रेल यात्री ध्यान दें, अब इन दो नए स्टेशनों से चलेंगी एक्सप्रेस और शताब्दी ट्रेनें

रेल यात्री ध्यान दें, अब इन दो नए स्टेशनों से चलेंगी एक्सप्रेस और शताब्दी ट्रेनें
express train departure

Lalit Kumar Kosta | Updated: 27 May 2019, 12:42:44 PM (IST) Jabalpur, Jabalpur, Madhya Pradesh, India

रेल यात्री ध्यान दें, अब इन दो नए स्टेशनों से चलेंगी एक्सप्रेस और शताब्दी ट्रेनें

 

जबलपुर . मुख्य रेलवे स्टेशन पर पटरियों की री मॉडलिंग का कार्य किया जाना है। यह कार्य आने वाले कुछ दिनों में शुरू होने की उम्मीद है। इसके लिए रेलवे के जबलपुर मंडल ने प्लान भी तैयार कर लिया है। रीमॉडलिंग के दौरान जबलपुर के अधारताल और मदन महल रेलवे स्टेशनों का उपयोग किया जाएगा। इस दौरान कई ट्रेनें यहां से शुरू होंगी और इन्हीं स्टेशनों पर आकर समाप्त होंगी।

news facts-

अधारताल और मदनमहल स्टेशन से रवाना होंगी ट्रेनें
मुख्य रेलवे स्टेशन पर रिमॉडलिंग का होना है काम

ऐसी होंगी संचालित
जानकारी के अनुसार ट्रैक की रीमॉडलिंग के दौरान जबलपुर से कटनी की ओर जाने वाली ट्रेनें जैसे दयोदय, गोंडवाना, रीवा पैसेंजर समेत अन्य ट्रेनों को अधारताल रेलवे स्टेशन से शुरू किया जाएगा। वापसी में यह ट्रेने अधारताल तक ही आएंगी। वहीं इटारसी की ओर जाने वाली ट्रेनें जैसे जनशताब्दी, गरीबरथ, पुणे स्पेशल समेत अन्य ट्रेनों को मदन महल रेलवे स्टेशन से शुरू किया जाएगा। वापसी में यह ट्रेनें इन्हीं स्टेशनों पर आकर समाप्त होंगी।

लंबे समय से काम रुका
ट्रैक की रीमॉडलिंग के लिए जबलपुर रेल मंडल को लंबे समय से इंतजार था। आला अधिकारियों से कई बार इसके लिए समय मांगा गया, लेकिन कहीं न कहीं कार्य चलने के कारण जबलपुर में ट्रैक की रिमॉडलिंग का काम शुरू नहीं हो पा रहा था। उम्मीद जताई जा रही है कि जून में इस कार्य के लिए बोर्ड से हरी झंडी मिल गई है। जिसके बाद सारी तैयारियां की जा रही हैं।

थ्रू ट्रेने पहुंचेगी मुख्य स्टेशन
जानकारी के अनुसार जबलपुर से शुरू और यहां खत्म होने वाली ट्रेनों का ही संचालन अधारताल और मदन महल रेलवे स्टश्ेान से किया जाएगा। जो ट्रेने थ्रू निकलती हैं, वे मुख्य रेलवे स्टेशन से होकर ही आएंगी और जाएंगी।
घंटों आऊटर पर खड़ी रहती हैं ट्रेनें

मुख्य रेलवे स्टेशन पर कटनी और इटारसी तरफ से आने वाले ट्रैक कर्व आकार में हैं, ऐसे में कई बार यदि कोई ट्रेन प्लेटफार्म पर खड़ी हो, तो लाइन क्लीयर नहीं मिलती, जिस कारण प्लेटफार्म खाली होने के बावजूद भी ट्रेने प्लेटफार्म पर नहीं आ पातीं थीं और ट्रेनों को कई कई घंटे आऊटर पर ही खड़े रखना पड़ता था।

 

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned