Eye Connect:जबलपुर आई कनेक्ट से रोकेंगे क्राइम

-एसपी सिटी ने तैयार की योजना, जल्द शुरू होगी कवायद

By: santosh singh

Published: 01 Jun 2020, 11:45 PM IST

जबलपुर। आई कनेक्ट प्रोजेक्ट से पुलिस शहर में होने वाले अपराधों को हाटेक तरीका अपना कर रोकेगी। ये प्रोजेक्ट एसपी सिटी अमित कुमार ने तैयार किया है। इस प्रोजेक्ट में सरकारी, अद्र्ध सरकारी, निजी प्रतिष्ठान, बैंक, अस्पताल आदि के कैमरों को कनेक्ट कर शहर की हाईटेक निगरानी की प्रणाली विकसित की जाएगी। कुछ संस्थाओं और व्यापारियों के साथ आम जन को भी कैमरे लगाने के लिए प्रेरित किया जाएगा। इन कैमरों को पुलिस कंट्रोल रूम से जोडकऱ ये प्रणाली विकसित की जाएगी।
फैक्ट-
125 स्थानों पर लगे कैमरे-625
शहर के थानों में लगे कैमरे-24
बैंकों की संख्या-250
निजी क्लीनिक व अस्पतालों की संख्या-300 लगभग
व्यवसायिक प्रतिष्ठान-10 हजार लगभग
बड़ी कॉलोनी-220 लगभग
एटीएम की संख्या-250 लगभग
माइक्रो लेवल पर तैयार किया गया प्लान-
आईपीएस अधिकारी अमित कुमार ने बताया कि आने वाले समय में तकनीक से ही अपराध पर अंकुश लगाया जा सकेगा। अभी शहर में 125 स्थानों पर 625 कैमरे लगे हैं। वहीं ट्रैफिक की तरफ से भी इतने ही और कैमरे लगाए जाने प्रस्तावित हैं। नगर निगम की तफ से भी 20 चौराहो को कनेक्ट किया गया है। इन कैमरों के अलावा व्यापारिक क्षेत्र, आवासीय क्षेत्र, बैंक, अस्पताल, एटीएम, स्कूल-कॉलेज, शासकीय और अद्र्धशासकीय विभागों के साथ कॉलोनियों और बड़े लोगों को भी सीसीटीवी कैमरे लगाने के लिए प्रेरित किया जाएगा। इसके लिए थानेवार माइक्रो लेवल पर तैयारी होगी। कोशिश होगी कि सभी छोटी-बड़ी कॉलोनियों इन कैमरों से घिर जाएं। इसका फायदा ये होगा कि अपराध होने पर भागने वाले आरोपियों को न सिर्फ टै्रक किया जा सकेगा। बल्कि उनकी पहचान करने में भी आसानी होगी।
ये कवायद भी शुरू-
-सीसीटीवी कैमरों का एनॉलसिस करने के लिए कर्मियों की ड्यूटी लगेगी।
-वारदात से पहले ट्रिपलिंग या संदिग्ध दिखने वालों की धरपकड़ होगी।
-ऐसे लोगों के दिखते ही सीसीटीवी कंट्रोल रूम से कर्मी सम्बंधित एफआरवी या चीता को सतर्क कर देंगे।

Show More
santosh singh Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned