अब काम दिखाने होड़, पार्षद कर रहे 'हाय-तौबा'

- अब कार्यकाल की विदाई की बेला सामने खड़ी है। इसलिए शहर के ज्यादातर पार्षद परेशान हैं।

जबलपुर. पार्षद किसी भी शहर की विकास की धुरी के रूप में होते हैं। वे चाहें, तो विकास का कोई भी काम करा लें। बहाना बनाने पर उतर आएं, तो हजार तर्क भी उनके पास होते हैं। नगर निगम चुनाव की आचार संहिता की सुगबुगाहट के बीच लगभग पूरे प्रदेश में पार्षदों की सक्रियता देखते बन रही है। इससे जबलपुर शहर भी अछूता नहीं है। यह भी कह सकते हैं कि यहां के पार्षद 'हाय-तोबाÓ की स्थिति में हैं। क्योंकि, शहर में सड़कें बनीं नहीं। नालियों की बदहाली किसी से छिपी नहीं। कॉलोनियों के उद्यान उजाड़ पड़े हैं।
अब कार्यकाल की विदाई की बेला सामने खड़ी है। इसलिए शहर के ज्यादातर पार्षद परेशान हैं। वे आम लोगों के सवालों के जवाब तलाश रहे हैं। समझ नहीं पा रहे हैं कि क्षेत्र में उनका ही समर्थक/कार्यकर्ता पूछेगा कि नेताजी आपने कौन सा काम किया है, तो जवाब क्या देंगे? काम कराने के लिए अभी कुछ समय बचा है, तो ई-टेंडरिंग की लम्बी प्रक्रिया आड़े आ रही है। आचार संहिता लागू होते ही नए विकास कार्य थम जाएंगे। इन हालात में पार्षदों ने आनन-फानन की स्थिति में 'टेबल टेंडरÓ का सहारा लेना शुरू किया है। इसके जरिए कम लम्बाई की सड़कों पर डामर पुतवाया जा रहा है। नालियों में सीमेंट के थिगड़े चिपकाए जा रहे हैं। पता है कि उद्यानों में हरियाली ला नहीं पाएंगे। ऐसे में वहां के झूले सुधरवा दिए जा रहे हैं। हालांकि, पुराना भुगतान न होने से ठेकेदार भी नखरे दिखा रहे हैं।
मतदाता भी मौके की नजाकत समझ रहे हैं। उन्हें लग रहा है कि इस समय तो शायद काम हो जाएगा। इसलिए नेताजी को काम की लिस्ट थमा देते हैं। उनके सामने पार्षद रोना भी खूब रोते हैं। कहते हैं कि समय से फंड स्वीकृत नहीं हुआ। चार महीने बारिश में बीत गए। जबकि, असलियत यह है कि कई पार्षद तो पांच साल के कार्यकाल में कॉलोनियों में दिखे ही नहीं। इसीलिए उन्हें अब भागमभाग करनी पड़ रही है।

Show More
govind thakre
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned