बिजली संकट: बारिश की कमी, 3500 मेगावॉट तक पहुंची बिजली की खपत

बिजली संकट: बारिश की कमी, 3500 मेगावॉट तक पहुंची बिजली की खपत

By: Lalit kostha

Published: 11 Sep 2021, 01:06 PM IST

जबलपुर। महाकोशल क्षेत्र में इस बार पर्याप्त बारिश नहीं होने के कारण बिजली की मांग में इजाफ ा हुआ है। करीब 1300 मेगावॉट बिजली की डिमांड इस सीजन में बढ़ गई है। यह मांग प्रदेश में सर्वाधिक पूर्व क्षेत्र के अंतर्गत दर्ज की गई है। जिसकी मुख्य वजह बारिश कम होने के साथ ही कृषि एवं ओद्यौगिक क्षेत्र में भी बिजली की मांग होना है। पूर्व क्षेत्र बिजली कंपनी के अंर्तगत करीब 60 लाख से अधिक बिजली उपभोक्ता हैं।

कृषि क्षेत्र के साथ इंडस्ट्री में भी बढ़ी डिमांड

3500 मेगावॉट हुई मांग
इस समय बिजली की मांग 3500 मेगावाट तक जा पहुंची है। पहले यह मांग 2200 मेगावॉट के आस पास रहती थी। खेतों में सिंचाई के लिए ज्यादा बिजली दी जा रही है। वहीं औद्योगिक क्षेत्रों में भी पूरे लोड के साथ इकाइयों में काम शुरू कर दिया है। यदि बारिश हो जाती है तो मांग में कमी आ सकती है। खेतों में सिंचाई के लिए 12 घंटे बिजली प्रदान करने का क्रम जारी रहेगा।

प्रतिदिन की डिमांड
3500 मेगावॉट मांग
1300 मेगावॉट ज्यादा
1500 मेगावॉट घरेलू क्षेत्र
1100 मेगावॉट कृषि क्षेत्र
900 मेगावॉट औद्योगिक क्षेत्र

कंपनियों में बिजली का उत्पादन
3500 पूर्व क्षेत्र
3383 मध्य क्षेत्र
2960 पश्चिम क्षेत्र
पूर्व क्षेत्र कंपनी में उपभोक्ता
60 लाख घरेलू उपभोक्ता
40 लाख ग्रामीण उपभोक्ता
1800 एचटी उपभोक्ता

Show More
Lalit kostha Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned