Father-daughter brutally murdered:चार वर्षीय बेटी सहित पिता की गला रेतने वालों पर 10 हजार का इनाम

-जिला मुख्यालय से पाटन रोड पर 15 किमी दूर आगासौद गांव में पिता-पुत्री की बेरहमी से हत्या

By: santosh singh

Published: 01 Jul 2020, 11:45 AM IST

जबलपुर। जिला मुख्यालय से 15 किमी दूर पाटन रोड पर आगासौदा गांव में चार वर्षीय बेटी सहित पिता की किसी ने गला रेत कर बेरहमी से हत्या कर दी। दोनों का रक्तरंजित शव आठ बाई पांच फीट के कमरे में पड़ी थी। सोमवार देर रात एक बजे मझले भाई ने दरवाजा खुला देकर अंदर झांका तो सन्न रह गया। उसने शोर मचाकर परिवार के अन्य लोगों को खबर दी। सुबह 7.00 बजे ग्राम कोटवार की सूचना पर माढ़ोताल पुलिस मौके पर पहुंची। घटनास्थल पर एसपी सिद्धार्थ बहुगुणा, क्राइम एएसपी, डॉग स्क्वॉड, फिंगर प्रिंट टीम भी पहुंची थी। एसपी ने हत्याकांड के खुलासे में दस हजार का इनाम घोषित किया।
टीआई माढ़ोताल अनिल गुप्ता ने बताया कि सुबह आगासौद गांव के कोटवार नत्थूलाल दाहिया ने दोहरे हत्याकांड की सूचना दी। गांव के शुरूआत में ही प्राथमिक विद्यालय के पास सुशील गौड़ (35) का घर है। तीन भाईयों में सबसे छोटा सुशील विकलांग हैं। पत्नी सावित्री तीन वर्षीय बेटा अनमोल व दो वर्षीय बेटी नमामि को लेकर तेंदूखेड़ा नंदपुरा गांव ननद की बिटिया की शादी में बुधवार को गई थी। घर में सुशील व उसकी बेटी संजना गौड़ (04) ही थे। रात 10 बजे के लगभग वह खाना खाकर सोने चला गया था। पुलिस को दिए बयान में मझले भाई शंकर ठाकुर ने बताया कि एक बजे के लगभग वह बाथरूम के लिए उठा। सुशील के कमरे का दरवाजा खुला था। वह पास में गया तो कमरे में खून पसरा था। शोर मचाते हुए बड़े भाई विष्णु गौड़ को खबर दी। चीख सुनकर परिवार के लोग पहुंचे तो सन्न रह गए। सुशील और उसकी बेटी संजना का गला रेता हुआ था। पूरे कमरे में खून पसरा था। गांव में टाफी-बिस्किट बेचने वाले सुशील की किसी से रंजिश नहीं थी। बड़े भाई की अपनी कोई संतान नहीं है। वह सुशील के बेटा-बेटियों को अपने साथ रखा था।


murder1.jpg
IMAGE CREDIT: patrika

500 मीटर तक आया डॉग स्क्वॉड-
घटनास्थल पर पहुंचे डॉग स्क्वॉड को छोड़ा गया तो वह सुशील के घर से मुख्य सडक़ तक गया और इसके बाद घूम कर वापस आ गया। गले को किसी धारदार हथियार से काटा गया है। पीएम रिपोर्ट में दोनों के गले में छह इंच घाव मिले हैं। ग्राम कोटवार नत्थूलाल की शिकायत पर पुलिस ने धारा 450, 302 भादवि का प्रकरण दर्ज कर जांच में लिया है। हत्या की कोई वजह स्पष्ट नहीं हो पायी है।

murder2.jpg
IMAGE CREDIT: patrika

सरपंच को किए आखिरी कॉल में सुशील ने कहा था राज की बात बतानी है!
माढ़ोताल आगासौद गांव निवासी सुशील और उसकी चार वर्षीय बेटी संजना की बेरहमी से हुई हत्या में कई क्लू पुलिस को मिले हैं। सभी पहलुओं की जांच में जुटी है। सुशील ने आखिरी कॉल गांव के सरपंच सनेक सिंह को किया था। बतौर सरपंच सुशील ने पहली बार कॉल किया था, तब वह रिश्तेदारी से लौट रहा था। रात 10 बजे के लगभग इस कार में सुशील ने कुछ बहुत ही जरूरी बात बताने की चर्चा की थी। सरंपच के पूछने पर कहा कि मिलकर सुबह बताऊंगा। चर्चा है कि आखिर सुशील कौन से राज से पर्दा उठाने की बात कह रहा था। इसके बाद ही उसकी बेरहमी से हत्या कर दी गई। पुलिस ने सुशील का मोबाइल जब्त कर जांच में लिया है।
राज तो बड़ा गहरा है : बेरहमी से हत्या के बाद भी आखिर क्यों नहीं सुन पाया चीख
मोबाइल के माध्यम से भी पुलिस इस हत्याकांड की बारीकियां सुलझाने में जुटी है। पुलिस ने कमरे से एक ब्लेड भी जब्त किया है। सबसे आश्चर्य की बात ये है कि इतनी बेरहमी से पिता-पुत्री की हत्या का दी गई और किसी को चीख तक नहीं सुनाई पड़ी। जबकि बड़े भाई विष्णु का घर 20 फीट दूरी पर और मझले भाई शंकर ठाकुर गौड़ का घर 10 फीट की दूरी पर है।

murder5.jpg
IMAGE CREDIT: patrika

कमरे के ये थे हालात-
सुशील और उसकी बेटी संजना की हत्या जिस झोपड़ीनुमा आठ बाई पांच फीट के कमरे में हुई थी। उसके एक कोने में छोटा कूलर लगा था। कूलर के बगल में ही रोटियां रखी हुई थी। उस पर भी खून के छींटे पड़े थे। फर्श पर ही बिस्तर बिछाकर दोनों सो रहे थे। इसी कमरे से लगा दुकान था। जिस पर सुशील बैठता था।
सट्टा-पट्टी की भी चर्चा-
पुलिस को चर्चा में सट्टा-पट्टी का भी एक क्लू मिला है। इसके अलावा गांव में अवैध गतिविधियों में शामिल लोगों के सुशील के दुकान पर उठने-बैठने की जानकारी मिली है। इस पहलू की भी जांच पुलिस कर रही है।

murder3.jpg
IMAGE CREDIT: patrika

शंकर की पत्नी की भी असामान्य मौत-
शंकर की पत्नी की भी दस वर्ष पहले असामान्य मौत हुई थी। गर्भवती हालत में उसके पेट में कुल्हाड़ी लगा था। जिससे जच्चा-बच्चा की मौत हो गई थी। शंकर भाग कर खेत में चला गया था। लौटा तब तक पत्नी की मौत हो गई थी। कुल्हाड़ी पेट में कैसे लगी, ये रहस्य भी आज तक नहीं खुल पाया। शंकर की चार बेटियों में एक की शादी हो चुकी है। तीन उसके साथ रहती हैं।
एक साथ हुआ अंतिम संस्कार-
पिता-पुत्री का पीएम के बाद एक साथ शाम पांच बजे गांव के पास शमशान घाट में बड़े भाई विष्णु ने अंतिम संस्कार किया। पत्नी सावित्री का रो-रो कर बुरा हाल था। पिछले बुधवार को ननद के घर गई सावित्री ने बताया कि 500 रुपए देकर भेजा था। तब से बात भी नहीं हुई थी।
वर्जन-
-आगासौद गांव में हुए दोहरे हत्याकांड के खुलासे के लिए माढ़ोताल टीआई और क्राइम ब्रांच की दो टीमें लगाई गई हैं। हत्याकांड में कोई करीबी और गांव वाले के ही शामिल होने का अंदेशा है। जल्द ही खुलासा कर लेंगे।
सिद्धार्थ बहुगुणा, एसपी

Show More
santosh singh Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned