scriptexhibition center jabalpur for msme business, Jabalpur Convention | मप्र: अब उत्पादों की खूबियां बताने के लिए मिलेगा हाईटेक सर्वसुविधायुक्त मंच, यहां बनकर हुआ तैयार | Patrika News

मप्र: अब उत्पादों की खूबियां बताने के लिए मिलेगा हाईटेक सर्वसुविधायुक्त मंच, यहां बनकर हुआ तैयार

मप्र: अब उत्पादों की खूबियां बताने के लिए मिलेगा हाईटेक सर्वसुविधायुक्त मंच, यहां बनकर हुआ तैयार

 

जबलपुर

Published: February 23, 2022 10:56:10 am

जबलपुर। शहर के एमएसएमई उद्योगों में बने उत्पादों की खूबियां और उपयोगिता बताने के लिए अब नई जगह तैयार हो रही है। शासन के उद्योग विभाग ने माढ़ोताल में छह एकड़ से ज्यादा जगह पर प्रदर्शनी केंद्र (एग्जीविशन सेंटर) का निर्माण कराया है। यहां एक बड़ा हॉल और खुला मैदान भी है। फिलहाल केंद्र परिसर में खुली जगह का समतलीकरण और पार्र्किंग स्थल को विकसित किया जा रहा है।

msme.jpg
exhibition center jabalpur

माढ़ोताल में तैयार हो रहा एग्जीविशन सेंटर, छह एकड़ से ज्यादा जगह
उत्पादों की खूबी बताने के लिए मिल सकेगा नया मंच
मुख्यमंत्री ने की थी घोषणा

अभी तक इस तरह का केंद्र नहीं होने से छोटे उद्यमियों को मार्केटिंग के लिए जगह नहीं मिलती थी। भविष्य में विकसित होने वाले क्लस्टर के उत्पादों को प्रदर्शित करने के लिए जिला व्यापार एवं उद्योग केंद्र इसका निर्माण करा रहा है। अभी तक इस तरह के आयोजन निजी जगह या भवनों में होते हैं। लेकिन, इनका किराया वहन करना मुश्किल होता है। इस केंद्र की घोषणा पूर्व में मुख्यमंत्री ने की थी। तब जबलपुर के अलावा प्रदेश के कुछ प्रमुख क्षेत्रों में एमएसएमई उद्योगों के उत्पादों को प्रदर्शित करने के लिए ऐसे केंद्रों के निर्माण के लिए प्रस्ताव तैयार किया गया था। अब इसका निर्माण किया जा रहा है। दमोहनाका रोड पर माढ़ोताल में उद्योग विभाग को आवंटित भूमि पर ही इसका निर्माण कराया जा रहा है। अभी भवन का निर्माण हो चुका है। मैदान का समतलीकरण एवं पार्र्किंग बननी है।

ढाई करोड़ से ज्यादा लागत
6.9 एकड़ क्षेत्रफल में बने केंद्र का निर्माण करीब 2 करोड़ 67 लाख रुपए की लागत से किया जा रहा है। इसमें एक भवन और बाकी खुला क्षेत्र रहेगा। छोटे आयोजन के लिए भवन और बड़ी प्रदर्शनी के लिए ओपन एरिया का उपयोग उद्यमी कर सकेंगे। जिले में आठ हजार से ज्यादा एमएसएमई उद्योग हैं, जिनमें कई प्रकार की वस्तुएं तैयार की जाती हैं। लेकिन, उनकी विशेषताएं बताने के लिए शासकीय स्तर पर कोई स्थान नहीं है। इसलिए इस प्रोजेक्ट को उपयोगी माना जा रहा है।

एग्जीविशन सेंटर का निर्माण किया जा रहा है। इसका उपयोग एमएसएमई उद्योगों में तैयार होने वाले उत्पादों की प्रदर्शनी के रूप में किया जाएगा। निर्माण कार्य पूरा होने पर आवंटन किया जाएगा।
- विनीत रजक, महाप्रबंधक, जिला व्यापार एवं उद्योग केंद्र

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

PM Modi in Gujarat: राजकोट को दी 400 करोड़ से बने हॉस्पिटल की सौगात, बोले- 8 साल से गांधी व पटेल के सपनों का भारत बना रहापंजाब की राह राजस्थान: मंत्री-विधायक खोल रहे नौकरशाही के खिलाफ मोर्चा, आलाकमान तक शिकायतेंई-कॉमर्स साइटों के फेक रिव्यू पर लगेगी लगाम, जांच करने के लिए सरकार तैयार करेगी प्लेटफॉर्मVIP कल्चर पर पंजाब की मान सरकार का एक और वार, 424 वीआईपी को दी रही सुरक्षा व्यवस्था की खत्मओडिशा में "भ्रूण लिंग" जांच गिरोह का भंडाफोड़, 13 गिरफ्तारकौन हैं IAS अधिकारी कीर्ति जल्ली, जो असम के बाढ़ प्रभावितों को बचाने के लिए खुद कीचड़ में उतरींमां की खराब तबीयत के बावजूद बल्लेबाजों पर कहर बनकर टूटे ओबेड मैकॉय, संगकारा ने जमकर की तारीफAnother Front of Inflation : अडानी समूह इंडोनेशिया से खरीद राजस्थान पहुंचाएगा तीन गुना महंगा कोयला, जेब कटना तय
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.