पोकरण में गरजी धनुष तोप, पहले गोले ने ही भेदा लक्ष्य

यूजर ट्रायल शुरू, 47 डिग्री तापमान में 12 से ज्यादा बार फायरिंग

By: amaresh singh

Published: 24 May 2018, 08:26 PM IST

जबलपुर। गन कैरिज फैक्ट्री (जीसीएफ) में तैयार स्वदेशी बोफोर्स धनुष तोप का यूजर ट्रायल गुरुवार से राजस्थान के पोकरण में शुरू हो गया। जब पहला गोला तोप से छोड़ा गया तो वह 38 किलोमीटर दूर बने लक्ष्य पर जाकर गिरा। वहां मौजूद आर्मी अफसर संतुष्ट नजर आए। सुबह से लेकर दोपहर तक एक दर्जन से ज्यादा राउंड की फायरिंग की गई। अब राउंड की संख्या में इजाफा किया जाएगा।

धनुष तोप का यूजर ट्रायल किया जा रहा है

पोकरण के लाठी रेंज में 155 एमएम 45 कैलीबर धनुष तोप का यूजर ट्रायल किया जा रहा है। जीसीएफ से इस काम के लिए छह तोप वहां भेजी गई हैं। रक्षा मंत्रालय से आई टीम के निर्देशन में पूरी फायरिंग की जा रही है। पहले दिन एक तोप से गोला दागकर देखा गया। सूत्रों ने बताया कि दोपहर तक चली फायरिंग संतोषजनक रही। अब दूसरी तोप से चरणबद्ध तरीके से राउंड की फायरिंग कर तोप की क्षमताओं का आकलन किया जाएगा।

गोला सही निशाने पर पहुंचा

सूत्रों ने बताया कि सबसे पहले आर्मी के जवानों की टीम ने एक तोप को फायरिंग स्पॉट लाया। फायरिंग से पहले परीक्षण स्थल का कर्मचारियों द्वारा निरीक्षण किया गया। वहां किसी व्यक्ति या जानवर के नहीं होने के बाद फायरिंग के लिए हरी झंडी दी गई। फिर जीसीएफ और आर्मी के अफसरों की मौजूदगी में फायरिंग शुरू हुई। जोरदार धमाके के साथ छोड़ा गया पहला ही गोला सही निशाने पर पहुंचा।

एक दर्जन से ज्यादा राउंड की फायरिंग की गई

थोडे़-थोड़े अंतराल में 47 डिग्री से ज्यादा तापमान में एक दर्जन से ज्यादा राउंड की फायरिंग की गई। यूजर ट्रायल का मकसद तोप के बैरल में लगे मजल के अलावा पूरी तोप के संचालन की प्रक्रिया का आकलन किया जाना है। बीते साल टेस्टिंग के दौरान दो बार मजल फटने की घटना हुई थी। इससे पहले ओडिशा में भी टेस्टिंग की गई, वहां यह समस्या नहीं दिखी। लेकिन उच्च तापमान में आकलन सेना द्वारा किया जा रहा है।

 

amaresh singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned