कुत्ते ने नोचा एक साल के इस मासूम का चेहरा, अस्पताल गए तो मिला यह जवाब

कैमोरी गांव से आया परिवार..परिजन ने विक्टोरिया अस्पताल में कराया भर्ती

By: deepak deewan

Published: 04 Jan 2018, 07:24 AM IST

जबलपुर . पाटन और कटंगी के बीच स्थित कैमोरी गांव में आंगन में खेल रहे एक साल के मासूम बच्चे का चेहरा कुत्ते ने नोच लिया। परिजन उसे मेडिकल अस्पताल ले गए। यहां दो घंटे इंतजार के बाद भी इलाज शुरू नहीं होने पर परिजन उसे विक्टोरिया अस्पताल ले गए, जहां उसे भर्ती कर एआरवी इंजेक्शन लगाया गया।


आंगन में खेलते वक्त काटा
कैमोरी गांव निवासी दशरथ ने बताया, मंगलवार सुबह उनका बेटा महेन्द्र (एक साल) आंगन में खेल रहा था। इसी दौरान एक कुत्ते ने उस पर हमला किया। जब तक बच्चे की मां उसे बचाती, कुत्ते ने उसके मासूम के चेहरे को लहूलुहान कर दिया। वे बच्चे को पाटन अस्पताल ले गए। एआरवी इंजेक्शन नहीं होने पर डॉक्टर ने मेडिकल अस्पताल ले जाने की सलाह दी। दशरथ ने बताया, वे पाटन अस्पताल से बच्चे को मेडिकल अस्पताल स्थित कैजुअल्टी ले गए। यहां एक इंजेक्शन लगाने के बाद वार्ड क्रमांक-२१ में भेजा गया। वे वार्ड में बच्चे को लेकर दो घंटे तक खड़े रहे।


दो-तीन दिन में सूखेगा घाव
इलाज नहीं मिलने पर वे विक्टोरिया अस्पताल पहुंचे। यहां मासूम के चेहरे और गाल पर टांके लगाए गए। घाव गहरा होने के कारण इम्युनोग्लोबलीन इंजेक्शन भी लगाया गया। शिशु रोग विशेषज्ञ डॉ. मंजू अग्रवाल के अनुसार बच्चे के चेहरे पर गहरा जख्म है। उसे इंजेक्शन लगा गया है। दो-तीन दिन में घाव सूखने पर डिस्चार्ज किया जाएगा। कुत्ते के कटाने पर लापरवाही नहीं करना चाहिए। सात दिन से १५ वर्ष के अंदर रैबीज का संक्रमण उभर सकता है।


इधर, ऑटो चालक पर हमला- शहर के मुख्य रेलवे स्टेशन के पास बुधवार सुबह एक कुत्ते ने ऑटो चालक पर हमला किया। विक्टोरिया अस्पताल में उसे एआरवी इंजेक्शन लगाया गया। गौरतलब है कि पिछले माह ही एक पागल कुत्ते ने दो दर्जन से ज्यादा लोगों को काट लिया था। इसके बाद भी आवारा कुत्तों के आतंक पर अंकुश नहीं लगाया जा रहा है।


deepak deewan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned