Breaking News, Sramik Special Train एक श्रमिक स्पेशल में बांटा खाना, दूसरी यूं ही हुई रवाना, पढ़ें खबर

लगभग 15 से 20 मिनट तक रुकी रही ट्रेनें

 

By: virendra rajak

Published: 05 May 2020, 07:09 PM IST

जबलपुर, लॉक डाउन के दौरान मजदूरों को उनके घर तक पहुंचाने के लिए चलाई जा रही श्रमिक स्पेशल ट्रेनों में से दो श्रमिक स्पेशल ट्रेन मंगलवार को मुख्य रेलवे स्टेशन पहुंची। एक ट्रेन जहां दोपहर के वक्त प्लेटफॉर्म पर पहुंची, तो वहीं दूसरी श्रमिक स्पेशल रात में प्लेटफॉर्म पर पहुंची। दोनों ही ट्रेनें मजदूरों को बिहार लेकर जा रही थी। दोनों ट्रेनों में 24 सौ से अधिक मजदूरों को बिहार ले जाया गया। सुबह गुजरी ट्रेन में मजदूरों को मुख्य रेलवे स्टेशन पर खाना व पानी वितरित किया गया।
पहले व्यवस्था, फिर किया गया रद्द
बैंगलुरु से दानापुर जा रही ट्रेन के जबलपुर पहुंचने पर खाना व पानी वितरित किए जाने की व्यवस्था की गई थी। इस ट्रेन को रात आठ बजे जबलपुर पहुंचना था। लेकिन किन्हीं कारणों के चलते ट्रेन लेट हो गई। जिसके बाद इस श्रमिक स्पेशल ट्रेन में सवार यात्रियों को जबलपुर में भोजन व पानी देने का प्लान रद्द किया गया। शाम साढ़े पांच बजे इटारसी रेलवे स्टेशन पहुंचने पर इस ट्रेन में सवार श्रमिकों को भोजन व पानी दिया गया। यह ट्रेन रात लगभग साढ़े नौ बजे जबलपुर स्टेशन पहुंची। दो मिनिट मुख्य रेलवे स्टेशन के प्लेटफॉर्म क्रमांक छह पर रूकने के बाद रवाना हो गई।

तालियां बजाकर किया गया अभिवादन
पहली ट्रेन गुजरात के सूरत से बिहार के बरौनी जा रही थी। यह ट्रेन सुबह 11.55 बजे मुख्य रेलवे स्टेशन पर लगने लगी। इस दौरान ट्रेन में सवार यात्रियों ने तालियां बजानी शुरू कर दीं। बाहर मौजूद जीआरपी थाना प्रभारी मंजीत सिंह और आरपीएफ पोस्ट इंचार्ज वीरेन्द्र सिंह समेत स्टाफ ने भी तालियां बजाकर यात्रियों की हौसला अफजाई की।
दोनो ट्रेनों में यह खास
24 डिब्बों की थी ट्रेने
01 एसएलआर कोच
54 यात्री प्रत्येक डिब्बे में
06 यात्री एक केबिन में
1296 यात्री थे ट्रेन में
नलो पर भीड़, भीतर दिया खाना
दोनों ट्रेनों के रूकते ही उनमें से एक के बाद एक श्रमिक उतरे और सीधे नलों पर खड़े हो गए। इस दौरान जीआरपी की टीम ने यात्रियों को सोशल डिस्टेंसिंग बनाने के लिए दूर दूर किया। ठंडा पानी मिलने पर यात्रियों ने राहत की सांस ली। इसके बाद सभी को पुन: ट्रेन में सवार किया गया।
खाना व पानी किया गया वितरित
सूरत से बरौनी जा रही ट्रेन प्लेटफॉर्म क्रमांक एक पर आकर रूकी। ट्रेन को लगभग 20 मिनिट के लिए मुख्य रेलवे स्टेशन पर रोका गया। इस दौरान यात्रियों को खाने के पैकेट व पानी की बोतले दी गई। यह व्यवस्था आईआरसीटीसी ने मुख्य रेलवे स्टेशन पर केंटीन चलाने वाले ठेकेदार के माध्यम से की।
मास्क व गमछा पहने थे यात्री
दोनों ट्रेने पूरी ट्रेन स्लीपर कोच वाली थी। स्लीपर कोच में 72 सीटें होती हैं, लेकिन सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए एक कोच में महज 54 यात्री थे। यात्रियों ने मास्क लगा रखे थे।
वर्जन
सुबह आई ट्रेन से उतरकर यात्री नलों पर पानी भरने उतरे,जिन्हें दूर दूर खड़ा किया गया। इस ट्रेन में सवार यात्रियों को आईआरसीटीसी द्वारा भोजन के पैकेट व पानी वितरित किया गया। यह टे्रन 15 से 20 मिनिट रूकी। वहीं रात में आई ट्रेन महज दो से तीन मिनिट रूकने के बाद रवाना हो गई।
मंजीत सिंह, थाना प्रभारी, जीआरपी

virendra rajak Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned