सज रहे मां के दरबार और पूजा पंडाल

सज रहे मां के दरबार और पूजा पंडाल

sudarshan ahirwa | Publish: Mar, 15 2018 07:30:00 AM (IST) Jabalpur, Madhya Pradesh, India

तीन दिन बाद शुरू हो रहे चैत्र नवरात्र की तैयारी, मंदिरों में की जा रही सफाई और रंगरोगन

जबलपुर. नवरात्र में भक्तों को दिव्य दर्शन के लिए देवियों का दरबार सजाया जा रहा है। १८ मार्च से शुरू हो रही नवरात्र में कई मंदिरों का स्वरूप और व्यवस्थाएं बदली हुई दिखेंगी। मंदिरों में साफ-सफाई और रंग रोगन किया जा रहा है।
गोंडवाना कालीन मंदिर बड़ी खेरमाई में नवरात्र के मौके पर विशेष तैयारियां की जा रही है। मंदिर में अखंड ज्योति जलेगी जबकि, 15 दिवसीय मेला में दूर-दराज के श्रद्धालु आएंगे। मंदिर का आकर्षक स्वरूप देने के लिए कार्य चल रहा है। राजस्थानी पत्थरों से मंदिर का स्वरूप बदला जा रहा है। नवरात्र में भोर से देर रात तक भक्तों की कतार लगती है।
शंकराचार्य मठ सिविक सेंटर स्थित बगलामुखी मंदिर में नवरात्र में विशेष अनुष्ठान की तैयारी की जा रही है। देश-विदेश के श्रद्धालु अखंड ज्योति जलाएंगे। मंदिर के पुजारी ब्रह्मचारी चैतन्यानंद ने बताया कि बगलामुखी की उपासना से भक्तों की मनोकामनाएं पूर्ण होती हैं। जो भक्त विदेश में हैं, वे रिश्तेदारों के माध्यम से अपना नाम दर्ज करा रहे हैं।
बूढ़ी खेरमाई मंदिर में नवरात्र के मौके पर पूजा अर्चना की तैयारी की जा रही है। मंदिर में अखंड ज्योति कलश स्थापित होंगे। मंदिर जवारा जुलूस में भक्तगण बाने धंसाकर भक्ति की परीक्षा देते हैं। मंदिर में बाने का वितरण भी शुरू हो गया है। वहीं पंडा की मढि़या स्थित मंदिर में रंग रोगन किया जा रहा है। क्षेत्र के लोग मंदिर में अखंड कलश स्थापित करेंगे। काली मंदिर सदर और शारदा मंदिर मदन महल में भक्तगण भगवती की उपासना की तैयारी कर रहे हैं।

विदेश में बैठे भक्त भी जलाएंगे ज्योति कलश
त्रिपुर सुंदरी मंदिर तेवर, बगलामुखी मंदिर सिविक सेंटर, बड़ी खेरमाई मंदिर में अखंड ज्योति जलेगी। देश- विदेश के भक्तगण सात समंदर पार से अखंड ज्योति जलाने के लिए आस्था राशि जमा कर रहे हैं। पांच हजार वर्ष के प्राचीन त्रिपुर सुंदरी मंदिर परिसर में विशेष बदलाव किया है। गर्भगृह का आकार बड़ा किया गया है।अब दिव्यांगजन भी रैम्प के सहारे गर्भ गृह पहुंचकर दिव्य दर्शन कर सकेंगे। जो भक्तगण घी ज्योति, तेल ज्योति और जवारा कलश स्थापित करना चाहते हैं, वे आस्था राशि जमा कर रहे हैं। अमेरिका, थाइलैंड सहित कई देशों के श्रद्धालु मंदिर समिति के बैंक खाते में अखंड ज्योति की राशि जमा कर रहे हैं।

Ad Block is Banned