबंध में उच्च शिक्षा विभाग प्रमुख सचिव के साथ हुई बैठक में निर्णय लिया गया कि पॉक्सो एक्ट के संबंध में लोगों में जागरूकता बढ़ाने की आवश्यकता है जिसमें कॉलेज महात्वपूर्ण भूमिका निभा सकते हैं। इसमें पुलिस विभाग का भी सहयोग लिया जाएगा। एक्ट के प्रवाधानों का पेम्पलेट तैयार करेगा।

कॉलेज संभालेंगे प्रचार का जिम्मा

बताया जाता है शासकीय महाविद्यालयों को इस संबंध में प्रचार प्रसार का जिम्मा दिया जाएगा। कॉलेज कैम्पस और छात्र-छात्राओं के बीच जानकारी देंगे। इसके लिए कॉलेज में बैनर, पोस्टर भी चस्पा किए जाएंगे। लीड कॉलेज इसकी मॉनीटरिंग करेंगे।अग्रणी कॉलेजों के प्राचार्य को नोडल अधिकारी बनाया गया है।

सप्ताहिक रिपोर्ट होगी तैयार

इसे लेकर उच्च शिक्षा विभाग ने सभी अतिरिक्त संचालक उच्च शिक्षा को मॉनीटरिंग अथॉरिटी बनाया जा रहा है। जहां जिले के सभी कॉलेजों पर लीड कॉलेज नजर रखेंगे तो दूसरी और जिले और विश्वविद्यालय स्तर पर अतिरिक्त संचालक उच्च शिक्षा को जवाबदारी सौंपी गई है। एडी जिलेवार सप्ताहिक और मासिक रिपोर्ट तैयार करेंगे

।वर्जन

-बच्चों में यौन दुव्र्यवहार रोकने के लिए पॉक्सो एक्ट का विस्तार कॉलेजस्तर तक किया जा रहा है। कॉलेज स्तर पर लोगों को जागरूक किया जाएगा। पुलिस प्रशासन का भी इसमें सहयोग लिया जा रहा है।

-डॉ.केएल जैन, अतिरिक्त संचालक उच्च शिक्षा

-यह निश्चित ही अच्छा प्रयास है। लोगों में जागरूकता लाने के लिए कॉलेज स्तर पर इस दिशा में विभाग द्वारा प्रयास किया गया है। सभी कॉलेज के प्राध्यापक, कर्मचारी इसमें पूरा सहयोग करेंगे।

-डॉ.अरुण शुक्ल, जिलाध्यक्ष शा प्राध्यापक संघ

यह किए जाएंगे प्रावधान

-कॉलेजों में कमेटी गठित होगी

-हर कॉलेजों में बनेगी सेल

-प्रतिमाह होगी समीक्षा

-छात्र-छात्राओं को किया जाएगा अवेयर

-स्टाफ की होगी स्पेशल ट्रेनिंग

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned