लॉकडाउन में घायल होकर तड़प रही थी गाय

जंगली जानवर ने किया था गाय पर हमला, नहीं मिल पा रहा था उपचार, युवाओं ने बचाया, रानी दुर्गावती विवि विक्रम हॉस्टल के समीप जख्मी हालत में घायल पड़ी थी गाय, पशुचिकित्सकों को मौके पर बुलाया, कराया प्राथमिक उपचार, रात 12.30 बजे दोबारा गए गाय को देखने

By: Mayank Kumar Sahu

Published: 13 Apr 2020, 04:19 PM IST

जबलपुर।

रानी दुर्गावती विश्वविद्यालय विक्रम छात्रावास के पास लॉक डाउन के दौरान जंगली जानवार के हमले से एक गाय घायल होकर झाडि़यों के पास बेसुध पड़ी थी। लॉकडाउन होने के चलते सडक़ों पर सन्नाटे के कारण लोगों की भी नजरें नहीं जा रहीं थी। इस बीच किसी की नजर घायल गाय पर गई तो पशुओं समाज सेवा से जुड़े कुछ लोगों से सहायता मांगी गई। इमरान मंसूरी तत्काल अपने साथ कुछ युवाओं को लेकर मौके पर पहुंचे। हॉस्टल पहुंचकर गाय को गंभीर हालत में देखकर मौके पर ही पशुचिकित्सकों को फोन लगाकर बुलाया गया।

सडक़ पर ही चढ़ाई ड्रिप
घायल मूक गाय कमजोरी के चलते खड़े होने में असमर्थ हो रही थी। एेसे में उसे चिकित्सालय तक ले जाना संभव नहीं था। स्थिति को देखते हुए मौके पर ही उपचार करने का निर्णय लिया गया। सडक़ किनारे ही ग्लूकोज की ड्रिप चढ़ाई गई। इस दौरान एक साथ हाथों में ग्लूकोज की बॉटल लिए खड़ा रहा। सीरिंज, ग्लूकोज चढ़ाकर प्राथमिक उपचार किया गया।

हाईड्रोलिक एम्बूलेंस भी बुलाई

मंसूरी ने बताया कि उन्हें गाय के घायल होने की सूचना मिली थी। गाय के पिछले हिस्से में गहरे जख्म थे जो कि किसी जंगली जानवर द्वारा हमला किया जाना प्रतीत हो रहा था। पशुचिकित्सालय में ले जाने के लिए हाईड्रोलिक एम्बूलेंस भी बुलाई गई। प्राथमिक उपचार कर उनकी टीम रात १२.३० बजे दोबारा गाय को देखने पहुंची। उनके साथ सदाब अली, उबेस खान, राहुल बघेल ने मदद की। उनकी टीम मानव और मूक पशुओं को भी बचाने और उपचार करने में मदद करती है।

Mayank Kumar Sahu Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned