कोरोना की तरह डेंगू भी बदल रहा चरित्र, विशेषज्ञ चकित

-जिले में डेंगू के मिल चुके हैं 410 मरीज
-रहस्यमय बुखार से हजारों पीड़ित
-मरीजों के लगातार घट रहे प्लेटलेट्स

By: Ajay Chaturvedi

Published: 14 Sep 2021, 01:48 PM IST

जबलपुर. पिछले करीब दो साल से कोरोना ने कहर मचाया था। बार-बार कोरोना वायरस के चरित्र बदलने (नए स्ट्रेन) को लेकर विशेषज्ञ परेशान हैं। पूरी दुनिया के विशेषज्ञ हर कुछ दिन पर कोरोना वायरस के बदलते स्ट्रेन की काट खोजने में जुटे है। टीकों को लेकर भी संशय के बादल गहराने लगते हैं कि कौन सा टीका कोरोना के किस स्ट्रेन का मुकाबला करने में सक्षम है और कौन नहीं। ये सब चल ही रहा है कि अब सुनने में आ रहा है कि डेंगू मच्छर भी चरित्र बदलने लगा है। ऐसे में चिकित्सकों और वैज्ञानिकों का चिंतित होना लाजमी है।

स्वास्थ्य संचालक डॉ संजय मिश्रा का कहना है तमाम डॉक्टरों से चर्चा करने के बाद इस बात के पूरे आसार नजर आ रहे हैं कि डेंगू का कोई नया स्ट्रेन आ गया है, जिससे पीड़ित मरीज की रिपोर्ट तो डेंगू निगेटिव आ रही है लेकिन उसके अंदर डेंगू के लक्षण मौजूद हैं। ऐसा इसलिए कहा जा रहा है कि क्योंकि मरीज में प्लेटलेट्स की संख्या लगातार कम हो रही है। विशेषज्ञों की मानें तो सामान्य तौर पर ब्लड प्लेटलेट्स काउंट 1 लाख 50 हजार से चार लाख तक होता है। लेकिन अभी बुखार आने के बाद बहुत तेजी से नीचे जा रहा है। लिहाजा अब डॉक्टरों की टीम इस नए पहलू पर मरीजों की जांच कर रही है।

जबलपुर में भी अब तक डेंगू के 400 से ज्यादा मरीज मिल चुके हैं। इसके अलावा रहस्यमय बुखार से पीड़ितों की संख्या हजार पार कर चुकी है। ऐसे में चिकित्सक और शोधकर्ता भी परेशान हैं। जबलपुर संभाग के स्वास्थ्य संचालक डॉ संजय मिश्रा का कहना है जबलपुर में संक्रमण तेजी से फैल रहा है और वायरल, सर्दी जुखाम या चिकनगुनिया के मरीजों में भी प्लेटलेट्स की संख्या लगातार कम हो रही है।

Show More
Ajay Chaturvedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned