कमीशन नहीं दिया तो व्यापारी ने किसान को थमा दिया एक माह पुराना चेक

कमीशन नहीं दिया तो व्यापारी ने किसान को थमा दिया एक माह पुराना चेक
commission did not have, then the trader gavefarmer a month old check

Sudarshan Kumar Ahirwar | Updated: 11 Jul 2019, 07:34:36 PM (IST) Jabalpur, Jabalpur, Madhya Pradesh, India

सिहोरा कृषि उपज मंडी का मामला : साढे 17 क्विंटल बेचा था चना

जबलपुर. सिहोरा. कृषि उपज मंडी खितौला में मंगलवार को साढे 17 क्विंटल चना बेचने वाली ग्राम दर्शनी टोला के किसान बलिराम राय ने जब चना खरीदने वाले व्यापारी राजेश जैन को बेची उपज के भुगतान में उसके द्वारा मांगी दलाली देने से मना किया तो दलाली नहीं मिलने से गुस्साए व्यापारी ने उसे एक माह बाद की तिथि के भुगतान का चेक थमा कर चलता कर दिया।

किसान को चेक में दर्ज तिथि का संज्ञान नहीं था बुधवार को वह जब चेक का भुगतान पाने वाले भारतीय स्टेट बैंक पहुंचा तो जमा पर्ची भरकर उसने जैसे ही चेक जमा किया। तब बैंक कर्मचारी ने एक माह बाद की तिथि का चेक होने की बात बताए जाने पर उसके पैरों तले जमीन खिसक गई। किसान उल्टे पैर कृषि उपज मंडी पहुंचा और अपनी लिखित शिकायत दर्ज कराई, लेकिन मंडी प्रशासन द्वारा कोई कार्यवाही नहीं करने से किसान को मंगलवार को बेची उपज का भुगतान नहीं मिल सका।

किसान ने बताया कि उसने 3915 प्रति क्विंटल के भाव से कृषि उपज मंडी में साडे 17 क्विंटल चना व्यापारी को बेचा था। जिसका कुल दाम 62091 अनुबंध पर्ची में क्रेता व्यापारी ने दर्ज कराया। शाम को वह जब भुगतान पाने व्यापारी की दुकान पहुंचा तो व्यापारी ने कुल धाम के 2त्न मुद्दत (दलाली) 1241 रुपए काट कर भुगतान देने की बात कही। किसान की दलाली नहीं देने की बात पर व्यापारी भडक़ गया और उसने किसान को कुल भुगतान में से ?81 हम्माली काटकर 62010 का यूनियन बैंक ऑफ़ इंडिया शाखा खितौला चेक थमा दिया। घर जल्दी पहुंचने के चक्कर में किसान ने चेक में दर्ज दिनांक पर ध्यान नहीं दिया।

मंडी में व्यापारी के खिलाफ दर्ज कराई शिकायत
अगले दिन किसान चेक लेकर पोड़ा स्थित स्टेट बैंक की शाखा पहुंचा। जमा पर्ची भरने के बाद किसान जैसे ही काउंटर पर पहुंचा और उसने जमा पर्ची के साथ चेक बैंक के कर्मचारी को दिया तो कर्मचारी ने उसे बताया कि दादा यह चेक एक महीने बाद का है। इतना सुनते ही किसान सन्न रह गया। वह उल्टे पांव मंडी पहुंचा और व्यापारी के खिलाफ लिखित शिकायत दर्ज कराई।

किसान द्वारा व्यापारी द्वारा बेची गई उपज के भुगतान के बदले कमीशन मांगने और बाद में एक माह बाद की डेट का चेक दिए जाने की शिकायत मिली है। शिकायत पर मंडी अधिनियम 1972 की धारा 37 (2) के अंतर्गत संबंधित व्यापारी को नोटिस जारी किया जाएगा। भार साधक अधिकारी एसडीएम सिहोरा द्वारा संबंधित व्यापारी के जवाब से संतुष्ट नहीं होने पर उसके खिलाफ मंडी लाइसेंस निलंबन या निरस्त की कार्रवाई सक्षम अधिकारी द्वारा प्रस्तावित की जाएगी।
अशोक कुमार दुबे, सचिव कृषि उपज मंडी, सिहोरा

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned