जबलपुर में ऐसे खत्म होगा कोरोना, ये योद्धा देंगे हर घर की पूरी जानकारी: देखें वीडियो

जबलपुर में ऐसे खत्म होगा कोरोना, ये योद्धा देंगे हर घर की पूरी जानकारी: देखें वीडियो

 

By: Lalit kostha

Updated: 18 Apr 2020, 12:45 PM IST

जबलपुर। शहर में बढ़ रहे कोरोना मरीजों की संख्या को देखते हुए जिला प्रशासन ने कमर कस ली है। प्रशासन अब स्वास्थ्य विभाग के साथ कोरोना की दृष्टि से संवेदनशील क्षेत्रों में रहने वालों का सर्वे करा रही है। इसकी शुरुआत शनिवार से हो गई है। इसके लिए शहरी व ग्रामीण क्षेत्रों के एएनएम कार्यकर्ताओं को लगाया गया है। जिन्हें 15-15 घरों का सर्वे करने की जिम्मेदारी दी गई है। हालांकि जिला प्रशासन के इस आदेश के बाद कुछ एएनएम कार्यकर्ताओं में रोष भी है कि वे ग्रामीण क्षेत्रों के हैं तो उन्हें संवेदनशील क्षेत्रों में क्यों कार्य करने के लिए कहा गया है। विरोध के बावजूद कार्यकर्ता सर्वे के लिए निकल पड़े हैं।

 

कोरोना योद्धा देंगे जानकारी
शहरी क्षेत्रों में अलग अलग टीमों में कार्य विभाजन किया गया है। घर घर सर्वे करने का काम दिया गया है। इनमें उनके घर आने जाने वाले मेहमानों व बीमारी आदि जैस सर्दी खांसी बुखार या अन्य कोई भी शारिरिक परेशानी हुई है उसकी जानकारी सार्थक प के माध्यम से अधिकारियों व विभाग को भेजेंगे। प्रत्येक एएनएम कार्यकर्ता को 15 घरों का सर्वे करना है। शहर में संवेदनशील क्षेत्रों में सर्वे कराया जा रहा है।

स्वास्थ्य विभाग की एएनएम कार्यकर्ता जो ग्रामीण क्षेत्र से हैं, उन्हें शहरी क्षेत्र में लगाया गया है। विरोध भी हो रहा है। अधिकतर एएनएम कोरोना संक्रमित क्षेत्रों में ड्यूटी लगाए जाने का विरोध भी कर रही हैं। उनका कहना है कि वे ग्रामीण क्षेत्रों के लिए काम करती हैं तो उन्हें शहर में क्यों बुलाया जा रहा है। एक एएनएम ने नाम न बताने पर कहा कि जो भी स्वास्थ्य कार्यकर्ता काम करने से इंकार कर रही है,उसे अधिकारियों द्वारा आइसोलेशन वार्ड, क्वारंटाइन ड्यूटी और कोरोना मरीजों की सेवा में लगा दिया जाएगा, जिसके बाद वे घर भी नहीं जा सकेंगी। जिससे एएनएम कार्यकर्ताओं में भय की स्थिति बनी हुई है। हालाँकि सभी सर्वे में पूरी ईमानदारी से काम कर रहे हैं।

 

Show More
Lalit kostha Desk
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned