कोरोना कर्मवीर : बीपी बढ़ा, आंखों में खून आया फिर भी निभा रहे अपना फर्ज

कोरोना संक्रमितों के इलाज में जुटे डॉक्टरों की नींद पूरी नहीं होने का असर अब उनकी सेहत पर पड़ रहा है। इसके बावजूद वे अपने फर्ज से पीछे नहीं हट रहे हैं।

By: praveen chaturvedi

Published: 10 May 2020, 07:20 PM IST

जबलपुर। कोरोना संक्रमितों के इलाज में जुटे डॉक्टरों की नींद पूरी नहीं होने का असर अब उनकी सेहत पर पड़ रहा है। इसके बावजूद वे अपने फर्ज से पीछे नहीं हट रहे हैं। नेताजी सुभाषचंद्र बोस मेडिकल कॉलेज अस्पताल के अधीक्षक डॉ. राजेश तिवारी भी दिन-रात कार्य कर रहे हैं। तीन दिन पहले उनकी आंखों में सब कंजंक्टाइवल हैमरेज हो गया। नेत्र रोग विशेषज्ञों के अनुसार ब्लड पे्रशर बढऩेे से यह समस्या हुई है। वे ब्लडप्रेशर के मरीज नहीं है, लेकिन देर रात तक काम करने से उनकी नींद पूरी नहीं हो पाती। तकलीफ के बावजूद वे पहले की तरह अपना कार्य कर रहे हैं।

डॉ. तिवारी ने बताया कि कोरोना संक्रमण की शुरुआत होने पर 10 मार्च को कार ड्राइव कर छिंदवाड़ा गए और अगले दिन पिता डॉ. डीपी तिवारी (87) और मां कमला तिवारी (83) को लेकर जबलपुर आ गए। उनकी पत्नी डॉ. प्रियदर्शिनी तिवारी मेडिकल कॉलेज में गायनिक डिपार्टमेंट में कंसल्टेंट हैं। डॉक्टर दम्पती अपने बुजुर्ग-माता पिता को घर पर छोडकऱ ड्यूटी करने जाते हैं।

Corona virus COVID-19 virus
Show More
praveen chaturvedi Desk
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned