पढ़ाई के लिए आई थी होस्टल पर ऐसे बुरे हाल में मिली इंजीनियरिंग की स्टूडेंट

होस्टल में ही रहती थी

By: deepak deewan

Published: 07 Jun 2018, 08:45 AM IST

जबलपुर. पास ही के कस्बे शहपुरा की एक युवती पढ़ाई के लिए जबलपुर आई थी। शहपुरा शहर से मात्र २० मिनिट की दूरी पर है पर इंजीनियरिंग की यह छात्रा अध्ययन में ज्यादा समय देने के लिए यहां होस्टल में ही रहती थी लेकिन उसके सपने पूरे नहीं हो सके। मौत ने उसे असमय ही सबसे छीन लिया।


मां के साथ गई थी भेड़ाघाट
यह छात्रा अपनी मां के साथ भेड़ाघाट गई थी जहां वह नहाते वक्त नर्मदा में डूब गई। नहाते हुए पैर फिसलने से वह बहने लगी तो मदद के लिए गुहार भी लगाई लेकिन जब तक लोग कुछ समझ पाते तब तक वह आंखों से ओझल हो चुकी थी। तीन दिन पूर्व घटी इस दुर्घटना के तुरंत बाद से ही उसकी तलाश की जा रही थी लेकिन पुलिस ओैर गोताखोरों को सफलता नहीं मिल सकी थी।


72 घंटे बाद मिला इंजीनियरिंग छात्रा का शव
आखिरकार उसका शव मिल ही गया। भेड़ाघाट थाना क्षेत्र अंतर्गत गौबच्छाघाट में बही इंजीनियरिंग छात्रा का शव 72घंटे बाद शहपुरा के रामघाट पिपरिया में मिला। पुलिस ने मर्ग कायम कर मामला दर्ज कर जांच में लिया है।


नदी में उतरा रहा था शव
पुलिस ने बताया, तीन जून को टेढ़ चौकी शहपुरा निवासी अंजली (22) मां माया विश्वकर्मा के साथ गौबच्छाघाट में नहाने गयी थी। उसी दौरान पैर फिसल गया और वह बह गयी थी। तब से पुलिस उसे तलाश रही थी। बुधवार को तीसरे दिन दोपहर दो बजे छात्रा का शव शहपुरा थाना अंतर्गत रामघाट पिपरिया में उतराता मिला। ग्रामीणों की सूचना पर पहुंचे परिजन ने उसकी पहचान अंजली के रूप में की।

शहपुरा की अंजली पढ़ाई के लिए जबलपुर आई थी। शहपुरा शहर से मात्र २० मिनिट की दूरी पर है पर अंजली अध्ययन में ज्यादा समय देने के लिए यहां होस्टल में ही रहती थी लेकिन उसके सपने पूरे नहीं हो सके। मौत ने उसे असमय ही सबसे छीन लिया।

 

deepak deewan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned