scriptCorona wreaks havoc in Jabalpur, black fungus returned after two month | जबलपुर में कोरोना का कहर थमा, दो माह बाद लौटा ब्लैक फंगस, डेंगू के मरीज हुए कम | Patrika News

जबलपुर में कोरोना का कहर थमा, दो माह बाद लौटा ब्लैक फंगस, डेंगू के मरीज हुए कम

जबलपुर में कोरोना का कहर थमा, दो माह बाद लौटा ब्लैक फंगस, डेंगू के मरीज हुए कम

जबलपुर

Published: October 23, 2021 12:56:39 pm

जबलपुर। इस साल कोरोना की दूसरी लहर और फिर उसके बाद अन्य बीमारियों से घिरे शहर के लिए राहत की खबर है। कोरोना की दस्तक के बाद पहली बार संक्रमितों की संख्या सबसे कम हुई है। संक्रमण से डेढ़ महीने से किसी व्यक्तिकी मौत नहीं हुई है। दो महीने पहले तक तेजी से फैल रहे ब्लैक फंगस (म्यूकर माइकोसिस) के मरीजों की संख्या भी घटी है। डेंगू बुखार भी काबू में आ गया है। तीनों ही संक्रमण के नए मरीज अब गिने-चुने ही मिल रहे हैं। कुछ ही मरीज अस्पताल में भर्ती हैं। इनकी सेहत में भी लगातार सुधार हो रहा है।

Corona wreaks havoc in Jabalpur, black fungus returned after two months
Corona wreaks havoc in Jabalpur, black fungus returned after two months

बीमारी से त्रस्त शहर के लिए राहत की खबर
तीनों संक्रमण के कम हैं मरीज, धीरे-धीरे हो रहे स्वस्थ

छह महीने के बाद हालत में सुधार
पिछले साल मार्च में कोरोना की दस्तक हुई। ज्यादा खराब दौर इस साल कोरोना की दूसरी लहर के दौरान अप्रैल और मई में आया। उसके बाद संक्रमित स्वस्थ होना शुरू हुए, तो उनमें पोस्ट कोविड इफेक्ट आया। जुलाई-अगस्त में ब्लैक फंगस के मरीज बढ़े। इससे राहत मिलना प्रारम्भ हुई ही थी कि मौसम ने करवट ली और मच्छरों के हमले से डेंगू बुखार ने पैर पसार लिए। सितंबर में डेंगू जानलेवा बन गया था।

अभी भी सावधानी बहुत जरूरी
तीनों बीमारियों के मोर्चे पर राहत की खबर भले है, लेकिन इनका खतरा अभी पूरी तरह टला नहीं है। जानकारों के अनुसार अभी भी सावधानी बहुत आवश्यक है।

dengue.jpg

इस साल जिले में स्थिति...

कोविड-19: नए केस से ज्यादा डिस्चार्ज
- 35 हजार 250 नए पॉजिटिव केस मिले।
- 35 हजार 274 मरीज स्वस्थ होकर डिस्चार्ज हो चुके हैं।
- 433 संक्रमित की कोरोना से मौत रेकॉर्ड की गई है।
- 09 कोरोना पॉजिटिव केस इस माह अभी तक मिले।
- 20 संक्रमित स्वस्थ हुए हैं, जो कि नए केस से दोगुने हैं।

ब्लैक फंगस: मेडिकल में सिर्फ 16 मरीज भर्ती
- 230 के लगभग पीडि़त मेडिकल में जांच में अभी तक मिले।
- 195 मरीजों की इसमें सर्जरी हुई। 70 के जबड़े निकाले।
- 40 म्यूकर माइकोसिस पीडि़तों की मौत दर्ज की गई है।
- 170 से ज्यादा मरीज स्वस्थ्य होकर डिस्चार्ज हो चुके हैं।
- 16 मरीज ही फिलहाल म्यूकर माइकोसिस वार्ड में भर्ती है।

डेंगू बुखार: अब एक-दो नए केस आ रहे
- 722 के लगभग पीडि़त अभी तक मिले।
- 10 गुना ज्यादा है इससे डेंगू पीडि़तों की वास्तविक संख्या।
- 10 से ज्यादा पीडि़तों की मौत। सरकारी रेकॉर्ड में दर्ज नहीं।
- 90 प्रतिशत डेंगू मरीज स्वस्थ होकर डिस्चार्ज हो चुके हैं।
- 1-2 नए मरीज ही अब प्रतिदिन मिल रहे हैं।


कोरोना वैक्सीनेशन बढऩे के साथ संक्रमण के मामले कम हुए हैं। जो नए मामले आ भी रहे हैं, उनमें गम्भीर लक्षण वाले मरीज नहीं है।
- डॉ. जितेंद्र भार्गव, डायरेक्टर, स्कूल ऑफ एक्सीलेंस इन पलेमोनरी मेडिसिन

म्यूकर माइकोसिस के गम्भीर मरीज सर्जरी के बाद स्वस्थ हो रहे हैं। अब नए केस सामने नहीं आ रहे है। भर्ती मरीजों की संख्या भी कम है।
- डॉ. कविता सचदेवा, प्रमुख, नाक, कान एवं गला विभाग, एनएससीबीएमसी

मौसम में बदलाव शुरू हो गया है। ठंडक महसूस होने लगी है। इससे मच्छरों का पनपना कम हो जाएगा। अब डेंगू का खतरा कम होगा।
- डॉ. अरविंद शर्मा (कम्युनिटी मेडिसिन विशेषज्ञ) उपअधीक्षक, मेडिकल अस्पताल

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

UP Election 2022 : भाजपा उम्मीदवारों की पहली लिस्ट जारी, गोरखपुर से योगी व सिराथू से मौर्या लड़ेंगे चुनावPunjab Assembly Election: कांग्रेस ने जारी की 86 उम्मीदवारों की पहली सूची, चमकोर से चन्नी, अमृतसर पूर्व से सिद्धू मैदान मेंCorona Cases In India: देश में 24 घंटे में कोरोना के 2.68 लाख से ज्यादा केस आए सामने, जानिए क्या है मौत का आंकड़ाअब हर साल 16 जनवरी को मनाया जाएगा National Start-up Dayसीमित दायरे से निकल बड़ा अंतरिक्ष उद्यम बनने की होगी कोशिश: सोमनाथरेलवे का कंफर्म टिकट खोने पर घबरायें नहीं, इन नियमों का करें पालनTesla In India: हमारे यहां लगाएं अपनी इलेक्ट्रिक कार का प्लांट, इस राज्य ने Elon Musk को दिया खुला न्योतासपा को बड़ा झटका, कैराना से प्रत्याशी नाहिद हसन गिरफ्तार, कोर्ट ने 14 दिन की न्यायिक हिरासत में जेल भेजा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.