एसटीएफ के निशाने पर जुआफड़ संचालन का आरोपी कांग्रेस नेता

जबलपुर के हनुमानताल थाना क्षेत्र के भानतलैया में पकड़ा गया था लाखों का जुआ, मिला था हथियारों को जखीरा

 

 

By: shyam bihari

Published: 10 Nov 2020, 12:22 AM IST

जबलपुर। वर्षों से चल रहे जुआफड़ में छापेमारी के बाद जबलपुर में गिरफ्तार कांग्रेस नेता गज्जू उर्फ गजेन्द्र सोनकर और उसके भाई सोनू सोनकर को पुलिस रिमांड में लेकर कड़ी पूछताछ की जा रही है। दोनों को पुलिस ने 10 नवम्बर तक रिमांड पर लिया है। छापेमारी में कांग्रेस नेता के फड़ से हथियारों का जखीरा मिलने के बाद एसटीएफ भी हरकत में आ गई है। जुआफड़ को संरक्षण देने वाले लोगों की सूची बनाने के साथ पुलिस ने छापेमारी के दौरान फरार हुए फड़ मैनेजर रजनीश वर्मा की गिरफ्तारी पर पांच हजार रुपए का इनाम घोषित कर किया गया है। जुआफड़ चलाने के आरोप में गिरफ्तार कांग्रेस नेता की चल-अचल सम्पत्ति का लेखा-जोखा तैयार करने के साथ ही अवैध कब्जों की जानकारी जुटाई जा रही है। पुलिस को छानबीन में पता चला है कि भानतलैया में जहां जुआ घर चल रहा था उसमें स्वीकृत नक्शे तीन गुना निर्माण कार्य है। अतिक्रमण करके आलीशान घर बनाया गया है। जमीन की दस्तावेजों की जांच के लिए राजस्व विभाग और स्वीकृत नक्शे के आधार पर निर्माण की जांच की जिम्मेदारी नगर निगम को दी जा रही है। अतिक्रमण पाए जाने पर उसे ढहाने की कार्रवाई हो सकती है।
निरस्त होगा हथियारों का लाइसेंस
पुलिस ने रविवार को कांग्रेस नेता और उसके भाई से अलग-अलग और आमने-सामने बिठाकर कई बार पूछताछ की। सूत्रों के अनुसार छापे में बरामद हथियारों के जखीरे को सघन पूछताछ हुई। लेकिन, आरोपियों से मामले में पुलिस को अहम जानकारी हासिल नहीं कर सकी। लोहे के बॉक्स में छिपाकर रखे गए हथियारों के सम्बंध में अनभिज्ञता जताते हुए दोनों भाइयों ने यह अपने बड़े भाई धमेंद्र सोनकर के छिपाकर रखे जाने की आशंका जता दी। धर्मेद्र की इसी साल हत्या हुई थी। पूछताछ और पड़ताल में परिजन के नाम पर तीन लाइसेंसी हथियारों की जानकारी सामने आई है। इनके लाइसेंस करीब छह वर्ष से निलम्बित है। इसे अब निरस्त करने की कार्रवाई के लिए पत्र लिखा जा रहा है।

सूत्रों के अनुसार आरोपियों से पूछताछ में शहर और आसपास के कई जिलों से जुआ खेलने के लिए आने वाले रसूखदारों की जानकारी मिली है। छापे के दौरान भागने वाले जुआरियों की सूची भी पुलिस पूछताछ करके तैयार कर ही है। पुलिस की नजर वर्षों से हाईटेक निगरानी और कड़ी सुरक्षा के साथ चल रहे इस जुआफड़ को संरक्षण देने वालों पर है। खुलेआम चल रहे जुआ के लिए नियमित लेन-देन की बात भी जानकारी सामने आई है। इसके बाद फड़ को संरक्षण देने और कांग्रेस नेता के नजदीकी रखने वाले कुछ पुलिसकर्मी भी विभाग की कार्रवाई के रडार पर हैं।

Congress leader
shyam bihari Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned