Curfew effect : गर्मी में घरों में निकल रहे सांप, पकडऩे वालों को रास्ते में रोक लेती है पुलिस

कर्फ्यू के दौरान सर्प विशेषज्ञों को नहीं मिला अनुमति प्रमाण पत्र, शहर में रोज सामने आ रहे 50 से 60 मामले

 

By: reetesh pyasi

Published: 28 Mar 2020, 08:56 PM IST

जबलपुर। कफ्र्यू के दौरान घरों में सांप निकलने पर लोगों को मुसीबत का सामना करना पड़ रहा है। मदद मांगने पर वन विभाग और पुलिस कंट्रोल रूम से निजी सर्प विशेषज्ञों के मोबाइल नम्बर दिए जाते हैं। लेकि, सर्प विशेषज्ञों के पास कफ्र्यू पास नहीं होने पर उन्हें पुलिस रास्ते में ही रोक रही है।
वन विभाग के रेस्क्यू टीम में सर्प विशेषज्ञ नहीं है। निजी विशेषज्ञों के भरोसे ही शहरी आबादी में सांपों का रेस्क्यू किया जाता है। सर्प विशेषज्ञों के अनुसार शहर में हर दिन 50-60 मामले आ रहे हैं।

केस-1
ब्योहारबाग निवासी उमेश चंद ठाकुर ने बताया कि उनके पड़ोसी के घर में शुक्रवार सुबह 10 बजे सांप दिखा। 101 नम्बर पर डायल करने पर वन्य प्राणी विशेषज्ञ का मोबाइल नम्बर दिया। विशेषज्ञ गजेंद्र दुबे ने बताया कि पुलिस ने रास्ते में रोक लिया। एक घंटे तक स्थानीय युवक के प्रयास के बाद सांप निकला।

केस-2
विजय नगर स्थित कचनार सिटी निवासी विपिन साहू के लॉन में सांप घुस गया। फोन लगाने पर रेस्क्यू टीम ने उन्हें निजी सर्प विशेषज्ञ का मोबाइल नम्बर दिया। फोन लगाने के बाद भी मदद नहीं मिली। परिवार लोग दरवाजा बंद कर किया छत चले गए। सांप नहीं पकड़े जाने के कारण सभी दहशत में रहे।

घरों में सांप निकलने पर रेस्क्यू करना आवश्यक हो जाता है। शहर के सर्प विशेषज्ञों को कफ्र्यू के दौरान सांपों का रेस्क्यू करने के लिए अनुमति दिलाई जाएगी। जल्द ही इसके लिए कार्य किया जाएगा।
रवींद्र मणि त्रिपाठी, डीएफओ

Corona virus
reetesh pyasi Desk
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned