लॉकडाउन के एक्स्ट्रा टाइम में एग्जाम की न्यू स्टे्रटजी, जेईई मेन्स और नीट परीक्षाओं के लिए ऐसे करें तैयारी

लॉकडाउन के एक्स्ट्रा टाइम में एग्जाम की न्यू स्टे्रटजी, जेईई मेन्स और नीट परीक्षाओं के लिए ऐसे करें तैयारी

By: abhishek dixit

Published: 25 May 2020, 01:13 PM IST

जबलपुर. लॉकडाउन खुलने के बाद अब परीक्षाओं का दौर शुरू होगा। क्योंकि जेईई मेन्स और नीट परीक्षाओं की नई तरीखों की घोषणा कर दी गई। जेईई मेन्स 18 से 23 जुलाई के बीच होंगे, वहीं 26 जुलाई को नीट की परीक्षा होगी। दोनों की तैयारी के लिए स्टूडेंट्स को अब पर्याप्त समय मिल गया है। ऐसे में लॉकडाउन के एक्सट्रा समय में एग्जाम की न्यू स्टे्रटजी तैयार करने की प्लानिंग करनी होगी, ताकि तैयारियां खराब न हों।

स्ट्रेस दूर करने का काम करें
काउंसलर सीमा तिवारी का कहना है कि स्ट्रेस दूर करने के लिए पढ़ाई के बीच-बीच में कॉमेडी वीडियोज और क्लिप्स देखना माइंड रिफ्रैश करने का काम करता है। नेगेटिव बातों को दूर रखें, क्योंकि इससे स्टे्रस सबसे ज्यादा बढ़ता है। मोटिवेशनल वीडियोज एग्जाम में बेस्ट परफॉर्मेंस के लिए मोटिवेट करते हैं।

मॉक टेस्ट के बाद सेल्फ एनालिसिस
बोर्ड द्वारा एग्जाम को लेकर मॉक टेस्ट भी चलाए जा रहे हैं ऐसे में मॉक टेस्ट खत्म होने के बाद सेल्फ एनालिसिस करें कि टेस्ट के दौरान किस-किस तरह की गलतियां हुई हैं। इससे अभी भी जिन सब्जेक्ट में प्रॉब्लम आ रही है उन्हें दूर करने का मौका मिल जाएगा।

रिवीजन के लिए भरपूर समय
लॉकडाउन में रिवीजन के लिए भरपूर समय है। ऐसे में गलत सवालों में कैलकुलेशन की गलती और कॉन्सेप्ट की प्रॉब्लम आती है तो पेपर प्रैक्टिस बढ़ाना अच्छा होगा। रोजाना 600 सवाल हल करें। 8 से 10 घंटे की डेली तैयारी जरूरी है। इसके लिए सिर्फ एनसीईआरटी पर फोकस रखें। सवालों की प्रैक्टिस करें और स्पीड मेंटेन करें।

लैंग्वेज और स्किल पर फोकस
कैट का एग्जाम 21 जून को होना तय हुआ है। ऐसे में लॉकडाउन का खाली समय प्रिपरेशन को शार्प करने वाला है। ऐसे में लैंग्वेज और कॉम्प्रेहेंसिव स्किल्स को बढ़ाने पर फोकस किया जाना चाहिए। इसके साथ ही दिन में एक मॉक टेस्ट जरूर देना चाहिए। इसके साथ ही ऑनलाइन क्लासेज में रेग्यूलर रहना चाहिए, ताकि स्टडी का रिदम न टूटे।

पेपर एनालिसिस करने की जरूरत
एक्सपट्र्स का कहना है कि एग्जाम प्रिपरेशन के लिए सेल्फ एनालिसिस होना बहुत जरूरी है। इससे मिस्टेक दूर होंगी। एनसीईआरटी बुक्स को रिवाइज करेंगे तो नॉलेज ब?ेगा। सवाल को जल्दबाजी में प?ने, एक ही पार्ट में ज्यादा समय देने के कारण क्वेश्चन छूटने जैसी प्रॉब्लम्स हो सकती है।

एक वीक में दो पेपर सॉल्व करें
कैंडिडेट्स को हर हफ्ते दो पेपर्स सॉल्व करने होंगे। इसमें एक मेन और दूसरा एडवांस का होना चाहिए, क्योंकि स्टूडेंट्स को एडवांस के लिए भी ज्यादा समय नहीं मिलेगा। 30 सेकंड में एक सवाल हल करने की कोशिश करें।

Show More
abhishek dixit
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned